News Nation Logo
Banner

Updates: चुनाव से पहले पीएम मोदी ने बिहारवासियों को दी 'हाई स्पीड इंटरनेट' की सौगात

बिहार में विधानसभा चुनाव होने है ऐसे में केंद्र सरकार की तरफ से लगातार बिहारवासियों को कई सौगात मिल रहे हैं. आज यानी 21 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 'घर तक फाइबर' स्कीम की शुरुआत करेंगे.

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 21 Sep 2020, 01:56:46 PM
PM Modi

PM Modi (Photo Credit: (फोटो-ANI))

नई दिल्ली:

बिहार में विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election 2020) होने है ऐसे में केंद्र सरकार की तरफ से लगातार बिहारवासियों को कई सौगात मिल रहे हैं. आज यानी 21 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  'घर तक फाइबर' स्कीम की शुरुआत करेंगे. इस स्कीम की शुरुआत बिहार से होगी. बिहार के 45,945 गांवों को अगले 100 दिनों में ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है.

इसके अलावा पीएम मोदी बिहार में इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास और आर्थिक गतिविधियों में तेजी लाने के लिए 14,000 करोड़ रुपये की नौ राजमार्ग परियोजनाओं का शिलान्यास भी करेंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसके अलावा सड़कों और पुलों से जुड़ी बहुप्रतीक्षित नौ परियोजनाओं का शिलान्यास भी करेंगे.

21वीं सदी के भारत का ये दायित्व है कि वो देश के किसानों के लिए आधुनिक सोच के साथ नई व्यवस्थाओं का निर्माण करें देश के किसानों को, देश की खेती को आत्मनिर्भर बनाने के लिए हमारे प्रयास निरंतर जारी रहेंगे. : मोदी

कोरोना संक्रमण के दौरान भी रबी सीजन में किसानों से गेहूं की रिकॉर्ड खरीद की गई है. इस साल रबी में गेहूं, धान, दलहन और तिलहन को मिलाकर, किसानों को 1 लाख 13 हजार करोड़ रुपये MSP पर दिया गया है. ये राशि भी पिछले साल के से 30% से ज्यादा है. - पीएम 

बीते 5 साल में जितनी सरकारी खरीद हुई है और 2014 से पहले के 5 साल में जितनी सरकारी खरीद हुई है, उसके आंकड़े इसकी गवाही देते हैं. अगर दलहन और तिलहन की बात करें तो पहले की तुलना में, दलहन और तिलहन की सरकारी खरीद करीब 24 गुना अधिक की गई है. : प्रधानमंत्री मोदी

मैं देश के प्रत्येक किसान को इस बात का भरोसा देता हूं कि MSP की व्यवस्था जैसे पहले चली आ रही थी, वैसे ही चलती रहेगी. इसी तरह हर सीजन में सरकारी खरीद के लिए जिस तरह अभियान चलाया जाता है, वो भी पहले की तरह चलते रहेंगे. : मोदी

पीएम ने कहा कि कृषि क्षेत्र में इन ऐतिहासिक बदलावों के बाद, इतने बड़े व्यवस्था परिवर्तन के बाद कुछ लोगों को अपने हाथ से नियंत्रण जाता हुआ दिखाई दे रहा है. इसलिए अब ये लोग MSP पर किसानों को गुमराह करने में जुटे हैं. 

कृषि व्यापार करने वाले हमारे साथियों के सामने Essential Commodities Act के कुछ प्रावधान, हमेशा आड़े आते रहे हैं. बदलते हुए समय में इसमें भी बदलाव किया है. दालें, आलू, खाद्य तेल, प्याज जैसी चीजें अब इस एक्ट के दायरे से बाहर कर दी गई हैं. : पीएम मोदी

किसानों के हितों की रक्षा के लिए दूसरा कानून बनाया गया है। ये ऐसा कानून है जिससे किसान के ऊपर कोई बंधन नहीं होगा. किसान के खेत की सुरक्षा, किसान को अच्छे बीज, खाद, इन सभी की जिम्मेदारी उसकी होगी, जो किसान से समझौता करेगा. : पीएम मोदी

