News Nation Logo

वर्ल्ड कप ट्रॉफी संग क्रिकेट इतिहास में अमर हो गए इयान मॉर्गन, खत्म किया 44 साल का सूखा

44 साल बाद क्रिकेट का जन्मदाता इंग्लैंड विश्व चैंपियन बना. इस ऐतिहासिक जीत के साथ ही कप्तान इयान मॉर्गन का नाम भी क्रिकेट इतिहास में सुनहरे हर्फों में दर्ज हो गया.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 15 Jul 2019, 08:43:41 AM
44 साल में पहली बार इयान मॉर्गन के नेतृत्व में इंग्लैंड बना चैंपियन.

highlights

  • विश्व कप विजेता इंग्लिश कप्तान इयान मॉर्गन का नाम इतिहास में दर्ज हो गया.
  • अब तक इंग्लैंड 6 बार सेमीफाइनल खेल 4 बार पहुंची है फाइनल में.
  • 2019 के वर्ल्ड कप संस्करण में इंग्लैंड ने एक साथ कई मिथक तोड़े.

नई दिल्ली.:

कहते हैं इतिहास हमेशा विजेताओं का ही होता है. अब इंग्लैंड की हालिया क्रिकेट टीम को ही लीजिए. 44 साल बाद क्रिकेट का जन्मदाता इंग्लैंड विश्व चैंपियन बना. इस ऐतिहासिक जीत के साथ ही कप्तान इयान मॉर्गन का नाम भी क्रिकेट इतिहास में सुनहरे हर्फों में दर्ज हो गया. इसके पहले तीन बार वर्ल्ड कप के फाइनल तक पहुंची इंग्लिश टीम के तत्कालीन कप्तानों का इस उपलब्धि के सामने कोई नामलेवा भी नहीं रहा. यह अलग बात है कि उनके जज्बे और मेहनत को कम करके नहीं आंका जा सकता है.

यह भी पढ़ेंः इंग्लैंड सिर्फ वर्ल्ड कप विजेता ही नहीं बना, बतौर मेजबान एक मिथक भी तोड़ा

इयान मॉर्गन हो गए अमर
क्रिकेट का मक्का कहे जाने वाले लॉर्ड्स के मैदान में आईसीसी विश्व कप 2019 ट्रॉफी का रविवार को फाइनल खेला गया. न्यूजीलैंड के साथ बेहद रोमांचक और सनसनीखेज मुकाबले में पहले स्कोर टाई रहा. फिर सुपर ओवर तक टाई हो गया. इसके बाद चौकों की गिनती ने इंग्लैंड को विश्व चैंपियन की ट्रॉफी दिलवा दी. इसके साथ ही इयान मॉर्गन इंग्लैंड के पहले कप्तान बन गए, जिनके नेतृत्व में टीम विश्व चैंपियन बनी. इंग्लैंड का यह चौथा और बतौर मेजबान दूसरा फाइनल मैच था.

यह भी पढ़ेंः 23 सालों बाद World Cup को मिला उसका नया चैंपियन, इंग्लैंड को करना पड़ा 44 साल का इंतजार

3 बार फाइनल में रूठी रही किस्मत
अब तक वर्ल्ड कप के 12 संस्करणों में इंग्लैंड 6 बार सेमीफाइनल खेली है. इसमें महज 2 बार हारी और 4 बार जीत कर फाइनल में पहुंची. यह अलग बात है कि फाइनल में किस्मत उससे हमेशा रूठी ही रही. इंग्लैंड 1979 के वर्ल्ड कप फाइनल में पहुंची थी, लेकिन कप्तान माइक ब्रेयरले की अगुवाई वाली टीम को वेस्टइंडीज ने फाइनल में रौंद दिया. इसके बाद 1987 में माइक गेटिंग की अगुवाई में भी टीम फाइनल तक पहुंची, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के सामने वर्ल्ड चैंपियन टीम बनने का मौका हाथ से निकल गया.

यह भी पढ़ेंः World Cup 2019 Final: न्यूजीलैंड में जन्म लेने वाले बेन स्टोक्स ने ऐसे बनाया इंग्लैंड को विश्व चैंपियन

27 साल लग गए सेमीफाइनल तक पहुंचने में
हालांकि इंग्लैंड की क्रिकेट में बादशाहत खत्म नहीं हुई. बेहतर प्रदर्शन के बलबूते इंग्लैंड 1992 के विश्व कप संस्करण में भी लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंची, लेकिन वहां भी खिताबी जीत नसीब नहीं हुई. महान बल्लेबाज ग्राहम गूच की अगुवाई में इंग्लैंड की टीम को इमरान खान के नेतृत्व वाली पाकिस्तान ने धर दबोचा. इसके बाद इंग्लैंड के दिन खराब आ गए. 1992 के बाद 27 साल तक इंग्लैंड को सेमीफाइनल खेलना तक नसीब नहीं हुआ.

यह भी पढ़ेंः World Cup 2019 : रोहित शर्मा रहे सर्वोच्च स्कोरर, केन विलियम्सन मैन ऑफ द टूर्नामेंट

2019 में एक साथ कई मिथक तोड़े इंग्लैंड ने
इस साल यानी 2019 के वर्ल्ड कप संस्करण में इंग्लैंड ने एक साथ कई मिथक तोड़ने में सफलता हासिल की. इयान मॉर्गन की कप्तानी में इंग्लैंड की टीम न सिर्फ सेनीफाइनल खेल फाइनल तक पहुंची, बल्कि रोमांचक मैच में न्यूजीलैंड को पटखनी दे पहली बार वर्ल्ड कप ट्रॉफी हथियाने में भी सफल रही. यानी कह सकते हैं कि माइक ब्रेयरले, माइक गेटिंग और ग्राहम गूच जैसे दिग्गज जो नहीं हासिल कर सके, वह उपलब्धि इयोन मॉर्गन के नाम के साथ दर्ज हो गई. दूसरे शब्दों में कहें तो इयान मॉर्गन इंग्लैंड को विश्व विजेता बनाने वाले कप्तान बतौर इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गए.

First Published : 15 Jul 2019, 08:43:41 AM

For all the Latest Sports News, World Cup News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो