News Nation Logo

दीदी की समस्या बीजेपी तो थी ही, अब जदयू ने भी बढ़ाया सिरदर्द

बिहार में बीजेपी के सहयोगी दल जनता दल यूनाइटेड (JDU) बिहार के बाहर अपनी शक्ति को आजमाने की कोशिश में लग गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 22 Mar 2021, 01:18:34 PM
Nitish Kumar

नीतीश कुमार बंगाल के सहारे तलाशेंगे यूपी की राह. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • दीदी के उत्तर भारतीय वोटरों पर जदयू की नजर
  • बंगाल में जदयू उतार रहा है 45 दमदार प्रत्याशी
  • इसी बहाने उत्तर प्रदेश के लिए हो जाएगा टेस्ट

पटना:

पश्चिम बंगाल (West Bengal) चुनाव में सूबे की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की राह में चुनौतियां कम होने का नाम नहीं ले रही है. भारतीय जनता पार्टी (BJP) तो कड़ी दीदी पर हमले पर हमले के साथ टूट भी करा रही है. अब बिहार में बीजेपी के सहयोगी दल जनता दल यूनाइटेड (JDU) बिहार के बाहर अपनी शक्ति को आजमाने की कोशिश में लग गया है. उसके निशाने पर बंगाल और असम दोनों हैं. जदयू ने तय कर लिया है की बंगाल और असम में अपनी पूरी ताक़त झोंकेगा. असम में जदयू ने 50 और बंगाल में 45 उम्मीदवारों को टिकट दिया है. पार्टी ने जिन्हें टिकट दिया है उनमें से अधिकांश बिहार (Bihar) और पूर्वांचल के निवासी हैं. साफ है कि जदयू अपने उम्मीदवारों के बहाने बंगाल और बिहार-यूपी के बसे लोगों के वोट बैंक पर नज़र गड़ाए हुए है.

बिहार-यूपी के लोगों पर नजर
इनकी आबादी बंगाल में अच्छी खासी है, और इन्हीं वोट बैंक के सहारे जदयू बंगाल में अपनी किस्मत आजमा रहा है. दरअसल जदयू के बंगाल प्रभारी ग़ुलाम रसूल बलियावि लगातार बंगाल के दौरे कर रहे हैं और जदयू बंगाल में कैसे अपनी मज़बूत उपस्थिति दर्ज कराए इसकी जुगत में लगे हुए हैं. बलियावी कहते हैं कि हमें जो लोग कमजोर समझने की भूल कर रहे हैं वो गफलत में हैं. बंगाल में जो दो धारा की लड़ाई होने की बात कही जा रही है, उसी बंगाल में वैसे लोगों की कमी भी नहीं है जो तीसरे विकल्प की ओर देख रहे हैं और जदयू उनका विकल्प बन सकती है.

यह भी पढ़ेंः 'आतंक का आका' पाकिस्तान भाग लेगा आतंकवाद रोधी अभ्यास में, भारत-चीन भी होंगे

नीतीश की प्रचार में बढ़ रही मांग
बंगाल में जदयू सिर्फ उम्मीदवार ही नहीं उतार रहा है, बल्कि अपनी पूरी ताकत भी लगा रहा है. जदयू के कई सांसद और मंत्री बंगाल में चुनाव प्रचार करने के लिए जा रहे हैं. जाहिर है कि जदयू प्रचार में कोई कमी नहीं रहने देना चाहता है. विधानसभा की कार्यवाही खत्म होने के बाद जदयू कोटे के मंत्री बंगाल में लगातार कैम्प करेंगे साथ ही जदयू सांसद भी पार्टी उम्मीदवारों को जिताने के लिए पूरी ताकत लगाएंगे. फ़िलहाल नीतीश कुमार बंगाल चुनाव प्रचार करने के लिए जाएंगे की नहीं इसे लेकर तस्वीर साफ नहीं हुई है, लेकिन बंगाल जदयू के लोग नीतीश कुमार से लगातार मांग कर रहे हैं कि सीएम नीतीश चुनाव प्रचार में बंगाल आएं. पश्चिम बंगाल में बिहार के रहने वालों की अच्‍छी खासी तादाद है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 22 Mar 2021, 01:14:01 PM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.