पीएम ने कहा, 'बहुत पुरानी कहावत है कि संगठन में शक्ति होती है. आज हमारे यहां 85% से ज्यादा किसान ऐसे हैं जो बहुत थोड़ी सी जमीन पर खेती करते हैं. जब किसी क्षेत्र के ऐसे किसान अगर एक संगठन बनाकर यही काम करते हैं, तो उनका खर्च भी कम होता है और सही कीमत भी सुनिश्चित होती है.'

ये कानून, ये बदलाव कृषि मंडियों के खिलाफ नहीं हैं. कृषि मंडियों में जैसे काम पहले होता था, वैसे ही अब भी होगा. बल्कि ये हमारी ही एनडीए सरकार है जिसने देश की कृषि मंडियों को आधुनिक बनाने के लिए निरंतर काम किया है. : पीएम मोदी

अब देश अंदाजा लगा सकता है कि अचानक कुछ लोगों को जो दिक्कत होनी शुरू हुई है, वो क्यों हो रही है. कई जगह ये भी सवाल उठाया जा रहा है कि कृषि मंडियों का क्या होगा. कृषि मंडियां कतई बंद नहीं होंगी. : पीएम मोदी

मध्य प्रदेश, यूपी, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों में दालें बहुत होती हैं। इन राज्यों में पिछले साल की तुलना में 15 से 25 प्रतिशत तक ज्यादा दाम सीधे किसानों को मिले हैं. दाल मिलों ने वहां भी सीधे किसानों से खरीद की है, सीधे उन्हें ही भुगतान किया है. : पीएम मोदी

किसानों को मिली इस आजादी के कई लाभ दिखाई देने शुरू हो गए हैं, क्योंकि इसका अध्यादेश कुछ महीने पहले निकला गया था. ऐसे प्रदेश जहां पर आलू बहुत होता है, वहां से रिपोर्ट्स हैं कि जून-जुलाई के दौरान थोक खरीदारों ने किसानों को अधिक भाव देकर सीधे कोल्ड स्टोरेज से ही आलू खरीद लिया है. : पीएम मोदी

नए कृषि सुधारों ने किसान को ये आजादी दी है कि वो किसी को भी, कहीं पर भी अपनी फसल अपनी शर्तों बेच सकता है. उसे अगर मंडी में ज्यादा लाभ मिलेगा, तो वहां अपनी फसल बेचेगा. मंडी के अलावा कहीं और से ज्यादा लाभ मिल रहा होगा, तो वहां बेचने पर भी मनाही नहीं होगी: पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा, 'हमारे देश में अब तक उपज बिक्री की जो व्यवस्था चली आ रही थी, जो कानून थे, उसने किसानों के हाथ-पांव बांधे हुए थे. इन कानूनों की आड़ में देश में ऐसे ताकतवर गिरोह पैदा हो गए थे, जो किसानों की मजबूरी का फायदा उठा रहे थे.'

कल देश की संसद ने, देश के किसानों को नए अधिकार देने वाले बहुत ही ऐतिहासिक कानूनों को पारित किया है. मैं देश के लोगों को, देश के किसानों, देश के उज्ज्वल भविष्य के आशावान लोगों को भी इसके लिए बहुत-बहुत बधाई देता हूं. ये सुधार 21वीं सदी के भारत की जरूरत हैं.: मोदी

आने वाले 4 -5 सालों में इंफ्रास्ट्रक्चर पर 110 लाख करोड़ रुपये खर्च करने का लक्ष्य रखा गया है. इसमें से भी 19 लाख करोड़ रुपये से अधिक के प्रोजेक्ट केवल हाईवे से जुड़े हैं: पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा, 'बिहार की कनेक्टिविटी में सबसे बड़ी बाधा बड़ी नदियों के चलते रही है. यही कारण है कि जब पीएम पैकेज की घोषणा हो रही थी तो पुलों के निर्माण पर विशेष ध्यान दिया गया था. इस पैकेज के तहत गंगा जी के ऊपर कुल 17 पुल बनाए जा रहे हैं, जिसमें से अधिकतर पूरे हो चुके हैं.

