News Nation Logo
Banner

पुलिस व कथित पत्रकार के गठजोड़ का खुलासा, व्यवसाय के साथ हजारों की ठगी

News State Bihar Jharkhand | Edited By : Vineeta Kumari | Updated on: 21 Oct 2022, 04:04:41 PM
hajipur news

पुलिस व कथित पत्रकार के गठजोड़ का खुलासा (Photo Credit: News State Bihar Jharkhand)

Hajipur:  

वैशाली में पुलिस व कथित पत्रकार के वसूली गठजोड़ का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. भगवानपुर थाना क्षेत्र के प्रतापटांड में स्थित एक गल्ला व्यवसाई ने कथित पत्रकार और पुलिस के इस नापाक गठजोड़ की शिकायत एसपी, डीजीपी से लेकर सीएम तक से की है. सबसे हैरत की बात तो यह है कि गल्ला व्यवसाई से डिजिटल पेमेंट के जरिये दस हजार की उगाही भी कर ली गई और महीना फिक्स करने के लिए कथित पत्रकार और पुलिस द्वारा उसपर जब दवाब बनाया जाने लगा, तब जाकर पीड़ित कारोबारी ने इसकी शिकायत वरीय अधिकारियों से की. बताया जा रहा है कि पटेढ़ी बेलसर ओपी क्षेत्र के जारंग का रहनेवाला राजेश कुमार भगवानपुर थाना क्षेत्र के प्रतापटांड में गल्ला का कारोबार करता है.

जहां 6 अक्टूबर को भगवानपुर थाना के जमादार राकेश कुमार एक सिपाही और कथित यूट्यूब पत्रकार अमित पांडेय के साथ पहुंचे. सरकारी अनाज खरीद बिक्री करने का आरोप लगाते हुए जेल भेज देने की धमकी दी. ऐसा ना करने के एवज में पुलिस और पत्रकार ने 10000 रुपये की मांग की. कानूनी पचड़े में ना फंसने के डर से गल्ला कारोबारी ने पे फोन नंबर 7280900517 पर दस हजार रुपये अपने दोस्त से भिजवा दिया, लेकिन गल्ला कारोबारी की परेशानी कम नहीं हुई. फिर से 8 अक्टूबर को दो चौकीदार के साथ जमादार और कथित पत्रकार दुकान पर आ धमके और दुकान पर खड़ी ट्रक और दो स्टाफ को पकड़ कर थाना ले गए. हाजत में बंद कर फिर से पैसा की मांग करने लगे. 

हद तो यह है कि ट्रक और स्टाफ को छोड़ने के एवज में 51 हजार रुपये की मांग थाना पर की गई और काफी जद्दोजहद के बाद 11 हजार रुपया लेकर पुलिस ने दोनो स्टाफ और ट्रक को छोड़ दिया. साथ ही पुलिस ने 22 हजार रुपया महीना फिक्स करने का आदेश दिया और नहीं तो जेल भेज देने की धमकी दी गई जिससे परेशान कारोबारी ने इसकी शिकायत एसपी से लेकर सीएम तक से की है. जिसके बाद एसपी ने मामले की जांच के लिए एसडीपीओ सदर को नियुक्त किया है. ऐसे ने बड़ा सवाल है कि पुलिस और पत्रकार के आपराधिक गठजोड़ का खामियाजा कबतक लोग भुगतते रहेंगे और क्या थानाध्यक्ष की जानकारी के बगैर अवैध वसूली का यह खेल खेला जा रहा है और अगर नहीं तो फिर थानाध्यक्ष से लेकर पुलिस पदाधिकारियो की मिलीभगत का इस अवैध कारोबार पर कब और कौन लगाम लगाएगा. 

Reporter-Divesh Kumar

First Published : 21 Oct 2022, 04:04:41 PM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.