News Nation Logo
Banner

शर्मनाक! बिहार में 'रिमांड होम' की नाबालिग हुई गर्भवती, FIR दर्ज

न्यायालय में उपस्थापन के बाद वह वापस उत्तर रक्षा गृह में लौट गई. रक्षा गृह में जब अधीक्षिका को कुछ शक हुआ, तब नाबालिग की जांच कराई गई, जिसमें वह छह महीने की गर्भवती पाई गई.

By : Ravindra Singh | Updated on: 27 Aug 2019, 08:49:08 PM

highlights

  • बिहार: 'शेल्टर होम कांड' के बाद 'रिमांड होम कांड'
  • नाबालिग लड़की रिमांड होम में पाई गई गर्भवती
  • बिहार पुलिस का शर्मनाक कारनामा, नाबालिग हुई गर्भवती

नई दिल्‍ली:

बिहार में पुलिस अभिरक्षा में एक नाबालिग के गर्भवती होने का मामला प्रकाश में आया है. पटना के गायघाट स्थित उत्तर रक्षा गृह (रिमांड होम) से उपस्थापन के लिए बेतिया आने के क्रम में एक नाबालिग लड़की के साथ उसी के कथित प्रेमी ने शारीरिक संबंध बनाए, और यह मामला तब प्रकाश में आया, जब लड़की (लगभग 16 साल) के गर्भवती होने की बात सामने आई. इस मामले में एक प्राथमिकी बेतिया राजकीय रेल थाने में दर्ज कराई गई है. पुलिस के मुताबिक, बेतिया राजकीय रेल थाने में दर्ज प्राथमिकी में पीड़िता ने कहा है कि इस वर्ष सात जनवरी को उसे रक्षा गृह से पुलिस अभिरक्षा में बेतिया न्यायालय में उपस्थापन के लिए लाया जा रहा था. इसी क्रम में पटना से ही उसका कथित पति (प्रेमी) टुन्ना साह भी बस में सवार हो गया. हाजीपुर तक वे दोनों बस से आए. बस का भाड़ा टुन्ना ने ही दिया था.

प्राथमिकी में पीड़िता ने कहा है कि इसके बाद हाजीपुर में उन लोगों ने ट्रेन पकड़ ली. फिर मुजफ्फरपुर से बेतिया आने के क्रम में टुन्ना ने पुलिसकर्मी विश्वनाथ सिंह को 500 रुपये बतौर रिश्वत दिए और लड़की को इशारा कर बाथरूम में बुला लिया. बाथरूम में ही टुन्ना ने उसके साथ शारीरिक संबंध स्थापित किए. इसके बाद न्यायालय में उपस्थापन के बाद वह वापस उत्तर रक्षा गृह में लौट गई. रक्षा गृह में जब अधीक्षिका को कुछ शक हुआ, तब नाबालिग की जांच कराई गई, जिसमें वह छह महीने की गर्भवती पाई गई.

यह भी पढ़ें- एस धामी बनीं भारतीय वायु सेना में देश की पहली महिला फ्लाइंग यूनिट कमांडर

इस मामले के प्रकाश में आने के बाद रक्षा गृह की अधीक्षिका ने इसकी जानकारी बेतिया अदालत को दी. बेतिया के प्रथम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश के आदेश पर बेतिया महिला थाना प्रभारी पूनम कुमारी ने लड़की का बयान लिया. लड़की के बयान के आधार पर बेतिया रेल थाने में इस मामले की प्राथमिकी दर्ज कराई गई. बेतिया राजकीय रेल थाने के प्रभारी सुदीन बेसरा ने मंगलवार को आईएएनएस को बताया, "लड़की के बयान पर रेल थाने में नाबालिग के साथ दुष्कर्म और पॉस्को एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है, जिसमें टुन्ना साह, होमगार्ड जवान विश्वनाथ सिंह एवं कांस्टेबल मिंटू कुमारी को नामजद आरोपी बनाया गया है."

यह भी पढ़ें-कंगाल पाकिस्तान ने भारत को दी धमकी कहा- भारत ने शुरू किया हम खत्म करेंगे

उन्होंने बताया कि पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है, और फिलहाल किसी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है. उल्लेखनीय है कि पश्चिम चंपारण जिले के कंगली थाना क्षेत्र की लड़की प्रेम प्रसंग में अपने प्रेमी टुन्ना साह के साथ वर्ष 2017 में फरार हो गई थी. बाद में पुलिस ने लड़की को बरामद कर अदालत में प्रस्तुत किया था, जहां उसने अपने घर नहीं जाने और शादी करने की बात कही. लेकिन, नाबालिग होने के कारण उसे पटना स्थित रक्षा गृह गायघाट भेज दिया गया. 

यह भी पढ़ें-आतंकी हाफिज सईद के खिलाफ सभी मामले खत्म करने की याचिका पर लाहौर हाईकोर्ट ने भेजा नोटिस

First Published : 27 Aug 2019, 08:48:38 PM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×