News Nation Logo
Banner

जानिये क्या होता अगर एम एस धोनी ने IPL वाली गलती किसी इंटरनेशनल मैच में की होती

शुक्रवार को हुए इस मैच में अंपायर की ओर से नो बॉल दिए जाने के फैसले पर सीएसके के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) डगआउट से निकलकर मैदान पर आ गए थे.

News Nation Bureau | Edited By : Vineet Kumar1 | Updated on: 14 Apr 2019, 06:00:15 PM
क्या होता अगर धोनी ने IPL वाली गलती किसी इंटरनेशनल मैच मे की होती

क्या होता अगर धोनी ने IPL वाली गलती किसी इंटरनेशनल मैच मे की होती

नई दिल्ली:

आईपीएल (IPL) 2019 के 12वें संस्करण को अगर विवादों का लीग कहा जाए तो शायद गलत नहीं होगा. सबसे पहले आर अश्विन के द्वारा जोस बटलर को मांकड़ किया गया फिर आरसीबी के ऊपर मुंबई इंडियंस को मिली जीत में आखिरी बॉल पर नो बॉल न देना और फिर राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) के खिलाफ मैच के दौरान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) का अंपायर से बात करने के लिए मैदान पर आ जाना, लगातार विवादों में बनाए रखा है.

शुक्रवार को हुए इस मैच में अंपायर की ओर से नो बॉल दिए जाने के फैसले पर सीएसके के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) डगआउट से निकलकर मैदान पर आ गए थे. उन्होंने अंपायरों के फैसले का विरोध किया था, जिसके बाद उन पर मैच फीसदी का 50 फीसदी जुर्माना लगा है. हालांकि आईसीसी (ICC) ने कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है.

और पढ़ें: IPL12: आरसीबी को मिली सीजन की पहली जीत, पर विराट कोहली पर लगा 12 लाख का जुर्माना

आईसीसी (ICC) का कहना है कि यह एक फ्रेंचाइजी लीग का मुकाबला था, इसलिए उसकी ओर से कोई ऐक्शन नहीं लिया जा सकता. यदि कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) की ओर से यह काम किसी इंटरनैशनल मैच के दौरान की जाती तो यह 'खेल की प्रतिष्ठा को गिराने' की गलती मानी जाती. हालांकि किसी प्लेयर का मैदान में आकर अंपायरों से उलझने को लेकर आईसीसी (ICC) के कोड में कोई नियम नहीं है. फिर भी इसे लेवल-2 का अपमान माना जाता, जिसे बड़ी गलती माना जाता है.

आईसीसी (ICC) कोड के आर्टिकल 2.1.3 के मुताबिक यदि कोई प्लेयर अंपायर के फैसले से असहमति जताता है और खेल बाधित होता या फिर वह विकेट छोड़ने में देरी करता है तो यह लेवल 1 अपराध है. लेकिन यदि कोई प्लेयर अंपायर के फैसले से नाराजगी जताता है या अंयायर से सीधे तौर पर बदजुबानी करता है तो यह लेवल 2 अपराध है.

महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) पर लेवल 2 का ही मामला बनता है. यही नहीं कोड में स्पष्ट है कि यदि अंपायर अपने फैसले पर गलत भी है तब भी इसे खिलाड़ी के बचाव के लिए तर्क नहीं माना जा सकता.

और पढ़ें: IPL की पहली हैट्रिक गेंदबाज ने नहीं बल्‍कि इस धाकड़ बल्‍लेबाज ने ली थी

महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने यही गलती यदि इंटरनैशनल मैच की होती तो उन पर लेवल 2 अपराध का मामला बनता. इसके तहत आमतौर पर 50 से 100 पर्सेंट मैच फीस का जुर्माना और डिमेरिट पॉइंट्स की सजा दी जाती है. इस अपराध के तहत अधिकतम सजा 8 मैचों के निलंबन की हो सकती है. हालांकि कैप्टन कूल को इस बार कम सजा मिलती क्योंकि यह उनकी इस तरह की पहली गलती है.

First Published : 14 Apr 2019, 05:59:56 PM

For all the Latest Sports News, Indian Premier League News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो