News Nation Logo

जनसंख्या कानून पर NDA में झगड़ा, बिहार के CM नीतीश और डिप्टी CM रेणु देवी में ठनी

देश में इन दिनों जनसंख्या नियंत्रण को लेकर नई बहस छिड़ी है. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने जनसंख्या नियंत्रण के लिए कानून लाने की कवायद की है. इसको लेकर ड्राफ्ट भी पेश कर दिया गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 13 Jul 2021, 10:40:59 AM
Nitish Kumar Renu Devi

जनसंख्या कानून पर CM नीतीश और डिप्टी CM रेणु देवी में ठनी (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • जनसंख्या कानून पर NDA में रार
  • योगी के कदम से सहमत नहीं नीतीश
  • नीतीश के बयान पर BJP का पलटवार

पटना:

देश में इन दिनों जनसंख्या नियंत्रण को लेकर नई बहस छिड़ी है. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने जनसंख्या नियंत्रण के लिए कानून लाने की कवायद की है. इसको लेकर ड्राफ्ट भी पेश कर दिया गया है. इसके बाद जनसंख्या नियंत्रण के मसले पर देश के अलग अलग चर्चाएं होने लगी हैं. इसी कड़ी में बिहार की राजनीति भी जनसंख्या नियंत्रण को लेकर गर्म है, क्योंकि इस मसले पर एनडीए के नेता ही आपस में भिड़ गए हैं. यहां तक की बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री रेणु देवी में भी ठन गई है. जहां एनडीए का हिस्सा नीतीश कुमार जनसंख्या कानून को लेकर इत्तेफाक नहीं रखते हैं तो उन्हीं की सरकार में उपमुख्यमंत्री रेणु देवी नीतीश के इस विचार से सहमत नहीं हैं.

यह भी पढ़ें : संसद के मानसून सत्र में पेश होगा जनसंख्या नियंत्रण बिल, समर्थन जुटाने की कोशिश में सरकार 

उत्तर प्रदेश में जनसंख्या नियंत्रण को लेकर कानून बनाए जाने की कवायद को लेकर सोमवार को नीतीश कुमार ने एक सवाल के जवाब में कहा था कि सिर्फ कानून बनाने से कुछ नहीं होता है. उन्होंने कहा था कि जनसंख्या नियंत्रण के लिए महिलाओं का शिक्षित होना ज्यादा जरूरी है. नीतीश ने कहा कि महिलाएं पढ़ी लिखी होंगी तो इतनी जागृति आती है कि प्रजनन दर घटेगा. उन्होंने योगी सरकार का नाम तो नहीं लिया, मगर इशारा उन्हीं की ओर करते हुए नीतीश ने कहा कि बहुत लोग को लगता है कि कानून बना देने से हो जाएगा. हमलोग तो मानते हैं कि और भी तरीका अपनाना होगा.

हालांकि नीतीश के नेतृत्व वाली बिहार सरकार में उपमुख्यमंत्री और बीजेपी नेता रेणु देवी जदयू लीडर के इस विचार से सहमत नहीं हैं कि केवल महिलाओं के शिक्षित होने से ही जनसंख्या नियंत्रण संभव है. रेणु देवी ने एक लिखित बयान में कहा है कि महिलाओं से ज्यादा पुरुषों को जागरूक करने की जरूरत है. रेणु देवी ने कहा कि जनसंख्या नियंत्रण के लिए पुरुष और महिलाओं में भेदभाव समाप्त करने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि पुरुषों के अंदर जनसंख्या नियंत्रण करने के लिए नसबंदी को लेकर भी काफी डर की स्थिति है. उन्होंने कहा कि बिहार के कई जिलों में तो नसबंदी की दर मात्र एक फीसदी है.

यह भी पढ़ें : विश्व हिंदू परिषद ने उठाए यूपी की जनसंख्या नीति पर सवाल, बोली- नीति पर विचार करे योगी सरकार

इधर पटना पहुंचे केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने योगी आदित्यनाथ के निर्णय का स्वागत किया. उन्होंने कहा कि लोगों के अलग अलग विचार हैं, मगर जनसंख्या कानून पर जो यूपी के मुख्यमंत्री ने कदम उठाया है वह स्वागत योग्य है और ये एक जायज पहल है. आगे इस पर क्या-क्या पहल होनी चाहिए, उन सभी मामलों को देखा जा रहा है. नित्यानंद राय ने मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर जनता दल यू की के अंदर कलह पर कहा कि यह राजद और कांग्रेस के द्वारा उड़ाया गया अफवाह है और वह लोग इस चीज से नाखुश हैं इसीलिए इस तरह की बातें करते हैं. उनके पास ना तो कोई मुद्दा है ना ही उनके पास बात करने के लिए कोई विषय बचा है.

First Published : 13 Jul 2021, 10:40:59 AM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो