News Nation Logo
Breaking

बिहार में अब यह गंभीर बीमारी पसार रहा पैर, ली जुड़वां बहनों की जान

एसकेएमसीएच के अधीक्षक एस़ क़े शाही ने बताया कि इस साल अब तक एईएस के 15 मरीज यहां भर्ती हो चुके हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 28 Apr 2020, 05:21:00 PM
प्रतीकात्मक फोटो

प्रतीकात्मक फोटो (Photo Credit: फाइल फोटो)

मुजफ्फरपुर:  

बिहार में कोरोना वायरस के संक्रमण (Corona Virus) के बीच अब एक्यूट इंसेलाइटिस सिंड्रोम (Acute Encephalitis Syndrome) ने भी गर्मी के शुरू होते ही अपना पांव पसारना प्रारंभ कर दिया है. इस बीच, मुजफ्फरपुर में एईएस से पीड़ित जुड़वां बहनों की मौत हो गई. मुजफ्फरपुर के श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज अस्पताल के एक चिकित्सक ने बताया कि जिले के मुसहरी प्रखंड के रजवाडा पंचायत के सुखलाल सहनी की जुड़वा पुत्री सुक्की कुमारी और मौसमी कुमारी को एसकेएमसीएच में भर्ती कराया गया था, जिसमें चार वर्षीय मौसमी ने सोमवार को जबकि सुक्की ने मंगलवार को दम तोड़ दिया.

यह भी पढ़ें- पीपीई किट के लिए लता मंगेशकर ने विकास खन्ना को कहा शुक्रिया तो शेफ से मिला ये जवाब

AES के 15 मरीज हो चुके हैं भर्ती 

एसकेएमसीएच के अधीक्षक एस़ क़े शाही ने बताया कि इस साल अब तक एईएस के 15 मरीज यहां भर्ती हो चुके हैं, जिसमें से आठ लोग ठीक होकर वापस घर लौट चुके हैं उन्होंने कहा कि फिलहाल अस्पताल में तीन पीड़ितों का इलाज चल रहा है. एसकेएमसीएच में सोमवार को भी चमकी बुखार से पीड़ित दो बच्चों को भर्ती कराया गया है. एईएस से इस साल अब तक चार लोगों की मौत हो गई है.

यह भी पढ़ें- कोरोना ड्यूटी में लगे हर स्टाफ को मिले PPE किट, अखिलेश यादव ने योगी सरकार से की मांग 

लोगों को जागरूक करने के दिए निर्देश

उल्लेखनीय है कि पिछले कई साल से मुजफ्फरपुर, गया सहित कई जिलों में एईएस का कहर यहां के बच्चों पर टूटता है. पिछले साल भी इस बीमारी से करीब 150 बच्चों की मौत हुई थी. गौरतलब है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक में एईएस के संबंध में निर्देश देते हुए कहा कि इसकी पूरी तैयारी रखी जाए. लोगों को एईएस के संबंध में अभियान चलाकर अभी से ही जागरूक करने का अधिकारियों को निर्देश दिया है.

First Published : 28 Apr 2020, 05:21:00 PM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.