News Nation Logo

तेजप्रताप ने शहाबुद्दीन के बेटे ओसामा से की मुलाकात, कहा- हम एक खून हैं

बिहार के सीवान जिले के पूर्व बाहुबली सांसद शहाबुद्दीन (Mohammad Shahabuddin) की मौत के बाद उनके परिवार वाले लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार से खफा थे.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 13 May 2021, 04:35:52 PM
Tej Pratap

तेजप्रताप ने शहाबुद्दीन के बेटे ओसामा से की मुलाकात (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

बिहार के सीवान जिले के पूर्व बाहुबली सांसद शहाबुद्दीन (Mohammad Shahabuddin) की मौत के बाद उनके परिवार वाले लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार से खफा थे. शहाबुद्दीन की मौत के 12 दिन बाद गुरुवार को लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव उनके परिवार से मिलने उनके घर सिवान पहुंचे थे. यहां उन्होंने शहाबुद्दीन के बेटे ओसामा से मुलाकात की और उन्हें सांत्वना दी. ओसामा से मुलाकात के बाद तेजप्रताप यादव ने कहा कि दुःख की घड़ी में आए हैं और शहाबुद्दीन अंकल का नाम अमर रहेगा. वे अपनी पार्टी और पार्टी के नेता लालू प्रसाद यादव के प्रति शुरू से ही वफादार रहे और सिवान की महान जनता जिस तरह से उन्हें प्रेम दिया है, आज ओसामा जो साथ हैं.

तेजप्रताप यादव ने आगे कहा कि हम आज ओसामा से मिलने के उद्देश्य से आए थे और हमलोगों का शुरू से पारिवारिक संबंध रहा है तो इसमें विशेष बातचीत की क्या है. बातचीत तो होते रहती है. मीडिया द्वारा पूछा गया क्या आपलोगों ने शहाबुद्दीन के परिवार के लिए कुछ सोचा है, इस पर तेजप्रताप ने कहा कि ये भी हमारा परिवार है, हम एक खून हैं, ये हमारे भाई ही हैं और इन्हीं की सभी चीज है.

सीवान के पूर्व बाहुबली सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन का कोरोना से निधन

आपको बता दें कि पिछले दिनों पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन का कोरोना से निधन हो गया था. वह दिल्ली के  पं. दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में भर्ती थे. मंगलवार को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. शहाबुद्दीन कई मामलों में तिहाड़ जेल में सजा काट रहे थे. इससे पहले पिछले साल सितंबर में पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन के पिता शेख मोहमद हसीबुल्लाह (90 वर्ष) का निधन हो गया था. शहाबुद्दीन हत्या के एक मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहे थे. 15 फरवरी 2018 को सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें बिहार की सीवान जेल से तिहाड़ लाने का आदेश दिया था. 

बैरक में थे अकेले फिर भी हुआ कोरोना

सूत्रों के मुताबिक शहाबुद्दीन को तिहाड़ जेल की एक बैरक में अकेले ही रखा गया था. पिछले करीब तीन सप्ताह से उनके परिवार का कोई सदस्य भी उनसे नहीं मिला है. इसके बाद भी शहाबुद्दीन के कोरोना संक्रमित होने से चिंता बनी हुई थी.  

हालत बिगड़ने के बाद वेंटिलेटर पर रखे गए थे शहाबुद्दीन

दरअसल तिहाड़ जेल प्रशासन को बिहार के बाहुबली और RJD के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन के कोरोना संक्रमित होने का पता तब लगा जब, 20 अप्रैल को उसकी हालत अचानक बिगड़ने लगी। जिस तरह के उसके शरीर में लक्षण नजर आए, उसके मद्देनजर कोरोना संक्रमण की जांच कराई गई. रिपोर्ट पॉजिटिव आते ही शहाबुद्दीन को तुरंत तिहाड़ जेल के चिकित्सकों की निगरानी में दे दिया गया. इसके बाद भी शहाबुद्दीन की हालत नहीं सुधरी और उन्हें वेंटिलेटर पर शिफ्ट करना पड़ा. कल से ही उनकी तबीयत और बिगड़ने लगी और आज यानि 1 मई को शहाबुद्दीन ने अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया.

हालत बिगड़ने के बाद वेंटिलेटर पर रखे गए थे शहाबुद्दीन

तिहाड़ जेल प्रशासन को बिहार के बाहुबली और RJD के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन के कोरोना संक्रमित होने का पता तब लगा जब, 20 अप्रैल को उसकी हालत अचानक बिगड़ने लगी. जिस तरह के उसके शरीर में लक्षण नजर आए, उसके मद्देनजर कोरोना संक्रमण की जांच कराई गई. रिपोर्ट पॉजिटिव आते ही शहाबुद्दीन को तुरंत तिहाड़ जेल के चिकित्सकों की निगरानी में दे दिया गया. इसके बाद भी शहाबुद्दीन की हालत नहीं सुधरी और उन्हें वेंटिलेटर पर शिफ्ट करना पड़ा.  

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 13 May 2021, 04:35:52 PM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.