logo-image

'सेंचुरी बनानी है या ट्रॉफी...' रोहित की आड़ में गंभीर ने फिर विराट के खिलाफ उगला जहर

रोहित की आड़ में गंभीर ने फिर विराट के खिलाफ उगला जहर, सुनकर आपको भी आएगा गुस्सा

Updated on: 29 Oct 2023, 06:30 PM

नई दिल्ली:

Gautam Gambhir On Rohit Sharma : टीम इंडिया इकाना स्टेडियम में इंग्लैंड के खिलाफ बड़ा मैच खेलने उतरी. लेकिन, भारत को अच्छी शुरुआत नहीं मिल सकी, क्योंकि उनका स्कोर 40/3 का था. मगर, तब रोहित शर्मा ने 87 रन की पारी खेली और भारतीय टीम को मुश्किल से बाहर निकाला. मगर, वह इस दौरान सेंचुरी से चूक गए. उनकी इस पारी को देखकर पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर ने जो कहा, उसकी काफी चर्चा हो रही है...

रोहित शर्मा को बताय सेल्फिश कैप्टन

वर्ल्ड कप 2023 में गौतम गंभीर कमेंट्री पैनल का हिस्सा हैं. उनकी कमेंट्री फैंस को काफी रास आती है. वह अपनी बातों को बेबाकी से रखते हैं, जिसके चलते उन्हें आलोचनाओं का भी सामना करना पड़ता है. अब उन्होंने हिटमैन की तो तारीफ की है, लेकिन उनके स्टेटमेंट को जानने पर ऐसा लग रहा है कि वह इनडायरेक्टली विराट कोहली को ट्रोल कर रहे हैं. उन्होंने कहा, “रोहित शर्मा के अब तक 40-45 शतक हैं, लेकिन वह शतक पीछे नहीं भागते हैं. वह सेल्फिश नहीं हैं. रोहित आंकड़ों के पीछे नहीं भागते. वह अपनी इनिंग से स्पेशल मैसेज देते हैं और एक लीडर और कप्तान यही करता है.”

“रोहित शर्मा एक सेल्फिश कैप्टन हैं. जो टीम से चाहते हैं, वो पहले वह खुद करके दिखाते हैं. अगर आप अपनी टीम से पॉजिटिव बल्लेबाजी की उम्मीद रखते हैं तो सबसे पहले आपको करके दिखानी पड़ती है. आगे बढ़कर टीम को लीड करना किसी तरह की पीआर और किसी तरह की मार्केटिंग आपको वो करके नहीं दिखा सकती. ये आपको खुद करना पड़ेगा. रोहित शर्मा ने इस वर्ल्ड कप में ये करके दिखाया है.”

उन्होंने कहा, “शायद आंकड़े उनके उतने नहीं होंगे. रनों के मामले में वह शायद 10वें नंबर पर हो या 5वें नंबर पर हो. ये मायने नहीं रखता है. लेकिन अगर आप 19 नवंबर को वो ट्रॉफी उठाएंगे तो वो आपका लक्ष्य होना चाहिए. ये देखना जरूरी है कि आपका टारगेट 100 बनाना है या ट्रॉफी उठाना है.”

हालांकि, ये पहली बार नहीं है बल्कि गौतम गंभीर अक्सर विराट कोहली पर निशाना साधते रहते हैं. दरअसल, हाल ही में विराट कोहली ने न्यूजीलैंड के खिलाफ 95 रन की पारी खेली थी, जिसमें वो अपना शतक पूरा करना चाहते थे. इससे पहले बांग्लादेश के खिलाफ उन्होंने सेंचुरी लगाई थी, जिसे कई क्रिकेट स्पेशलिस्ट ने सेल्फिश इनिंग करार दिया था. जबकि, भले ही विराट ने सेंचुरी लगाई, लेकिन टीम इंडिया ने जीत भी दर्ज की थी. ऐसे में उनपर सेल्फिश होने का आरोप बिलकुल बेबुनियाद था.