News Nation Logo

Tokyo paralympic: भाविना पटेल (bhavina patel) के बाद इन महिला खिलाड़ियों से भी उम्मीद

अभी पैरालंपिक की शुरुआत है. भारत के तमाम खिलाड़ी इस बार दम दिखाने की तैयारी में हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Apoorv Srivastava | Updated on: 28 Aug 2021, 12:45:26 PM
para

paralympic (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • पैरालंपिक में इस बार हैं पहले से बहुत ज्यादा उम्मीद
  • पिछली बार पैरालंपिक में भारत ने जीते थे चार पदक
  • दीपा मलिक थीं भारत की पहली पैरालंपिक में महिला पदक विजेता

नई दिल्ली :

टोक्यो पैरालंपिक (Tokyo paralympic)  में भाविना पटेल (bhavina patel) ने भारत का पहला पदक पक्का कर दिया है लेकिन अभी पैरालंपिक की शुरुआत है. भारत के तमाम खिलाड़ी इस बार दम दिखाने की तैयारी में हैं. खासबात ये है कि इस बार महिलाओं की खास ब्रिगेड है, जो भारत को पदक तालिका में अच्छी-खासी रैंक दिलाने को कोशिश में है. आपको बता दें कि इस बार टोक्यो पैरालंपिक (Tokyo paralympic) में भारत का अब तक का सबसे बड़ा दल गया है. इस बार भारत के 54 पैरा एथलीटों ने क्वालीफाई किया है. इससे भी खास बात है कि इस दल में 14 महिला दिव्यांग खिलाड़ी हैं, जिनसे इस बार विशेष उम्मीदें हैं. 

इससे पहले ये बता दें कि गुजरात की रहने वाली भाविना पटेल ने टेबल टेनिस में भारत का पहला पदक पक्का कर दिया है. रविवार को उनका फाइनल मैच है. इससे पहले शनिवार को ट्विटर पर पीएम मोदी ने उन्हें बधाई दी. पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा की 'बधाई, भाविना पटेल! आपने शानदार खेला. पूरा देश आपकी सफलता के लिए दुआएं कर रहा है और कल आपके लिए चीयर केंगे. आप अपना बेस्ट दें और दबाव मुक्त होकर खेलें.

वहीं, भाविना के अलावा और कौन सी महिला खिलाड़ी पैरालंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व कर रही हैं, आइए इनसे मुलाकात करवाते हैं. भारतीय दल में तीरंदाजी में दम दिखा रही हैं ज्योति बाल्यान. इसके अलावा एथलेटिक्स में सिमरन शर्मा, कशिश लाकरा, एकता बाल्यान, भाग्यश्री माधवराव जाधव हैं. इनके साथ में बैडमिंटन में पारुल परमार और पलक कोहली पर नजरें टिकी हैं. पैरा केनोइंग (विशेष प्रकार का नौकायन) में प्राची यादव भारत का प्रतिनिधित्व कर रही हैं. पॉवर लिफ्टिंग में शकीना खातून अपनी प्रतिभा दिखा रही हैं. शूटिंग में भारत की ओर से रुबिना फ्रांसिस और अव्नी लेकहारा मेडल जीतने की कोशिश में हैं. इसके अलावा ताईक्वांडो में अरुणा तंवर पर जिम्मेदारी है. 

 


इसके अलावा अन्य खिलाड़ियों से भी काफी अच्छे प्रदर्शन की उम्मीदें हैं. आपको बता दें कि वर्ष 2016 में हुए रियो ओलंपिक में भारत की दीपा मलिक ने मेडल जीता था. पैराओलंपिक में भारत की किसी महिला का यह पहला पदक था. इसके बाद दीपा मलिक को पैरालंपिक कमेटी का अध्यक्ष बना दिया गया था. ऐसे में भारतीय खेल प्रेमियों को उम्मीद है कि यह आंकड़ा बढ़ेगा. खासतौर से भाविना की सफलता के बाद भारतीय खेल प्रेमियों के उम्मीद है कि उनकी सफलता अन्य महिला पैरा एथलीटों को प्रेरित करेगी. गौरतलब है कि ओलंपिक खेलों के बाद पैरालंपिक खेल होते हैं. टोक्यो में 24 अगस्त से पैरालंपिक खेलों की शुरुआत हुई है, जो 5 सितंबर तक चलेंगे. बता दें कि 2016 के रियो पैरालंपिक में भारत ने चार मेडल जीते थे. इस बार यह आंकड़ा बढ़ने की उम्मीद है. 

 

First Published : 28 Aug 2021, 12:45:26 PM

For all the Latest Sports News, More Sports News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.