अटल जी की सरकार ने सबसे पहले इंफ्रास्ट्रक्चर को राजनीति का, विकास की योजनाओं का प्रमुख आधार बनाया था. इंफ्रास्ट्रक्चर से जुड़े प्रोजेक्ट्स पर अब जिस स्केल पर काम हो रहा है, जिस स्पीड पर काम हो रहा है, वो अभूतपूर्व है: पीएम

अटल जी की सरकार ने सबसे पहले इंफ्रास्ट्रक्चर को राजनीति का, विकास की योजनाओं का प्रमुख आधार बनाया था. इंफ्रास्ट्रक्चर से जुड़े प्रोजेक्ट्स पर अब जिस स्केल पर काम हो रहा है, जिस स्पीड पर काम हो रहा है, वो अभूतपूर्व है: पीएम मोदी

कनेक्टिविटी देश के हर गांव तक पहुंचाने के लक्ष्य साथ देश आगे बढ़ रहा है. जब गांव-गांव में तेज़ इंटरनेट पहुंचेगा तो गांव में पढ़ाई आसान होगी. गांव के बच्चे, युवा भी एक क्लिक पर दुनिया की किताबों तक, तकनीक तक आसानी से पहुंच पाएंगे: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

दुनिया में उसी देश ने सबसे तेज़ तरक्की की है, जिसने अपने इंफ्रास्ट्रक्चर पर गंभीरता से निवेश किया है लेकिन भारत में दशकों तक ऐसा रहा कि इंफ्रास्ट्रक्चर के बड़े और व्यापक बदलाव लाने वाले प्रोजेक्ट्स पर उतना ध्यान नहीं दिया गया: पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा, ' Telemedicine के माध्यम से अब दूर-सुदूर के गांवों में भी सस्ता और प्रभावी इलाज गरीब को घर बैठे ही दिलाना संभव हो पाएगा. हमारे किसानों को तो इससे बहुत अधिक लाभ होगा. अच्छी फसल, मौसम का हाल जैसी कई जानकारियां उन्हें आसानी से मिलेंगी.'

यही नहीं बीते 6 साल में देशभर में 3 लाख से अधिक कॉमन सर्विस सेंटर भी ऑनलाइन जोड़े गए हैं. अब यही कनेक्टिविटी देश के हर गांव तक पहुंचाने के लक्ष्य साथ देश आगे बढ़ रहा है: प्रधानमंत्री मोदी

इंटरनेट का इस्तेमाल बढ़ने के साथ-साथ अब ये भी जरूरी है कि देश के गांवों में अच्छी क्वालिटी, तेज रफ्तार वाला इंटरनेट भी हो. सरकार के प्रयासों की वजह से देश की करीब डेढ़ लाख पंचायतों तक ऑप्टिकल फाइबर पहले ही पहुंच चुका है: पीएम  मोदी

देश के गांवों में इंटरनेट उपयोग करने वालों की संख्या शहरों से ज्यादा हो जाएगी, ये कुछ वर्षों तक सोचना मुश्किल था. किसान, गांव के युवा, महिलाएं आसानी से इंटरनेट का इस्तेमाल करेंगे इस पर भी लोग सवाल उठाते थे, लेकिन अब सारी स्थितियां बदल गई है: पीएम

पीएम मोदी ने कहा कि आज का दिन बिहार के लिए अहम है. यह देश के लिए भी बड़ा दिन है. युवा भारत के लिए बड़ा दिन है. आज भारत अपने गांवों को आत्‍मनिर्भर बनाने के लिए बड़ा कदम उठा रहे है. इसकी शुरूआत बिहार से हो रही है.

