News Nation Logo
Banner

ओलंपिक स्थगित होने से शुरू में निराशा हुई थी: रानी रामपाल

भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल ने कहा है कि जब टोक्यो ओलम्पिक के स्थगित होने की खबर आई थी तब खिलाड़ियों के लिए इसे पचा पाना आसान नहीं था लेकिन अब सभी ने इसे कबूल कर लिया है.

IANS | Updated on: 23 Aug 2020, 04:07:18 PM
Rani Rampal

रानी रामपाल (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

भारतीय महिला हॉकी टीम (Indian Hockey) की कप्तान रानी रामपाल ने कहा है कि जब टोक्यो ओलम्पिक के स्थगित होने की खबर आई थी तब खिलाड़ियों के लिए इसे पचा पाना आसान नहीं था लेकिन अब सभी ने इसे कबूल कर लिया है. भारत की पुरुष और महिला हॉकी टीम के संभावित कोर खिलाड़ी इस समय बेंगलुरू स्थित भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) केंद्र में राष्ट्रीय शिविर में हिस्सा ले रहे हैं.

ये भी पढ़ें: मुंबई इंडियंस के लिए क्यों अहम हैं 'हिटमैन' रोहित शर्मा

रानी ने आईएएनएस से कहा, "हमने हाल ही में हल्की गतिविधियां शुरू की हैं. हॉकी खेले हुए हर किसी को लंबा समय हो गया है इसलिए प्रशिक्षकों ने ऐसा कार्यक्रम बनाया है जिसके माध्यम से हम धीमी शुरुआत करेंगे और धीरे-धीरे लय में आएंगे". इसके आगे उन्होंने कहा, "हमने बीते महीने फिटनेस एक्सरसाइज की हैं, लेकिन मैदान पर आने पर शरीर पर जो दबाव पड़ता है वो अलग है. यही वो चीज है जिस पर हम धीरे-धीरे काम करेंगे."

ये भी पढ़ें: किस होटल में हैं रोहित और धोनी, तो कहां किया विराट ने कमरा बुक

कोविड-19 के कारण लगे लॉकडाउन के चलते खिलाड़ी यहां चार महीने तक फंसे रहे थे. जून के मध्य में हालांकि सभी अपने घर गए थे और फिर शिविर के लिए वापस लौटे हैं. रानी ने कहा, "यह काफी मुश्किल है. हम यहां चार महीनों के लिए थे, अपने परिवार वालों से दूर. लेकिन अच्छी बात यह थी कि हम सुरक्षित वातावरण में थे"उन्होंने कहा, "लोग अपने घरों से बाहर नहीं जा पा रहे थे इसलिए बाहर काफी पेनिक वाली स्थिति थी लेकिन हम कैम्पस के अंदर सभी तरह से सुरक्षित थे. हमारे पास यहां घूमने को जगह है जो बाहर वाले लोगों के पास नहीं थी. यह हमारे लिए अच्छी बात थी"

यह भी पढ़ें ः IPL : विदेशी आईपीएल में नहीं चला है विराट कोहली और रोहित शर्मा का बल्‍ला, देखिए आंकड़े

रानी ने कहा,"ओलम्पिक स्थगित कर दिए गए यह काफी निराशाजनक था. हम खिलाड़ी चार साल काफी मेहनत करते हैं और फिर यह अचानक से स्थगित हो जाए तो इसका मतलब है कि हमें शारीरिक और मानसिक तौर पर उसी तरह से एक और साल मेहनत करनी पड़ेगी. इसी के साथ हाल ही में खेल रत्न के लिए चुनी जाने वाली रानी ने कहा, "एक सकारात्मक पहलू इसका यह है कि हमें तैयारी के लिए एक साल और मिल गया और यह ऐसी चीज है जो पूरे विश्व को मिली है सिर्फ भारतीय टीम को नहीं. आगे रानी रामपाल ने कहा कि अब हमने स्थगित की बात को कबूल कर लिया है हर किसी ने मानसिकता बना ली है कि उसे अगले साल होने वाले ओलम्पिक खेलों की तैयारी करनी हैं"

यह भी पढ़ें ः एमएस धोनी लीक से हटकर, जानिए किसने कही ये बात

रानी ने कहा कि टीम की सीनियर खिलाड़ियों ने युवा खिलाड़ियों को सुरक्षित माहौल की अहमियत बताने की जिम्मेदारी ले ली है. उन्होंने कहा, "यह हम सीनियर खिलाड़ियों की जिम्मेदारी है कि हम युवा खिलाड़ियों के लिए एक अच्छा उदाहरण पेश करें. हमें उन्हें इस महामारी में स्वास्थ रहने की अहमियत बतानी होगी. जब हम युवा होते हैं तो हम चीजों को हल्के में लेते हैं. ये सिर्फ अनुभव से आता है कि क्या जरूरी है क्या नहीं. रानी रामपाल ने कहा कि हम यहां खिलाड़ियों को यह भी याद दिलाते रहते हैं कि हमारा लक्ष्य क्या है. हमारा मकसद ओलम्पिक पदक जीतना है और मैं यह बात हर किसी को याद दिलाती रहती हूं"

First Published : 23 Aug 2020, 04:07:18 PM

For all the Latest Sports News, More Sports News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो