News Nation Logo
Banner

तमिलनाडु पुलिस अत्याचार मामला: 'सलेम के किसान की ब्रेन हैमरेज से मौत'

सलेम गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज अस्पताल के डॉक्टर ने बताया, "उनकी खोपड़ी पर किसी भारी वस्तु से लगने के कारण टूट गई थी, शायद एसएसआई द्वारा इस्तेमाल किया गया डंडा हो सकता है.

IANS | Edited By : Ritika Shree | Updated on: 25 Jun 2021, 02:57:28 PM
Tamil Nadu police atrocities case

Tamil Nadu police atrocities case (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • मुरुगेसन का शरीर चोट के निशान से भरा था
  • सलेम जिला कलेक्टर के विशेष आदेशों के बाद सूर्यास्त के बाद पोस्टमार्टम किया गया था
  • ख्यमंत्री एम.के. स्टालिन ने पेरियासामी की तत्काल गिरफ्तारी का आदेश दिया

चेन्नई:

सलेम पुलिस के विशेष उप निरीक्षक द्वारा गंभीर रूप से पीटे जाने के बाद मरने वाले ए. मुरुगेसन का पोस्टमार्टम करने वाले मेडिकल परीक्षक ने कहा है कि किसान की मौत सिर पर भारी चीज से हमला करने के कारण ब्रेन हैमरेज से हुई थी. सलेम गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज अस्पताल के डॉक्टर ने बताया, "उनकी खोपड़ी पर किसी भारी वस्तु से लगने के कारण टूट गई थी, शायद एसएसआई द्वारा इस्तेमाल किया गया डंडा हो सकता है. मुरुगेसन का शरीर चोट के निशान से भरा था और मुख्य रूप से मारने के कारण खून अंदर जमा था." "किसी कठोर वस्तु से बहुत ज्यादा पिटाई के कारण उसकी जांघों, कूल्हे, हाथों की मांसपेशियों के अंदर रक्त का थक्का पाया गया." डॉक्टर ने यह भी कहा कि पीड़ित की खोपड़ी के बाईं ओर, उसके बाएं कान से कुछ इंच की दूरी पर एक जोरदार चोट लगी थी.

यह भी पढ़ेः पीएम नरेन्द्र मोदी बोले - आपातकाल काला अध्याय, कभी भुलाया नहीं जा सकता

उन्होंने कहा कि खोपड़ी पर इसके अलावा और कोई चोट नहीं आई है. सलेम जिला कलेक्टर के विशेष आदेशों के बाद सूर्यास्त के बाद पोस्टमार्टम किया गया था. आमतौर पर सूर्यास्त के बाद पोस्टमार्टम नहीं किया जाता है. डॉक्टर ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट कुछ दिनों में अत्तूर न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश की जाएगी. मुरुगेसन बुधवार को अपने भतीजों के साथ घर लौट रहे थे, जब पुलिस ने उनके दोपहिया वाहन को रोका और तीनों को नशे की हालत में देखकर अपशब्दों की बौछार कर दी थी.

यह भी पढ़ेः दिल्ली ने अपनी जरूरत से 4 गुना ज्यादा रखी थी ऑक्सीजन की मांग, ऑडिट पैनल की रिपोर्ट

इसके बाद एक तर्क दिया गया और एसएसआई एस पेरियास्वामी ने मुरुगेसन को लगातार डंडों से मारा, जब तक कि वह बेहोश नहीं हो गया. मुरुगेसन को सलेम के सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जाया गया जहां उन्होंने गुरुवार को अंतिम सांस ली, जिससे तमिलनाडु पुलिस की क्रूरता एक बार फिर सामने आ गई. तीन अन्य पुलिसकर्मी भी मौके पर थे लेकिन उन्होंने एसएसआई को रोकने के लिए हस्तक्षेप नहीं किया, जो लगातार पिटाई कर रहा था. तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन ने पेरियासामी की तत्काल गिरफ्तारी का आदेश दिया था और मृतक के परिवार को 10 लाख रुपये की राशि मंजूर की थी. स्टालिन ने अपनी पत्नी अन्नाकिली और उनके तीन बच्चों से भी बात की थी और परिवार को पूरा समर्थन देने का वादा किया था.

First Published : 25 Jun 2021, 02:57:28 PM

For all the Latest States News, Tamilnadu News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो