News Nation Logo
भारत हमेशा से एक शांतिप्रिय देश रहा है और आज भी है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह हमारा देश किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह किसी भी विवाद को अपनी तरफ़ से शुरू करना हमारे मूल्यों के ख़िलाफ़ है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों को वैक्सीन की 108 करोड़ डोज़ उपलब्ध कराई गईं: स्वास्थ्य मंत्रालय कर्नाटकः कोडागू जिले के जवाहर नवोदय विद्यालय में 32 बच्चे कोरोना पॉजिटिव महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वासले हुए कोरोना पॉजिटिव कोरोना अपडेटः पिछले 24 घंटे में देश में 16,156 केस आए, 733 मरीजों की मौत हुई जम्मू-कश्मीरः डोडा में खाई में गिरी मिनी बस, 8 लोगों की मौत आर्य़न खान ड्रग्स केस में गवाह किरण गोसावी पुणे से गिरफ्तार पेट्रोल और डीजल के दामों में 35 पैसे की बढ़ोतरी कैप्टन अमरिंदर सिंह आज फिर मुलाकात करेंगे गृह मंत्री अमित शाह से क्रूज ड्रग्स मामले में आर्यन खान की जमानत पर आज फिर दोपहर में सुनवाई पीएम नरेंद्र मोदी आज आसियान-भारत शिखर वार्ता को करेंगे संबोधित दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पंजाब के दो दिवसीय दौरे पर आज जाएंगे

भारतीय स्ट्राइकर एसवी सुनील ने अंतरराष्ट्रीय हॉकी को अलविदा कहा

भारतीय स्ट्राइकर एसवी सुनील ने अंतरराष्ट्रीय हॉकी को अलविदा कहा

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 01 Oct 2021, 05:40:02 PM
Veteran triker

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: भारतीय पुरुष हॉकी टीम के अनुभवी फॉरवर्ड और स्ट्राइकर एसवी सुनील ने शुक्रवार को अंतरराष्ट्रीय हॉकी से संन्यास लेने की घोषणा की।

अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित सुनील ने 2007 में एशिया कप से अंतरराष्ट्रीय डेब्यू किया था। इस टूर्नामेंट को भारत ने फाइनल में पाकिस्तान को हराकर जीता था।

सुनील 2011 एशिया चैंपियंस ट्रॉफी में स्वर्ण पदक और 2012 में इसी इवेंट में रजत पदक जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा थे। 32 वर्षीय खिलाड़ी ने राष्ट्रीय टीम के लिए 264 मैचों में 72 गोल किए। उन्होंने संन्यास लेने की घोषणा सोशल मीडिया के माध्यम से की।

सुनील ने ट्विटर पर बयान जारी कर कहा, मेरा शरीर कहता है कि मैं इसे अभी भी कर सकता हूं, मेरा दिल कहता है कि इसके लिए जाओ, लेकिन मेरा मन कहता है, ब्रेक लेने का समय आ गया है। पहली बार भारतीय जर्सी पहनने के 14 साल से अधिक समय के बाद, मैंने अगले सप्ताह शुरू होने वाले राष्ट्रीय शिविर के लिए खुद को अनुपलब्ध रखने का फैसला किया है।

उन्होंने कहा, मैं खुद के साथ ही सभी से झूठ बोलूंगा अगर मैं कहूं कि मैं खुश हूं। मेरा सपना था कि मैं ओलंपिक में टीम को पदक जिताने के लिए अपना योगदान दूं और आखिरकार ऐसा हुआ है। मेरे साथी खिलाड़ियों ने कांस्य पदक जीता जो विशेष एहसास है।

सुनील ने कहा, मैं खेल के छोटे प्रारूप में खेलने के लिए उपलब्ध रहूंगा और भारतीय हॉकी के साथ किसी भी क्षमता में शामिल रहूंगा, जैसा हॉकी इंडिया मुझसे चाहता है।

उन्होंने 2016 और 2018 एफआईएच चैंपियंस ट्रॉफी में टीम को मिली ऐतिहासिक रजत पदक जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

हॉकी इंडिया के अध्यक्ष ज्ञानेंद्रो निंगोंबाम ने सुनील को उनके 13 साल से अधिक के अविश्वसनीय करियर और भारतीय हॉकी में उनके योगदान के लिए बधाई दी।

निंगोंबाम ने कहा, सुनील युवा हॉकी खिलाड़ियों की एक पूरी पीढ़ी के लिए प्रेरणा रहे हैं। खेल और अनुशासन के प्रति उनकी प्रतिबद्धता बेजोड़ थी और उन्होंने भारतीय हॉकी को कुछ बहुत ही यादगार प्रदर्शन दिए हैं। हॉकी इंडिया की ओर से, मैं उन्हें शानदार करियर के लिए बधाई देता हूं। मैं उन्हें उनके भविष्य के प्रयासों के लिए शुभकामनाएं देता हूं।

इससे पहले, गुरूवार को रूपिंदर पाल सिंह और बीरेंद्र लाकड़ा जो इस साल टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक विजेता भारतीय टीम का हिस्सा थे, इन्होंने भी अंतरराष्ट्रीय हॉकी से संन्यास लेने की घोषणा की थी।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 01 Oct 2021, 05:40:02 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो