News Nation Logo
Banner

राजद में घुटन महसूस करने वाले विधायकों की संख्या बढ़ रही : सुशील मोदी

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी ने मंगलवार को राजद के अध्यक्ष लालू प्रसाद के दोनों पुत्रों तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव को 'राजकुमार' बताते हुए कटाक्ष किया है

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 17 Feb 2021, 12:04:13 AM
sushil modi

सुशील कुमार मोदी (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी (Sushil Modi) ने मंगलवार को राजद (RJD) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के दोनों पुत्रों तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव (Tej Pratap yadav)  को 'राजकुमार' बताते हुए कटाक्ष किया है. उन्होंने कहा कि बिहार में मुख्य विपक्षी दल राजद अपने राजकुमारों से इस कदर परेशान है कि वह अपने संवैधानिक दायित्वों का निर्वाह नहीं कर पा रहा है. उन्होंने दावा करते हुए कहा कि दल में असंतोष और घुटन महसूस करने वाले विधायकों की संख्या बढ़ रही है. दल में किसी बड़े भूकंप के आसार हैं.

पूर्व मुख्यमंत्री ने मंगलवार को अपने अधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया, "बिहार में मुख्य विपक्षी दल राजद अपने राजकुमारों से इस कदर परेशान है कि वह अपने संवैधानिक दायित्वों का निर्वाह नहीं कर पा रहा है. दोनों राजकुमार एक तरफ राजग सरकार पर अनर्गल आरोप लगाते हैं, तो दूसरी तरफ एक-दूसरे की लकीर छोटी करने में अजीबोगरीब बयानबाजी करते हैं."

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने आगे लिखा, "हाल में तीर्थयात्रा से लौटे बड़े राजकुमार कभी प्रधानमंत्री की दाढ़ी पर टिप्पणी करते हैं, तो कभी अपनी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष को अपमानित करते हैं. वे पहले भी एक पूर्व प्रदेशाध्यक्ष को अपमानित कर चुके हैं."

उन्होंने आगे संभावना जताते हुए कहा कि राजद को जिस सनकी और अलोकतांत्रिक तरीके से हांका जा रहा है, उससे दल में असंतोष और घुटन महसूस करने वाले विधायकों की संख्या बढ़ रही है. दल में किसी बड़े भूकंप के आसार हैं.

बता दें कि राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद के पुत्र और हसनपुर क्षेत्र से विधायक तेजप्रताप यादव शनिवार को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया. उन्होंने कहा कि ऐसे ही लोगों के कारण आज लालू प्रसाद जी बीमार हैं और पार्टी की यह हालत हुई है. तेजप्रताप शनिवार को पार्टी प्रदेश कार्यालय पहुंचे थे. इसी दौरान वे प्रदेश अध्यक्ष पर भड़क गए. उन्होंने राजद को गरीबों की पार्टी बताते हुए कहा कि आज अध्यक्ष से मिलने के लिए लोगों को समय लेना पड़ रहा है. उन्होंने कहा कि यहां कभी भी कोई भी आ सकता है और मिल सकता है, लेकिन यहां ऐसा नहीं हो रहा है.

ये भी पढ़ें: नेताओं की 'मुलाकातों' के बाद बिहार में सियासी तपिश, लगाए जा रहे ये कयास

तेजप्रताप जब जगदानंद सिंह के खिलाफ बोल रहे थे तब वे अपने कक्ष में बैठे हुए थे. तेजप्रताप ने कहा कि इन जैसे लोगों की वजह से लालू जी की तबीयत खराब हो गई है. उन्होंने आरोप लगाया कि जगदानंद सिंह ने अब तक लालू यादव की रिहाई के लिए 'आजादी पत्र' भी नहीं लिखा है.

पूर्व स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, "मैं पार्टी कार्यालय पहुंचा. मेरा स्वागत तो छोड़िए, जगदानंद सिंह ने मुझसे मुलाकात भी नहीं की. मैं किसी से नहीं डरता, मुंह पर बोलता हूं." उन्होंने कहा कि पार्टी के नेताओं और विधायकों से जगदानंद सिंह मुलाकात नहीं करते हैं. विधायकों को समय लेकर प्रदेश अध्यक्ष से मिलना पड़ता है. 

First Published : 16 Feb 2021, 11:51:45 PM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.