News Nation Logo

सीएम नीतीश कुमार ने पथ निर्माण योजनाओं की समीक्षा की

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने सोमवार को पथ निर्माण विभाग की महत्त्वपूर्ण योजनाओं की समीक्षा की.

Bhasha | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 10 Mar 2020, 07:58:23 AM
CM Nitish Kumar

सीएम नीतीश कुमार ने पथ निर्माण योजनाओं की समीक्षा की (Photo Credit: फाइल फोटो)

पटना:

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने सोमवार को पथ निर्माण विभाग की महत्त्वपूर्ण योजनाओं की समीक्षा की. पटना (Patna) के एक अण्णे मार्ग स्थित संकल्प में पथ निर्माण विभाग की महत्त्वपूर्ण योजनाओं की समीक्षा के दौरान कारगिल चौक से अशोक राजपथ होते हुये पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल, कृष्णा घाट एवं एन0आई0टी0 तक 4 लेन एलिवेटेड पथ की निर्माण की सहमति प्रदान की गयी. इस 4 लेन वाले पथ में 4 लेन ग्राउंड पर और 4 लेन एलिवेटेड होगा. इस एलिवेटेड पथ से पटना मेडिकल कॉलेज और अस्पताल आने-जाने की सुविधा प्रदान की जायेगी. साथ ही कृष्णा घाट पर इसकी सम्पर्कता गंगा पथ से प्रदान की जाएगी.

यह भी पढ़ें: पुष्पम प्रिया पर तेज हुई सियासत, विपक्ष ने उड़ाया नीतीश कुमार का मखौल

इस परियोजना की अनुमानित लागत 315 करोड़ रूपये होगी. समीक्षा के क्रम में गया शहर में फल्गु नदी पर विष्णुपद मंदिर से सीता कुण्ड तक लक्ष्मण झूला के निर्माण की डिजाइन को स्वीकृति प्रदान की गई. पुल निर्माण निगम द्वारा इसका डी0पी0आर0 बनाया गया है. इसके निर्माण पर लगभग 60 करोड़ रूपये की लागत आएगी. समीक्षा के दौरान जे0पी0 सेतु के बगल में दीघा से नया गाँव तक नयी फोर लेन पुल के एलाइनमेंट पर चर्चा की गयी और डी0पी0आर0 को अंतिम रूप प्रदान करने का निर्देश दिया गया.

समीक्षा बैठक में पटना के चिरैयांटाँड़ पुल, कंकडबाग आदि क्षेत्रों में यातायात की सुगमता के लिये एलिवेटेड पथ निर्माण के प्रस्ताव पर चर्चा की गई और अतिरिक्त आवष्यकता पर बल दिया गया. समीक्षा के दौरान पटना के लोहिया पथ चक्र की प्रगति में और तेजी लाने की आवश्यक्ता पर बल दिया गया. यह भी निर्देश दिया गया कि मुख्य सचिव के नेतृत्व में सभी संबंधित विभागों के प्रधान सचिव लोहिया पथ चक्र स्थल का भ्रमण करके निर्माण में आ रही बाधाओं को दूर करेंगे.

यह भी पढ़ें: बिहार कांग्रेस प्रभारी गोहिल ने RJD के नाम लिखी खुली चिट्ठी, याद दिलाया लोकसभा चुनाव के दौरान किया 'वादा'

बैठक में एम्स-दीघा एलिवेटेड रोड, कच्ची दरगाह विषुनपुर 6-लेन पुल, गंगा पथ परियोजना, बख्तियारपुर-ताजपुर पुल, आर0 ब्लॉक-दीघा पथ एवं बिहटा-सरमेरा पथ की प्रगति की समीक्षा की गई. सभी योजनाओं में अत्याधिक तेजी से कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए गए. समीक्षा बैठक के दौरान पथ निर्माण विभाग के प्रधान सचिव अमृत लाल मीणा द्वारा पेश प्रस्तुतीकरण के क्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि बढ़ती हुई आबादी को देखते हुए भविष्य में भी आवागमन में किसी प्रकार की कोई दिक्कत न हो इसके लिए सड़कों के निर्माण के साथ-साथ उनका चौड़ीकरण एवं कई फ्लाई ओवर का निर्माण कराया जा रहा है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि अशोक राजपथ पर बनने वाले फ्लाई ओवर से पी0एम0सी0एच0 और पटना यूनिवर्सिटी के साथ-साथ अशोक राजपथ पर और उससे आगे जाने वाले पूर्वी इलाकों के लोगों को काफी सुविधा होगी. उन्होंने कहा कि गया के विष्णुपद मंदिर से सीता कुंड तक बनने वाले ब्रिज से यहां आने वाले भक्तों और आम जनता को भी काफी सुविधा होगी. इस पुल पर किसी भी तरह के वाहन के परिचालन पर रोक रहेगी और यह सिर्फ पैदल पथ होगा.

यह भी पढ़ें: बिहार के चुनावी रण में नए राजनीतिक दल की एंट्री, 'प्लुरल्स' नाम से होगी पहचान

मुख्यमंत्री ने कहा कि राममनोहर लोहिया पथ चक्र के निर्माण का कॉन्सेप्ट अपने आप में विशिष्ट है. इसका स्ट्रक्चर खास है, जो देश में अपनी तरह का एक विशिष्ट पथ चक्र होगा. इसके निर्माण से ट्रैफिक व्यवस्था और आसान होगी. उन्होंने कहा कि जो भी निर्माण कार्य हो रहे हैं उनका जमीनी स्तर पर मुआयना करते रहें. निर्माण कार्य में इस बात पर ध्यान देने की जरुरत है कि वो तकनीकी तौर पर बेहतर हों और लोगों के लिए अधिक से अधिक उपयोगी हों. प्रस्तुतीकरण के दौरान पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव, मुख्य सचिव दीपक कुमार, विकास आयुक्त अरुण कुमार सिंह सहित अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे.

First Published : 10 Mar 2020, 07:58:23 AM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.