logo-image
लोकसभा चुनाव

मुकेश सहनी के बयान पर भड़के मंत्री हरि सहनी, दिया बड़ा बयान

बिहार में लोकसभा चुनाव को लेकर एक तरफ जहां सियासी पारा चढ़ा हुआ है. मंत्री हरि सहनी ने बुधवार (1 मई) को वीआईपी प्रमुख मुकेश सहनी के जरिए प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक शब्दों के इस्तेमाल पर पलटवार किया.

Updated on: 01 May 2024, 02:26 PM

highlights

  • लोकसभा चुनाव को लेकर बिहार में सियासी पारा हाई
  • मुकेश सहनी के बयान पर भड़के मंत्री हरि सहनी 
  • कहा- 'पीएम को शर्मिंदगी भरा शब्द बोला गया...'

Patna:

Lok Sabha Elections 2024: बिहार में लोकसभा चुनाव को लेकर एक तरफ जहां सियासी पारा चढ़ा हुआ है तो वहीं दूसरी तरफ सभी पार्टियां एक-दूसरे पर हमलावर नजर आ रही हैं. इस बीच मंत्री हरि सहनी ने बुधवार (1 मई) को वीआईपी प्रमुख मुकेश सहनी के जरिए प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक शब्दों के इस्तेमाल पर पलटवार किया. उन्होंने कहा है कि, ''ऐसे शब्द का प्रयोग किया गया, जिसे कोई बोलने और लिखने से भी परहेज कर रहा है. बता दें कि मंत्री हरि सहनी ने इसे लेकर मुकेश सहनी पर जमकर निशाना साधा. 

यह भी पढ़ें: अजय निषाद ने किया 'इंडिया गठबंधन' की जीत का दावा, BJP को लेकर दिया बड़ा बयान

मुकेश सहनी के बयान पर भड़के मंत्री हरि सहनी 

आपको बता दें कि मंत्री हरि सहनी ने कहा है कि, ''मीडिया के लोग भी इसे लिखने के बजाए खाली जगह छोड़ दे रहे हैं. जो शब्द बोला गया वह शर्मिंदगी भरा था. मुकेश सहनी ऐसा व्यक्ति हैं जो हर किसी के साथ धोखा करते हैं. जिसने राजनीति में इसे 11 सीट दिया, यह उसका नहीं हुआ. जो निषाद समाज इसको इतनी ऊंचाई तक ले गया, उसका साथ भी नहीं दिया. अब लोकसभा मे तीन सीटें मिली तो किसी निषाद समाज को टिकट नहीं दिया.'' 

इसके साथ ही आपको बता दें कि हरि सहनी ने आगे कहा कि, ''2020 के विधानसभा में एनडीए में 11 सीटें मिली तो एक भी मल्लाह को टिकट नहीं दिया. कुढ़नी, बोचहां उपचुनाव में भी किसी चुनाव में किसी मल्लाह को टिकट नहीं दिया.'' वहीं आगे मुकेश सहनी के विधायकों को तोड़ने के आरोप पर मंत्री हरि सहनी ने कहा कि, ''हमने विधायकों को तोड़ा है क्या? उसने किसी मल्लाह को टिकट नहीं दिया आज मल्लाह समाज के लोग कह रहे हैं अगर हमें टिकट दिया होता तो ये दिन मुकेश सहनी को नहीं देखना पड़ता. इसका दोषी कौन? भारतीय जनता पार्टी है क्या?''

'मंत्री बनकर भी मल्लाहों के लिए कुछ नहीं किया' - हरि सहनी 

इसके साथ ही आपको बता दें कि आगे उन्होंने कहा कि, ''बीजेपी ने तो इन्हें हारने के बाद एमएलसी बनाया मंत्री भी बनाया, लेकिन मंत्री बनकर भी मल्लाहों के लिए कुछ नहीं किया. 1935 में मछुआ कमेटी सोसाइटी बनी. इसी कमेटी के कानून  के आधार पर मल्लाहों को तालाब मिलता था. मुकेश सहनी मंत्री बने तो इसे ओपन डाक का कानून बना दिया. निषाद समाज के लिए जल्लाद का काम किया.'' 

वहीं आपको बता दें कि मुकेश सहनी की निषाद वोटरों पर पकड़ को लेकर मंत्री ने कहा कि, ''पूरे बिहार का मल्लाह इसको सबक सिखाने का काम करेगा. इसको बताएगा कि सन ऑफ मल्लाह का काम क्या है. मंत्री इसलिए मल्लाह के पुत्र को बनवाये थे क्या कि बनकर ओपन डाक का कानून बना दिया. मल्लाह समाज में मुकेश साहनी को लेकर भारी नाराजगी है. उसने मल्लाहों को पूरे शरीर मे खंजर मारा है.''