News Nation Logo

युवराज सिंह ने रोहित शर्मा से कही बड़ी बात, बोले आज टीम में रोल मॉडल नहीं

भारत के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी युवराज सिंह ने कहा है कि मौजूदा टीम में तीनों प्रारूपों में खेलने वाले विराट कोहली और रोहित शर्मा को छोड़कर कोई ज्यादा रोल मॉडल नहीं है.

News Nation Bureau | Edited By : Pankaj Mishra | Updated on: 08 Apr 2020, 06:59:37 AM
yuvraj singh gettyimages

युवराज सिंह (Photo Credit: gettyimages)

New Delhi:

भारत के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने कहा है कि मौजूदा टीम में तीनों प्रारूपों में खेलने वाले विराट कोहली (Virat kohli) और रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को छोड़कर कोई ज्यादा रोल मॉडल नहीं है. उन्होंने साथ ही कहा कि टीम में सीनियरों के सम्मान की आदत भी धूमिल पड़ती जा रही है. युवराज सिंह (Yuvraj singh) ने यह बातें रोहित शर्मा से इंस्टाग्राम पर बातचीत में कहीं.

यह भी पढ़ें : अब T20 विश्व कप को लेकर उठने लगे सवाल, जानिए क्या है ताजा अपडेट

रोहित शर्मा ने जब युवराज सिंह से पूछा कि टी-20 विश्व कप 2007 और वनडे विश्व कप 2011 जीतने वाली टीम और मौजूदा टीम में क्या अंतर है. युवराज ने कहा, जो अंतर मुझे हमारी टीम में और अभी की टीम में नजर आता है तो वो यह है कि हमारे समय में सीनियर खिलाड़ी बड़े अनुशासन में रहते थे. सोशल मीडिया था नहीं तो भटकाव नहीं होता था.
उन्होंने कहा, हमें एक निश्चित तरीके से अपने आप को संभालना होता था. हम अपने सीनियर खिलाड़ियों की तरफ देखते थे कि वो मीडिया में किस तरह से बातें कर रहे हैं और बाकी सब. वह आगे से नेतृत्व करते थे. यही हमने उनसे सीखा और आप लोगों को भी बताया.

यह भी पढ़ें : CSKvsMI : लसिथ मलिंगा पर भारी पड़ते है एमएस धोनी, देखिए दोनों टीमों के आंकड़े

बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा, इस टीम में सीनियर जैसे की आप (रोहित) और विराट, जो तीनों प्रारूप खेलते हैं. मुझे लगता है कि जबसे सोशल मीडिया आया है तब से बहुत कम ऐसे खिलाड़ी हैं जिनकी तरफ देखा जा सकता है. सीनियरों के प्रति सम्मान काफी कम हो गया है.
युवराज सिंह ने हार्दिक पांड्या और लोकेश राहुल के कॉफी विद करण शो पर हुए विवाद का हवाला देते हुए लिखा, राहुल और हार्दिक का मामला ले लीजिए. हम सोच नहीं सकते थे कि ऐसा होगा. यह उनकी भी गलती नहीं है. आईपीएल के अनुबंध भी काफी लंबे होते हैं. खिलाड़ी भारत के लिए नहीं खेलते तब भी काफी पैसा आता है.

यह भी पढ़ें : लॉकडाउन में क्रिकेट नहीं तो इस खेल में फिर से हाथ आजमाने लगे युवजेंद्र चहल

युवराज ने कहा, आपको मार्गदर्शन के लिए सीनियर चाहिए होते हैं. सचिन ने हमेशा मुझसे कहा कि अगर आप मैदान पर अच्छा करोगे तो सब कुछ सही होगा. मैं एनसीए में था और देखा खिलाड़ी टेस्ट मैच नहीं खेलना चाहते. दूसरी पीढ़ी टेस्ट मैच खेलना नहीं चाहती यही क्रिकेटरों का असली टेस्ट है. रोहित ने इस पर युवराज का साथ दिया और कहा, जब मैं आया था तो काफी सारे सीनियर थे लेकिन अब माहौल थोड़ा हल्का है.

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 08 Apr 2020, 06:57:54 AM