News Nation Logo
Banner

बांकीपुर और मिथिला से चुनाव लड़ेंगी पुष्पम प्रिया चौधरी, लालू-नीतीश को दी ये चुनौती

बिहार की राजनीति में खुद को मुख्यमंत्री पद की दावेदार बता एंट्री करने वाली पुष्पम प्रिया चौधरी लगातार बिहार के राजनेताओं को चुनौती देने में जुटी हैं. प्लुरल्स पार्टी की अध्यक्ष पुष्पम ने अब नई घोषणा की है.

Written By : रजनीश सिन्हा | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 01 Oct 2020, 09:03:04 PM
pushpam

पुष्पम प्रिया चौधरी (Photo Credit: न्यूज नेशन)

पटना:

बिहार की राजनीति में खुद को मुख्यमंत्री पद की दावेदार बता एंट्री करने वाली पुष्पम प्रिया चौधरी लगातार बिहार के राजनेताओं को चुनौती देने में जुटी हैं. प्लुरल्स पार्टी की अध्यक्ष पुष्पम ने अब नई घोषणा की है. उन्होंने एक नहीं बल्कि दो विधानसभा क्षेत्रों से चुनाव लड़ेंगी. जिसमें एक क्षेत्र मगध और दूसरा मिथिला होगा. मगध क्षेत्र के बांकीपुर, पटना से आज उन्होंने चुनाव लड़ने की घोषणा की है. उन्होंने सोशल मीडिया पर जानकारी देते हुए लिखा कि प्लुरल्स पोल कमिटी की अनुशंसा पर मैं पुष्पम प्रिया चौधरी बिहार की जीवनदायिनी गंगा के दक्षिण-तट स्थित मगध में सम्राट चंद्रगुप्त और 'देवों के प्रिय' अशोक की प्राचीन राजधानी पुष्पपुर-पाटलिपुत्र-पटना के बांकीपुर विधानसभा क्षेत्र (182) से प्लुरल्स की उम्मीदवार होऊंगी. पुष्पम की दावेदारी मुख्यमंत्री पद के लिये और वो भी राजधानी पटना से. अब पुष्पम के इस पोस्ट ने हलचल बढ़ा दी है.

बिहार में सिर्फ 72 मिलियन वोटर

वहीं तीन दिनों के मैराथन बैठक के बाद मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा ने आज दिल्ली लौटने से पहले संवाददाता सम्मेलन किया. उन्होंने कहा कि इस साल कोरोना ने पूरे दुनिया भर का माहौल बदल दिया है. चुनाव आयोग ने टेस्ट के तौर पर पहले 18 राज्यसभा के चुनाव कराए. चुनाव आयोग ने एक विस्तृत बैठक की. 2015 चुनाव में 65 हज़ार 333 से बढ़कर इस चुनाव में 1 लाख 6 हज़ार 526 पोलिंग स्टेशन की संख्या हो गई है. पहले चरण के चुनावी प्रक्रिया आज से शुरु हो गयी है. सुनील अरोड़ा ने कहा कि ये चुनाव आसान काम नही है. USA में 232 मिलियन वोटर यहां बिहार में सिर्फ 72 मिलियन वोटर.

तय करें कि कैसे सोशल डिस्टेंसिंग रहे

कई राजनीतिक दलों ने आग्रह किया कि मतदाताओं को सामाजिक दूरी की जानकारी दी जाएं. पर्याप्त संख्या में अर्धसैनिक बलों की मांग भी की है. बाढ़ग्रस्त इलाकों में बूथ की संख्या बढ़ाने की मांग जो मुमकिन नहीं. सोशल मीडिया को लेकर सभी की चिंता. हम चाहते हैं वो सहयोग करें. अगर हमारे पास कोई सोशल मीडिया के communal violence and caste violence बढ़ाने की खबर आती है तो हम कठोरत्मक कारवाई करेंगे. उन्होंने ये भी कहा कि सिर्फ वर्चुअल कैम्पेन नहीं होगा. हर जिला में ग्राउंड और हाल कितने हैं ये लिस्ट है. अब ceo ये तय करें कि कैसे सोशल डिस्टेंसिंग रहे.

First Published : 01 Oct 2020, 09:03:04 PM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो