News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

केरल में भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त, भगवान अयप्पा के भक्तों से त्रावणकोर देवस्वम बोर्ड ने क्या कहा ?

त्रावणकोर देवस्वम बोर्ड ने भगवान अयप्पा के भक्तों से अनुरोध किया है कि वे 17 और 18 अक्टूबर को सबरीमाला मंदिर में जाने से परहेज करें, क्योंकि राज्य में लगातार भारी बारिश हो रही है.

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 16 Oct 2021, 10:28:51 PM
bhagwan ayappa

भगवान अयप्पा (Photo Credit: News Nation)

highlights

  •  केरल के छह जिलों पठानमथिट्टा, कोट्टायम, एर्नाकुलम, इडुक्की, त्रिशूर में भारी बारिश का अनुमान
  • वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने ट्वीट कर लोगों से सुरक्षित रहने के लिए कहा
  • केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने स्थिति का जायजा लेने के लिए शाम को एक आपात बैठक बुलाई

नई दिल्ली:

केरल में भारी बारिश की वजह से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. मौसम विभाग ने छह जिलों में रेड अलर्ट जारी किया है, जबकि सात जिलों के लिए ऑरेंज और दो जिलों में यलो अलर्ट जारी किया. वहीं, केरल के वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने ट्वीट कर लोगों से सुरक्षित रहने के लिए कहा है. वहीं, इडुक्की जिलों के कोट्टायम और कोक्कयार में भूस्खलन (लैंडस्लाइड) और बाढ़ जैसी स्थिति के चलते छह लोगों की मौत हो गई है. इसके अलावा, एक दर्जन लोग लापता हो गए हैं. इस बीच केरल के त्रावणकोर देवस्वम बोर्ड ने भगवान अयप्पा के भक्तों से अनुरोध किया है कि वे 17 और 18 अक्टूबर को सबरीमाला मंदिर में जाने से परहेज करें, क्योंकि राज्य में लगातार भारी बारिश हो रही है, खासकर पठानमथिट्टा जिले में और पंपा नदी में उच्च जल स्तर है और वह खतरनाक रूप से बह रही है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने पठानमथिट्टा, कोट्टायम, एर्नाकुलम, इडुक्की और त्रिशूर जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी किया. तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, अलाप्पुझा, पलक्कड़, मलप्पुरम, कोझीकोड और वायनाड जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है. आईएमडी ने एक बयान में कहा, "केरल तट से दूर दक्षिणपूर्व अरब सागर पर निम्न दबाव के चलते केरल में 17 अक्टूबर की सुबह तक अलग-अलग भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है. इसके बाद 19 अक्टूबर की सुबह से बारिश में कमी आने के आसार हैं.

यह भी पढ़ें: Andaman:अंडमान की हवाओं में बसती है सावरकर और बोस की आत्मा : अमित शाह

भारतीय मौसम विभाग ने केरल के छह जिलों पठानमथिट्टा, कोट्टायम, एर्नाकुलम, इडुक्की, त्रिशूर आदि में अत्यधिक भारी बारिश का अनुमान जताया है. दक्षिणी राज्य में बारिश से संबंधित घटनाओं में कई लोग घायल और विस्थापित हुए हैं, जहां कई जिलों में बांध अपनी पूरी क्षमता के करीब हैं और पहाड़ी इलाकों में छोटे शहर और गांव बाहरी दुनिया से पूरी तरह से कट गए हैं.

केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने स्थिति का जायजा लेने के लिए शाम को एक आपात बैठक बुलाई. राज्य के अधिकारियों ने राज्य के पहाड़ी इलाकों में रात के समय आवाजाही पर प्रतिबंध लगा दिया है. उन्होंने कहा कि अरब सागर के ऊपर बने निम्न दबाव के सिस्टम के कारण आईएमडी ने राज्य में व्यापक भारी बारिश की चेतावनी दी है. उन्होंने लोगों से अगले 24 घंटों में सतर्कता बरतने की अपील की. एक फेसबुक पोस्ट में उन्होंने कहा कि दक्षिण और मध्य जिलों में बारिश हुई है और शाम तक उत्तरी जिलों में तेज हो जाएगी. वहीं, जिला कलेक्टर नवजोत खोसा ने लोगों को पर्यटन स्थलों पर न जाने और नदियों और अन्य जल निकायों के पास जाने से बचने की सलाह दी.

First Published : 16 Oct 2021, 10:28:13 PM

For all the Latest States News, Kerala News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.