News Nation Logo
Breaking
Banner

केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने बिहार की बाढ़ के लिए हथिया नक्षत्र को बताया दोषी तो तेजस्वी ने कसा तंज

बिहार में बाढ़ और बारिश से अब तक 29 की मौत हो गई है और 14 जिलों में आज भी भारी बारिश का रेड अलर्ट है.

न्यूज स्टेट ब्यूरो | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 30 Sep 2019, 03:01:00 PM
बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

बिहार में बाढ़ और बारिश से अब तक 29 की मौत हो गई है और 14 जिलों में आज भी भारी बारिश का रेड अलर्ट है. केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने बिहार की बाढ़ के लिए हथिना नक्षत्र को जिम्मेदार बताया है. बिहार में पीछे कुछ दिनों जो मूसलाधार बारिश हो रही है ये हथिना नक्षत्र की बारिश बड़ी ही गंभीर हो जाती है. बारिश ने प्राकृतिक आपदा का रूप ले लिया है. सरकार इससे निपटने पूरी तरह निपटने के लिए तैयार है. अब अश्विनी चौबे के इस बयान पर बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और जेदयू के नेता तेजस्वी यादव ने तंज कसा है.

यह भी पढ़ेंःBJP नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा बोले- केजरीवाल दिल्ली आपके बाप की नहीं है...

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर लिखा, पटना शहर में पिछले 15 साल से मेयर, सभी पांच विधायक, पांच सांसद बीजेपी के हैं. बिहार में 15 साल से एनडीए की सरकार है. अब जलभराव के लिए नीतीश कुमार, सुशील कुमार मोदी को मुगल, जवाहरलाल नेहरू, लालू यादव, मौसम, प्रकृति और नक्षत्र को दोष देना चाहिए.

बिहार में कुदरत की ऐसी मार पड़ी है कि राजधानी पटना समेत आधा राज्य का हाल बुरा है. शहर के ज्यादातर इलाके बाढ़ में डूबे हुए हैं और बारिश के आसार अभी कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं. पटना में हर तरफ पानी ही पानी दिखाई दे रहा है. सड़कें समंदर बन गई हैं. चारों तरफ कुदरत के प्रकोप से हाहाकार मचा है.

यह भी पढ़ेंःपंजाब में फिदायीन हमला करने की फिराक में आतंकी, इन जगहों पर जारी अलर्ट

बिहार में बाढ़ और बारिश से अब तक 29 लोगों की मौत हो चुकी है. मौसम विभाग ने राज्य के 14 जिलों में आज भी भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है. जिन सड़कों पर गाड़ियां चलती थीं वहां नाव तैर रही हैं. कुछ इलाकों में घर बाढ़ के पानी में ऐसे डूब गए हैं कि उनके ग्राउंड फ्लोर का तो पता ही नहीं चल रहा. पटना में 36 बोट और 75 ट्रैक्टर बचाव काम में लगाए गए हैं और प्रशासन अब तक 26,000 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल चुका है.

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और दो पूर्व मुख्यमंत्रियों सतेंद्र नारायण सिंह एवं जीतन राम मांझी के घरों में भी पानी घुस गया है. बिहार सरकार ने गृह मंत्रालय से 2 हेलिकॉप्टर की मांग की है. साथ ही कोल इंडिया में भरे पानी को निकालने के लिए पंप की मांग की है. बारिश से ट्रेनों की आवाजाही, सड़क परिवहन और विमान के संचालन पर असर पड़ा है. लंबी दूरी की 12 ट्रेनों और कई यात्री ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है.

First Published : 30 Sep 2019, 03:01:00 PM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.