logo-image
लोकसभा चुनाव

IPL 2024: तो इस वजह से इतने खतरनाक बन गए हैं शिवम दुबे, इस प्लान से डरने लगे हैं विरोधी कप्तान

Shivam Dube: चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए आईपीएल 2024 में शिवम दुबे का बल्ले जमकर आग उलग रहा है. अब तो ऐसा माना जा रहा है कि T20 World Cup में उन्हें हार्दिक पांड्या की जगह टीम इंडिया में मौका मिल सकता है.

Updated on: 15 Apr 2024, 06:55 PM

नई दिल्ली:

Shivam Dube IPL 2024 : चेन्नई सुपर किंग्स के विस्फोटक बल्लेबाज शिवम दुबे आईपीएल 2024 में भी अपने बल्ले से धमाल मचा रहे हैं. हालांकि उनकी बल्लेबाजी सीएसके में आने के बाद निखर कर सामने आई है. आरसीबी ने अनकैप्ड होने के बावजूद शिवम दुबे को 2019 में 5 करोड़ की भारी-भरकम कीमत में खरीदा था, इसके बाद उन्हें टीम इंडिया में भी जगह मिली, लेकिन वह मौके को भुना नहीं सके और टीम से बाहर कर दिया गया. यहां तक कि उन्हें आईपीएल की प्लेइंग11 में भी जगह मिलना मुश्किल हो गया. लेकिन धोनी की टीम CSK में आने के बाद शिवम दुबे अब एक नए अंदाज में नजर आ रहे हैं. आईपीएल 2022 के मेगा ऑक्शन सीएसके ने उन्हें 4 करोड़ रुपए में खरीदा था.

स्पिनर्स पर बड़े-बड़े छक्के जड़ते हैं शिवम दुबे

रविवार को मुंबई इंडियंस के खिलाफ वानखेड़े स्टेडियम में शिवम दुबे ने 38 गेंद में नाबाद 66 रनों की पारी खेली और सीएसके को 20 रनों से जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई. वहीं CSK के गेंदबाजी कोच एरिक सिमंस ने कहा है कि ऑलराउंडर शिवम दुबे में मैचों को नियंत्रित करने की क्षमता है और टीमें उनके खिलाफ स्पिन गेंदबाजों का इस्तेमाल करने से ‘डरती’ हैं. MI के कप्तान हार्दिक ने इस मैच में 7 गेंदबाजों का इस्तेमाल किया, लेकिन 8वें ओवर के बाद अपने स्पिनरों को गेंदबाजी का मौका नहीं दिया. दुबे ने स्पिनर की सिर्फ एक गेंद का सामना किया और वह गेंद श्रेयस गोपाल की थी.

यह भी पढ़ें: IPL Controversy : जब लालू प्रसाद यादव ने बोला था बंद कर दो आईपीएल, जानें क्या था शाहरुख खान से कनेक्शन

दुबे से डरती हैं विरोधी टीमें

सीएसके के बॉलिंग कोच सिमंस ने मैच के बाद कहा, ‘जब दुबे आता है तो विरोध टीमें स्पिनर्स को हटाकर पेसर्स को अटैक पर लगा देती हैं. वह इसमें और अधिक प्रभावी हो गया है, लेकिन उन्होंने बाकी मैच में दोबारा स्पिन गेंदबाजी नहीं की, क्योंकि वह क्रीज पर था. यह इस बारे में है कि आप मैच को कैसे नियंत्रित करते हैं और उसके जैसा कोई व्यक्ति इसे नियंत्रित कर सकता है क्योंकि वे अब स्पिन गेंदबाजी नहीं कर सकते. वे ऐसा नहीं करना चाहते. वे डरे हुए हैं. तेज गेंदबाजी के खिलाफ प्रभावी होने की उसकी क्षमता उसके लिए बहुत फायदेमंद साबित हो रही है.'