News Nation Logo
Banner

उमर अकमल से धमकी मिलने पर टीम छोड़कर भागना पड़ा था, जानिए किसने कही ये बड़ी बात

पाकिस्तान के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज जुल्करनैन हैदर ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2010 की एकदिवसीय सीरीज के दौरान अचानक लापता होने के लिए उमर अकमल को दोषी ठहराया.

Bhasha | Edited By : Pankaj Mishra | Updated on: 03 May 2020, 12:02:11 PM
umar akmal

उमर अकमल (Photo Credit: फाइल फोटो)

Karachi:  

पाकिस्तान के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज जुल्करनैन हैदर (Zulkarnain Haider) ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2010 की (Pakistan vs South Africa) एकदिवसीय सीरीज के दौरान अचानक लापता होने के लिए उमर अकमल (Umar Akmal) को दोषी ठहराया. उन्‍होंने कहा कि मैच गंवाने के लिए तैयार नहीं होने पर इस दागी खिलाड़ी ने उन्हें धमकी दी थी. जुल्करनैन ने दावा किया कि उन्हें दुबई में टीम होटल छोड़कर रहस्यमय परिस्थितियों में लंदन जाने के लिए मजबूर होना पड़ा, क्योंकि उन्हें तब अपने साथी उमर और कुछ अन्य से उस सीरीज के तीसरे एकदिवसीय मैच में खराब प्रदर्शन करने से इन्कार करने के कारण धमकी भरे संदेश मिल रहे थे.

यह भी पढ़ें ः हिटमैन रोहित शर्मा को इन गेंदबाजों के सामने होती थी परेशानी, बताए दुनिया के दो नाम

जुल्करनैन हैदर ने एक साक्षात्कार में कहा, मुझे याद है कि मैंने उससे कहा कि वह अपना काम करता रहे और ड्रिंक्स ले जाने की भूमिका निभाता रहे. लेकिन बाद में उमर अकमल और कुछ अन्य खिलाड़ियों ने मुझे सीधे तौर पर धमकी देनी शुरू कर दी. उन्होंने मुझे इतना परेशान कर दिया कि मैं मनोवैज्ञानिक दबाव में आ गया. मैं डरने लगा था और ऐसे में किसी को बताए बिना लंदन चला गया. नवंबर 2010 में घटी इस घटना के बाद जुल्करनैन का करियर भी समाप्त हो गया. उन्होंने कहा कि उमर अकम पर स्पॉट फिक्सिंग के संपर्कों का खुलासा नहीं करने के कारण लगाया गया तीन साल का प्रतिबंध बहुत कम है.

यह भी पढ़ें ः रोहित शर्मा ने नेट्स में सबसे खतरनाक गेंदबाज का नाम बताया, जसप्रीत बुमराह नहीं, ये है

जुल्करनैन ने कहा, वह संदेहास्पदक गतिविधियों में शामिल रहा है और उस पर आजीवन प्रतिबंध लगना चाहिए. यहां तक कि उसकी संपत्ति भी जब्त कर देनी चाहिए. जुल्करनैन अब 34 साल के हैं. उन्होंने दुबई में टीम प्रबंधन को बताए बिना होटल छोड़ने के बाद लंदन में शरण ली थी. उन्होंने केवल एक टेस्ट मैच खेला जिसमें 88 रन बनाए. इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने दावा किया कि उन्होंने उमर का उन्हें खराब प्रदर्शन करने के लिए कहने की जानकारी टीम प्रबंधन को दी थी. उन्होंने कहा, लेकिन धमकी और दबाव को सहना मेरे लिए मुश्किल था और इसलिए मैं वहां से चुपचाप निकल गया. मुझे कुछ अज्ञात व्यक्तियों से भी खराब प्रदर्शन करने के लिए धमकी मिल रही थी. 

यह भी पढ़ें ः पहला मैच खेलने जा रहे थे कुलदीप यादव, अनिल कुंबले आए और बोले....

आपको बता दें कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने हाल ही में उमर अकमल पर तीन साल का प्रतिबंध लगा दिया था. उनके खिलाफ यह प्रतिबंध क्रिकेट के सभी प्रारूप में लागू होगा. उमर अकमल अब तीन साल तक क्रिकेट से दूर रहेंगे. उमर अकमल पर यह प्रतिबंध उन्हें दिए गए फिक्सिंग के एक प्रस्ताव की जानकारी बोर्ड को नहीं देने पर लगाया गया है. यह प्रस्ताव उन्हें पाकिस्तान सुपर लीग (PSL) के पांचवें संस्करण के शुरू होने से पहले दिया गया था. पीसीबी के भ्रष्टाचार रोधी संहिता के तहत यह अनिवार्य है कि किसी खिलाड़ी को फिक्सिंग का कोई प्रस्ताव मिले तो वह बिना देर किए इसकी जानकारी बोर्ड को दे. ऐसा नहीं करने पर सजा का प्रावधान है.

यह भी पढ़ें ः एमएस धोनी को लेकर एमएसके प्रसाद ने किया बड़ा खुलासा, बोले विश्‍व कप 2019 के बाद.....

पीसीबी ने एक ट्वीट कर यह जानकारी दी थी. ट्वीट में बताया गया था कि यह निर्णय बोर्ड की अनुशासन समिति के चेयरमैन जस्टिस (सेवानिवृत्त) फजल-ए-मीरान चौहान ने लिया है. पीसीबी ने इस मामले में उमर अकमल को 20 फरवरी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया था. पीएसएल में क्वेटा ग्लैडिएटर्स की तरफ से भाग लेने से भी रोक दिया गया था. उन्हें पीसीबी की भ्रष्टाचार रोधी संहिता के दो प्रावधानों के उल्लंघन का आरोपी पाया गया था. उमर ने नोटिस का जवाब देते हुए भ्रष्टाचार रोधी अधिकरण में अपील नहीं करने की बात कही थी. इसके बाद मामले को अनुशासन समिति को सौंप दिया गया था जिसने सोमवार को सुनवाई के बाद उमर को दोषी करार देते हुए तीन साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया.

First Published : 03 May 2020, 12:02:11 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.