News Nation Logo

गांव की लड़की के साथ सालों से समलैंगिक रिश्ते में हैं दुती चंद, कहा- जान से भी प्यारी है उनकी महिला साथी

दुती चंद ने कहा कि मुझे कोई ऐसा मिल गया है जो मुझे जान से भी प्यारा है. मुझे लगता है कि हर किसी को रिश्तों की आजादी होनी चाहिए कि वह किसके साथ रहना चाहता है.

By : Sunil Chaurasia | Updated on: 19 May 2019, 10:56:56 AM
फाइल फोटो- दुती चंद

फाइल फोटो- दुती चंद

नई दिल्ली:

एशियाई खेलों में भारत के लिए दो रजत पदक जीतने वाली देश की सबसे तेज महिला धावक दुती चंद ने चौंकाने वाला खुलासा किया है. दुती चंद ने बताया कि वे बीते कुछ सालों से समलैंगिक रिश्तों में हैं. दुती के साथ समलैंगिक रिश्तों में कोई और नहीं बल्कि उनके गांव की ही एक लड़की है. हालांकि दुती चंद ने अपनी महिला साथी की पहचान को सार्वजनिक नहीं किया है. दुती ने कहा कि उन्हें ये बिल्कुल पसंद नहीं है कि उनकी महिला साथी बेवजह लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बनें. बता दें कि अपने इस खुलासे के बाद दुती चंद भारत की पहली खिलाड़ी हैं, जिन्होंने अपने समलैंगिक रिश्तों की बात को स्वीकार किया है.

ये भी पढ़ें- World Cup 2019: बल्लेबाजों के लिए भयानक सिरदर्द साबित हो सकते हैं ये 5 फील्डर, लिस्ट में एक भारतीय भी शामिल

महिलाओं की 100 मीटर रेस में भारत की नंबर 1 धावक दुती चंद ने 'द संडे एक्सप्रेस' से बातचीत करते हुए अपने समलैंगिक रिश्तों को कबूल किया. उन्होंने कहा, 'मुझे कोई ऐसा मिल गया है जो मुझे जान से भी प्यारा है. मुझे लगता है कि हर किसी को रिश्तों की आजादी होनी चाहिए कि वह किसके साथ रहना चाहता है. मैंने हमेशा उन लोगों के अधिकारों की पैरवी की है जो समलैंगिक रिश्तों में रहना चाहते हैं. यह किसी व्यक्ति विशेष की अपनी इच्छा है. फिलहाल मेरा फोकस वर्ल्ड चैंपियनशिप और ओलंपिक गेम पर है, लेकिन भविष्य में मैं उसके साथ सेटल होना चाहूंगीं.'

ये भी पढ़ें- VIDEO: ताबड़तोड़ बैटिंग कर रहे थे शोएब मलिक, फिर अचानक विकेट पर दे मारा बल्ला और लौट गए पवेलियन

दुती ने कहा, 'उन्होंने एलजीबीटी समुदाय के अधिकारों के लिए आवाज उठाने के लिए उस वक्त हिम्मत जुटाई, जब पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए आईपीसी के सेक्शन 377 को अपराध के दायरे से बाहर कर दिया था. मेरा सपना था कि मुझे कोई ऐसा मिले जो मेरे पूरे जीवन का साथी बने. मैं किसी ऐसे के साथ रहना चाहती थी, जो मुझे बतौर खिलाड़ी प्रेरित करे. मैं बीते 10 साल से धावक हूं और अगले 5 से 7 साल तक दौड़ती रहूंगी. मैं प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेने पूरी दुनिया घूमती हूं, यह आसान नहीं है. मुझे किसी का सहारा भी चाहिए.'

First Published : 19 May 2019, 10:56:56 AM

For all the Latest Sports News, More Sports News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.