News Nation Logo
Banner

मो. सुफियान का सामने आया जावेद का कनेक्शन, इस ब्लास्ट में है संदिग्ध आरोपी

मुख्य संदिग्ध मो सुफ़ियान और मो जावेद का कनेक्शन सामने आया है. मो जावेद वह व्यक्ति है जिसकी गिरफ्तारी इसी वर्ष बिहार ATS ने कश्मीर में आतंकियों को हथियार सप्लाई करने के आरोप में छपरा से किया है.

Written By : रजनीश सिन्हा | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 25 Jun 2021, 03:53:18 PM
Mohammad Sufiyan connection to Mohammad Javed came to the fore

मो. सुफियान का सामने आया जावेद का कनेक्शन (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • मुख्य संदिग्ध मो सुफ़ियान और मो जावेद का कनेक्शन सामने आया है
  • ATS ने कश्मीर में आतंकियों को हथियार सप्लाई करने के आरोप में पकड़ा है
  • पार्सल भेजने वाले का तमिलनाडु ATS ने स्कैच बनवाया था

पटना :

मुख्य संदिग्ध मो सुफ़ियान और मो जावेद का कनेक्शन सामने आया है. मो जावेद वह व्यक्ति है जिसकी गिरफ्तारी इसी वर्ष बिहार ATS ने कश्मीर में आतंकियों को हथियार सप्लाई करने के आरोप में छपरा से किया है. सूत्रों से जो अहम जानकारी मिली है उसके मुताबिक मो सुफ़ियान और मो जावेद कई माह एक साथ कश्मीर में बिताया है. मो सुफ़ियान मूल रूप से झारखंड के चतरा जिले का रहने वाला है. बांका मदरसा ब्लास्ट जिसमें मौलाना की मौत घायल होने के बाद हो गई थी. वह मौलाना भी कई दफा चतरा आता जाता रहा है, जबकि मौलाना देवघर का रहने वाला था जांच एजेंसियां इस बात की जानकारी भी हासिल कर रही है कि मौलाना और जावेद कही एक दूसरे के संपर्क में तो नहीं था.

मुकेश अंबानी को कॉल करने वाला आरोपी है

भारत के सबसे बड़े बिजनेसमैन मुकेश अंबानी को कॉल करने वाला आरोपी मो तहसीन अख्तर उर्फ मोनू जो बीते कई साल से दिल्ली स्थित तिहाड़ जेल के 8 नम्बर सेल में बंद है वो भी बिहार का वो भी दरभंगा का रहने वाला है. तहसीन अख्तर वो शख्स है जो IM इंडियन मुजाहिदीन के लिये काम करता था जब भटकल की गिरफ्तारी नेपाल से हुई थी तब तहसीन ही वो शख्स था जो इंडियन मुजाहिदीन के चीफ के रूप में संगठन को संभाला था. इसकी बनाई गई नापाक रणनीति के तहत ही 2013 में गांधी मैदान में हुंकार रैली के दौरान सीरियल ब्लास्ट किया गया था.

बोधगया और हैदराबाद ब्लास्ट की साजिश भी इसने ही रची

बोधगया और हैदराबाद ब्लास्ट की साजिश भी इसने ही रची और अपने शागिर्दों के सहारे अंजाम तक पहुंचवाया था. इसकी गिरफ्तारी वर्ष 2014 में पश्चिम बंगाल और नेपाल बॉर्डर के समीप से सुरक्षा एजेंसी ने किया था. दरभंगा मॉड्यूल और मधुबनी मॉड्यूल तहसीन अख्तर की ही उपज थी. ATS सूत्र के मुताबिक तहसीन अख्तर एक बार फिर से अपने सीलिपर सेल्स को एक्टिव करने में जुटा है कहा तो यह भी जा रहा है कि दरभंगा पार्सल ब्लास्ट तबाही का मॉक ड्रिल था. स्क्रिप्ट साजिश कही और कि है और उसे अंजाम देने के फिराक में आतंकी संगठन लगे है. एक नए नाम और एक नए मॉड्यूल के जरिये शायद वो नाम जैश उल हिंद भी हो सकता है. जांच एजेसियों का इशारा उत्तर प्रदेश की तरफ है हालांकि अभी बहुत कुछ खुलकर जांच एजेंसी से जुड़े लोग नहीं बोल रहे है.

तमिलनाडु ATS को मिली थी बड़ी लीड

तमिलनाडु ATS हैदराबाद के बंजारा हिल्स से कपड़ा खरीदने वाले की तलाश में जुटी है. पार्सल भेजने वाले का तमिलनाडु ATS ने स्कैच बनवाया था. पार्सल भेजने वाले का स्कैच तेलंगाना ATS ने बिहार ATS से किया साझा है.

First Published : 25 Jun 2021, 03:53:18 PM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.