News Nation Logo

कोविड रोगियों के लिए ऑक्सीजन पार्लर शुरू करने का फैसला

चेन्नई कॉरपोरेशन कमिश्नर ने बताया, "यह तरीका ये सुनिश्चित करने के लिए है कि पॉजिटिव रोगी बाहर नहीं निकल रहे हैं और अनजाने में भी बीमारी फैला रहे हैं."

By : Ritika Shree | Updated on: 12 May 2021, 05:10:44 PM
oxygen parlour

oxygen parlour (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • शहर के तीन क्षेत्रों में कोविड रोगियों के लिए 'ऑक्सीजन पार्लर' शुरू करने का फैसला
  • यह उन लोगों के लिए होगा जिन्हें सांस लेने में कठिनाई होती है
  • निगम ने पहले ही ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर के लिए आदेश दिया है और उनमें से 2,700 शहर में जल्द ही पहुंचेंगे

 

चेन्नई:

कोरोना वायरस की दूसरी लहर से देश में हाहाकार मचा हुआ है. हर रोज 3 लाख से ज्यादा नए मरीज सामने आ रहे हैं, तो वहीं हजारों कोरोना मरीजों की हर रोज मौत हो रही है. इसी बीच कोरोनो वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए चेन्नई के ग्रेटर चेन्नई कॉपोर्रेशन ने शहर के तीन क्षेत्रों में कोविड रोगियों के लिए 'ऑक्सीजन पार्लर' शुरू करने का फैसला किया है. हर क्षेत्र में ऑक्सीजन की सुविधा वाले 100 बैड के अस्पताल होंगे. यह उन लोगों के लिए होगा जिन्हें सांस लेने में कठिनाई होती है और जिनकी ऑक्सीजन संतृप्ति 90-92 के बीच होती है, फिर भी उन्हें ऑक्सीजन के सहारे की जरूरत होती है. ग्रेटर चेन्नई कॉरपोरेशन के आयुक्त गगन सिंह बेदी ने कहा है कि निगम ने पहले ही ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर के लिए आदेश दिया है और उनमें से 2,700 शहर में जल्द ही पहुंचेंगे. चेन्नई निगम ने आरटी-पीसीआर परीक्षणों के संबंध में कुछ बदलाव किए हैं और परीक्षण की रिपोर्ट सीधे पॉजिटिव रोगियों को नहीं दी जाएगी.

यह भी पढ़ेंः केंद्र ने फरीदकोट को भेजे थे 80 वेंटिलेटर, 71 निकले खराब

डॉक्टर पहले रोगी के रक्तचाप, ऑक्सीजन संतृप्ति और श्वसन दर की जांच करेंगे. इन मापदंडों के आधार पर डॉक्टर और मेडिक्स ये तय करेंगे कि मरीज को अस्पताल में घर के अलगाव या उपचार की आवश्यकता है या नहीं. निगम उन सभी रोगियों को तुरंत एक चिकित्सा किट प्रदान करेगा जो बुखार, ढीली गति, गंध की हानि और स्वाद और शरीर में दर्द के लक्षणों के साथ आरटी-पीसीआर परीक्षण करा रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः कोरोना वैक्सीन लेने के बाद खाएं ये चीजें, नहीं होंगे कोई साइड इफेक्ट्स

अधिकारियों के अनुसार, यह सुनिश्चित करना है कि आरटी-पीसीआर के परिणामों के आने तक रोगी को बिना जांचे नहीं छोड़ा जाए. रोगियों को प्रदान करने के लिए तीस हजार ऐसी चिकित्सा किट पहले से ही तैयार हैं. चेन्नई कॉरपोरेशन कमिश्नर ने बताया, "यह तरीका ये सुनिश्चित करने के लिए है कि पॉजिटिव रोगी बाहर नहीं निकल रहे हैं और अनजाने में भी बीमारी फैला रहे हैं." शहर ने मंगलवार को 7,000 से अधिक कोविड मामलों की सूचना दी है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 12 May 2021, 05:10:44 PM

For all the Latest States News, Tamilnadu News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.