News Nation Logo

बजट में डीजल और पेट्रोल पर सेस वापस ले मोदी सरकारः भूपेश बघेल

केंद्र सरकार पेट्रोल और डीजल के दामों में कटौती करने के लिए तैयार नहीं है. वहीं राज्य सरकारों के द्वारा इस तेल पर कुछ और टैक्स लगाकर कीमतें और भी बढ़ जाती हैं जिससे पूरा बोझ आम आदमी की जेब पर जाता है.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 07 Feb 2021, 11:51:28 AM
bhupesh baghel

भूपेश बघेल (Photo Credit: एनआई ट्विटर)

highlights

  • भूपेश बघेल का केंद्र पर निशाना
  • यूनियन बजट को लेकर साधा निशाना
  • डीजल-पेट्रोल पर सेस हटानेे की मांग की

रायपुर:

CM Bhupesh Baghel: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने यूनियन बजट में डीजल और पेट्रोल के दामों पर सेस वापसी नहीं लेने पर मोदी सरकार पर हमला बोला है. सीएम बघेल ने मोदी सरकार से पूछा है कि यूनियन बजट में सरकार ने पेट्रोल और डीजल के दामों में उप करों की वापसी की मांग की है.  आपको बता दें कि अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में कच्चे तेलों की कीमतें लगातार गिरती जा रही है. फिर भी केंद्र सरकार पेट्रोल और डीजल के दामों में कटौती करने के लिए तैयार नहीं है. वहीं राज्य सरकारों के द्वारा इस तेल पर कुछ और टैक्स लगाकर कीमतें और भी बढ़ जाती हैं जिससे पूरा बोझ आम आदमी की जेब पर जाता है.

आपको बता दें कि इसके पहले गुरुवार को पेट्रोल और डीजल के दामों में 1 सप्ताह बाद बढ़ोत्तरी की गई थी. इसके साथ ही एक बार फिर पेट्रोल का भाव देश की राजधानी दिल्ली में फिर एक नई ऊंचाई पर पहुंच गया. दिल्ली में पेट्रोल 86.65 पैसे और डीजल 76.83 पैसे प्रति लीटर हो गया है. अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में काफी दिनों के बाद आई तेजी के बाद पेट्रोल और डीजल के दाम में वृद्धि हुई है. पेट्रोल का भाव दिल्ली में 35 पैसे, कोलकाता में 32 पैसे, मुंबई में 34 पैसे और चेन्नई में 31 पैसे प्रति लीटर बढ़ा है. वहीं डीजल के दाम में दिल्ली में 35 पैसे, कोलकाता में 33 पैसे, मुंबई में 37 पैसे और चेन्नई में 33 पैसे प्रति लीटर का इजाफा हुआ था.

छत्तीसगढ़ के सीएम ने नक्सलवाद मिटाने के लिए अमित शाह को लिखा पत्र
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर बस्तर अंचल में नक्सल समस्या को जड़ से खत्म करने के लिए महत्वपूर्ण सुझाव दिए हैं. बघेल ने पत्र में लिखा है कि बस्तर अंचल में नक्सलवाद की समस्या से निपटने के लिए जरूरी है कि प्रभावित क्षेत्रों में बड़ी संख्या में रोजगार के अवसरों का सृजन किया जाए, जिससे नक्सल प्रभावित क्षेत्रों के बेरोजगार युवा विवश होकर नक्सली समूहों में शामिल न हों. मुख्यमंत्री ने नक्सल हिंसा से प्रभावित क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर रोजगार उपलब्ध करने के लिए सुझाव दिया है. उन्होंने लिखा है कि बस्तर अंचल में लौह अयस्क प्रचुरता से उपलब्ध है.

बस्तर में हो सकता है सैकड़ों करोड़ का निवेश
यदि बस्तर में स्थापित होने वाले स्टील प्लांट्स को 30 प्रतिशत डिस्काउंट पर लौह अयस्क उपलब्ध कराया जाए, तो वहां सैकड़ों करोड़ का निवेश और हजारों की संख्या में प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रोजगार के अवसर निर्मित होंगे. बघेल ने लिखा है कि कठिन भौगोलिक क्षेत्रों के कारण बड़े भाग में अभी तक ग्रिड की बिजली नहीं पहुंच पाई है सौर ऊर्जा संयंत्रों की बड़ी संख्या में स्थापना से ही आमजन की ऊर्जा आवश्यकता की पूर्ति तथा उनका आर्थिक विकास संभव है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 07 Feb 2021, 11:32:00 AM

For all the Latest States News, Chhattisgarh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो