News Nation Logo
Banner

बिहार : JDU की मंगलवार को अहम बैठक, प्रशांत किशोर को बुलावा नहीं

IANS | Edited By : Yogesh Bhadauriya | Updated on: 28 Jan 2020, 07:46:13 AM
Prashant Kishor

Prashant Kishor (Photo Credit: News State)

Patna:  

बिहार में सत्ताधरी जनता दल (युनाइटेड) की मंगलवार को एक आवश्यक बैठक बुलाई गई है. इस बैठक में इस साल होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव की तैयारियों पर चर्चा होने की उम्मीद है. इस बैठक में पार्टी के सभी पदाधिकारियों, सांसदों, विधायकों को बुलाया गया है, परंतु पार्टी के नेता प्रशांत किशोर को अभी तक बुलावा नहीं भेजा गया है. जद (यू) के एक नेता ने बताया कि "28 जनवरी को पटना के एक अणे मार्ग स्थित मुख्यमंत्री आवास में एक बैठक आयोजित की गई है. संभावना है कि इस बैठक में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर चर्चा की जाएगी."

बिहार के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के मंत्री नीरज कुमार ने मीडिया को बताया कि इस बैठक में सांसद, विधायक, विधान पार्षद, संगठन प्रभारी, पार्टी पदाधिकारी, सभी प्रकोष्ठों के अध्यक्ष, जिला अध्यक्ष, विधानसभा प्रभारी को बुलाया गया है.

यह भी पढ़ें- चर्चित गायक अदनान सामी को मिला पद्मश्री, कांग्रेस ने बताया,‘चमचागिरी का जादू’

उन्होंने बताया कि राजगीर में दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया था, जिसमें कई लोगों को प्रशिक्षित किया गया है. उन्होंने कहा कि इस बैठक में पार्टी अध्यक्ष नीतीश कुमार भी मौजूद रहेंगे.

इस बैठक में हालांकि प्रशांत किशोर को आमंत्रित नहीं किया गया है. जद (यू) के एक नेता ने नाम नहीं प्रकाशित करने के अनुरोध पर बताया कि बैठक में प्रशांत किशोर शामिल नहीं हो रहे हैं.

सांसद ललन सिंह ने प्रशांत किशोर के संबंध में पूछे जाने पर कहा, "पार्टी का जो चरित्र है और जो विचारधारा रही है, उसमें है कि पार्टी को जितना मजबूत करेंगे, पार्टी के नेता जितना मजबूत होंगे उतना ही हमलोग मजबूत होंगे, हमलोगों की ताकत बढ़ेगी. कुछ लोगों की सोच होती है कि पार्टी के नेता जितने दबाव में रहेंगे, उतना हमें 'वैल्यू' मिलेगा. यह सोच में अंतर है."

उल्लेखनीय है कि पार्टी ने किशोर को दिल्ली चुनाव के स्टार प्रचारकों की सूची में भी स्थान नहीं दिया है और न ही राजगीर में आयोजित प्रशिक्षण शिविर में उन्हें आमंत्रित किया गया था.

सूत्रों का कहना है कि बीते दिनों प्रशांत किशोर द्वारा की गई कुछ टिप्पणियों से न सिर्फ पार्टी असहज महसूस कर रही है, बल्कि स्वयं नीतीश कुमार भी कई बार दुविधाजनक स्थिति झेल चुके हैं. ऐसे में प्रशांत किशोर को पार्टी अब बाहर का रास्ता दिखाने के मूड में है.

First Published : 28 Jan 2020, 07:25:46 AM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.