आज बिहार की विकास यात्रा का एक और अहम दिन है. अब से कुछ देर पहले बिहार में कनेक्टिविटी को बढ़ाने वाली 9 परियोजनाओं का शिलान्यास किया है. इन परियोजनाओं के लिए बिहार के लोगों को बहुत-बहुत बधाई देता हूं: पीएम मोदी

पटना में रिंग रोड बन रहा है. यह बहुत उपयोगी होगा. भारत-नेपाल के किनारे वाली सड़क को भी फोर लेन कर दिया जाए. आज जो सड़कों व पुलों का काम प्रधानमंत्री आरंभ कर रहे हैं, वे बहुत जरूरी हैं. यह प्रसन्‍नता की बात है. : सीएम नीतीश कुमार

पीएम मोदी ने बिहार में 'हर गांव में ऑप्टिकल फाइबर' योजना समेत पुलों और 9 राजमार्गों का उद्घाटन किया.  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में आठ करोड़ से अधिक लोगों के पास मोबाइल है. डिजिटल प्रगति का लाभ सभी को मिलेगा. 

सीएम नीतीश कुमार ने पीएम मोदी से कहा कि 'लखनऊ से गाजीपुर तक आई 8 लेन सड़क को बक्सर से जोड़ दिया जाए. ये मेरी प्रधानमंत्री से प्रार्थना है। इसे कर देने से बिहार को काफी फायदा हो जाएगा. गाजीपुर से बक्सर की दूरी सिर्फ 17-18 किमी ही है.  इधर पटना में रिंग रोड बन रहा है। यह बहुत उपयोगी होगा. भारत-नेपाल के किनारे वाली सड़क को भी फोर लेन कर दिया जाए.'

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि आम लोगों के हक में काम हुआ है. जब लाभ मिलेगा तब चीजें स्‍पष्‍ट होंगी. किसान जहां चाहे, अपना सामान बेच सकता है. हमने बिचौलियों को खत्‍म कर दिया. अब तो पूरे देश में खत्‍म किया जा रहा है.

कृषि सुधार बिल पर कल जो राज्यसभा में हुआ वो निंदनीय है. बिहार में APMC एक्ट हटाते वक्त बिहार विधानमंडल में भी विपक्ष ने कुछ ऐसा ही किया था. ये लोग सदन छोड़कर भाग गए थे. - बिहार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

केंद्रीय राज्य मंत्री आर के सिंह ने कहा, 'आपने (पीएम मोदी) सभी घरों तक बिजली पहुंचा दिया. इसका लाभ गरीबों को मिला. कोरोना काल में आपने हर घर में गैसे का चूल्‍हा पहुंचाया. महात्‍मा गांधी सेतु पर घंटों जाम देखा है. आप इसके समानान्‍तर नया पुल देने जा रहे हैं.

आज बिहार के लिए ऐतिहासिक दिन है. बिहार के फिजिकल और डिजिटल इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर के लिए बड़ा काम हो रहा है: रविशंकर प्रसाद

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद बोल रहे हैं. उन्होंने कहा- आपने (पीएम मोदी) 15 अगस्‍त को घोषणा की थी कि देश के सभी गांवों को ऑप्‍टिकल फाइबर नेटवर्क से जोड़ेंगे. खुशी की बात यह है कि इसकी शुरूआत बिहार से हो रही है.

केंद्रीय राज्य मंत्री जनरल वी के सिंह ने कहा कि साल 2014 में बीजेपी सरकार आने के बाद बिहार में ए‍क हजार किलोमीटर नई सड़कें जुड़ी हैं.. इनमें और बढ़ोतरी होगी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की उपस्थिति में, बिहार में घर तक फाइबर केबल नेटवर्क और राजमार्गों से जुड़ी 9 परियोजनाओं का शुभारंभ कर रहे हैं. कार्यक्रम में राज्यपाल फागू चौहान, सीएम नीतीश मौजूद हैं.

First Published : 21 Sep 2020, 11:50:13 AM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो