News Nation Logo

कार्रवाई के नाम पर थानेदार ने महिला से मांगे पैसे, वीडियो हो रहा वायरल

News State Bihar Jharkhand | Edited By : Rashmi Rani | Updated on: 29 Nov 2022, 08:48:40 AM
sho

थाना प्रभारी और महिला के बीच हो रही बातचीत (Photo Credit: NewsState BiharJharkhand)

Gopalganj:  

भ्रष्टाचार का बिहार से गहरा नाता है. यहां अगर आपको पुलिस थाने में भी मामला दर्ज कराना हो या फिर मामले में कार्रवाई चाहते है तो इसके लिए आपको पैसे देने होंगे बिना इसके आपका काम होगा ही नहीं प्रशासन लगातार इस पर नकेल कसने की बात कहती है पर सच्चाई तो कुछ और ही है. ताजा मामला गोपालगंज से है जहां जमीनी विवाद में एक महिला थाने में कार्रवाई के लिए जाती है तो उसके बदले उससे पैसे मांगे जाते हैं और ये कहा जाता है कि बिना मालपानी के आपका काम कैसे होगा, महिला ने इस घटना की वीडियो बना ली जो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. 

वीडियो में ये साफ सुनाई दे रहा है कि महिला कह रही है कि मेरे मामले में कार्रवाई कब होगी तो थाना प्रभारी ये कहते है कि मालपानी दोगे तब ही तो काम आगे बढ़ेगा. पूरी घटना को सुनकर पता चल रहा है कि मामला जमीनी विवाद का है अपने माता पिता के जमीन को लेकर अपनी ही बहन से उसकी लड़ाई चल रही है जो कि मामला बढ़ने पर थाने में F. I. R दर्ज कराई गई. मगर अब महिला से पैसे मांगे जा रहे हैं. थानेदार ये भी कह रहे हैं कि जमीन का मामला है अपहरण या हत्या का नहीं तो कुछ देना होगा, यानि अगर आपका जमीन का मामला हुआ तो आपको पैसे देने होंगे तब ही कार्रवाई होगी. हालांकि वायरल वीडियो की पुष्टि हम नहीं करते हैं. 

यह भी पढ़े : पटना में भी 5G सेवा की हुई शुरुआत, इस जगहों पर आपको मिलेगा हाई स्पीड इंटरनेट

इस मामले में गोपालगंज एसपी आनंद कुमार ने बताया कि यह वीडियो बरौली थाना अंतर्गत माधोपुर ओपी का बताया जा रहा है. इस वायरल वीडियो की जांच के लिए एसडीपीओ सदर को दिया गया है. वहीं, सदर एसडीपीओ ने भी इस वायरल वीडियो को सत्य बताया है और कहा कि इस वायरल वीडियो पर जांच पड़ताल चल रही है. यह वीडियो माधवपुर ओपी थाना का है, जहां पर तैनात ओपी थाना प्रभारी कामेश्वर और महिला के बीच ये पूरी बातचीत हुई है. 

रिपोर्ट - शैलेंद्र कुमार श्रीवास्तव

First Published : 29 Nov 2022, 08:48:40 AM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.