logo-image
लोकसभा चुनाव

IPL Trophy : चैंपियन बनने के बाद कौन अपने पास रखता है करोड़ों की ट्रॉफी? क्या है BCCI का नियम

IPL Trophy : चैंपियन बनने के बाद ट्रॉफी किसके पास रहती है? क्या जीतने वाली टीम इस ट्रॉफी को घर ले जाती है? या फिर ये ट्रॉफी फ्रेंचाइजी के ऑफिस की शोभा बढ़ाती है? आइए आपको बताते हैं...

Updated on: 28 May 2024, 11:39 AM

नई दिल्ली:

IPL Trophy : इंडियन प्रीमियर लीग के एक सीजन में 10 टीमें 2 महीने तक एक-दूसरे से भिड़ती हैं, तब जाकर आईपीएल की चमचमाती हुई ट्रॉफी हाथ आती है. IPL 2024 में कोलकाता नाइट राइडर्स ने खिताबी जीत दर्ज की. हर खिलाड़ी ने ट्रॉफी के साथ फोटोज खिंचाईं, जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुईं. क्या आपको मालूम है कि ये ट्रॉफी सोने से बनी होती है और इसकी कीमत करोड़ों में है. तो क्या जीतने वाली टीम इस ट्रॉफी को घर ले जाती है? या फिर ये ट्रॉफी फ्रेंचाइजी के ऑफिस की शोभा बढ़ाती है? आइए आपको बताते हैं...

चैंपियन बनने के बाद किसके पास रहती है IPL Trophy

कई बार ये सवाल जहन में आता है कि क्या आईपीएल चैंपियन बनने के बाद ट्रॉफी आखिर किसके पास रहती है? कप्तान घर ले जाता है या फिर फ्रेंचाइजी ऑफिस में रखी जाती है? लेकिन, आपको जानकर हैरानी होगी कि ये ट्रॉफी टीम या खिलाड़ी नहीं बल्कि बीसीसीआई के पास ही रहती है. दरअसल, विजेताओं को पोडियम पर यह ट्रॉफी दी जाती है, लेकिन फिर ले लिया जाता है और विजेता फ्रेंचाइजी को इसकी प्रतिकृति यानि रेप्लिका दे दी जाती है.

हर फाइनल के बाद चैंपियन के नाम का स्टिकर ट्रॉफी में लगा दिया जाता है. ऐसे में जो ट्रॉफी फ्रेंचाइजी अपने ऑफिस में रखती है, वह एक रेप्लिका होती है. रिपोर्ट्स की मानें, तो BCCI तब तक कोई नई ट्रॉफी नहीं बनाएगा जब तक कि उसके पास कोई नई डिजाइन न हो या उसके पास और नाम जोड़ने के लिए कोई जगह न बचे.

शुरुआत में अलग तरह की ट्रॉफी दी जाती थी

आईपीएल 2008 में जब शेन वॉर्न की कप्तानी वाली टीम जब चैंपियन बनी थी, तब उन्हें जो ट्रॉफी सौंपी गई थी वह काफी अलग दिखती थी. उसमें भारत का नक्शा बना हुआ था. जी हां, 2008 से 2010 तक वही ट्रॉफी दी गई. लेकिन, 2011 में जब चेन्नई सुपर किंग्स ने दूसरी ट्रॉफी जीती, तब दूसरी ट्रॉफी दी गई और आज भी BCCI चैंपियन टीम को वही ट्रॉफी देता है.

IPL ट्रॉफी पर क्या लिखा रहता है?

2008 से शुरू हुए आईपीएल में हर साल जीतने वाली टीम को ट्रॉफी दी जाती है. आईपीएल ट्रॉफी में संस्कृत में कुछ शब्द लिखे होते हैं, जिसके बारे में जानकर आप भी इस टूर्नामेंट के उद्देश्य को समझ सकते हैं. दरअसल, संस्कृत में लिखे शब्दों का संबंध टूर्नामेंट से है, जिसे जानकर आप भी खुश हो जाएंगे. ट्रॉफी पर संस्कृत में लिखा है, यत्र प्रतिभा अवसरा प्राप्तोतिहि, इसका मतलब है कि जहां प्रतिभा और अवसर का मिलन होता है. 

करोड़ों में है IPL Trophy की कीमत

आईपीएल ट्रॉफी की कीमत बताने से पहले हम आपको ये बता दें कि ये ट्रॉफी पूरी सोने की होती है. जी हां, रिपोर्ट्स की मानें, तो इस ट्रॉफी में सोने के अलावा किसी और धातु का यूज नहीं हुआ है. रिपोर्ट्स की मानें, तो इस चमचामती हुई आईपीएल ट्रॉफी की कीमत 7 या साढ़े सात करोड़ या उससे अधिक की बताई जाती है. जाहिर तौर पर सोने की कीमत बढ़ने के साथ ही इसकी कीमत भी बढ़ती जाती है.

ये भी पढ़ें : IPL 2024 में किस खिलाड़ी ने लगाए सबसे ज्यादा छक्के? तीसरे नंबर पर हैं विराट कोहली