News Nation Logo

डेविड वार्नर और स्टीव स्मिथ को गेंद से छेड़छाड़ करने वाले अंपायर ने अब किया बड़ा खुलासा

आईसीसी एलीट पैनल के पूर्व अंपायर और 2018 के बहुचर्चित केपटाउन टेस्ट के टीवी अंपायर इयान गाउल्ड ने कहा है कि आस्ट्रेलियाई क्रिकेटर गेंद से छेड़छाड़ मामले से दो तीन साल पहले ही नियंत्रण से बाहर चले गए थे.

Bhasha | Edited By : Pankaj Mishra | Updated on: 09 Apr 2020, 03:41:21 PM
ball

प्रतीकात्मक फोटो (Photo Credit: file)

London:

आईसीसी एलीट पैनल के पूर्व अंपायर और 2018 के बहुचर्चित केपटाउन टेस्ट के टीवी अंपायर इयान गाउल्ड ने कहा है कि आस्ट्रेलियाई क्रिकेटर गेंद से छेड़छाड़ मामले से दो तीन साल पहले ही नियंत्रण से बाहर चले गए थे. बेहद औसत इंसान की तरह व्यवहार करने लगे थे. पिछले साल विश्व कप के बाद संन्यास लेने वाले गाउल्ड ने ही टीवी पर देखने के बाद मैदानी अंपायरों को बताया था कि कैमरून बैनक्राफ्ट अपनी पतलून के अगले वाले हिस्से में सैंडपेपर रख रहे हैं. 

यह भी पढ़ें : जहीर अब्बास ने भारत पाकिस्तान वन डे सीरीज पर कही बड़ी बात, जानें क्या बोले

इयान गाउल्ड ने अपनी आत्मकथा गनर माइ लाइफ इन क्रिकेट के प्रचार के तहत डेली टेलीग्राफ से कहा, अगर आप पीछे मुड़कर देखो तो आस्ट्रेलिया दो साल और संभवत: तीन साल पहले ही नियंत्रण से बाहर चला गया है लेकिन इस (गेंद से छेड़छाड़) संदर्भ में नहीं. उनका व्यवहार बेहद औसत इंसान के जैसा था. न्यूलैंड्स टेस्ट मैच का प्रभाव काफी पड़ा था. क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने मामले में शामिल होने के लिए तत्कालीन कप्तान स्टीव स्मिथ और उप कप्तान डेविड वार्नर पर एक साल का जबकि बैनक्राफ्ट पर नौ महीने का प्रतिबंध लगाया गया था. इसके बाद ही आस्ट्रेलियाई क्रिकेट की सांस्कृतिक समीक्षा शुरू हुई थी.

यह भी पढ़ें : आस्ट्रेलिया पर जीत को लेकर मार्क बाउचर ने किया बड़ा खलासा

इयान गाउल्ड ने कहा, मुझे पता नहीं था कि इसके क्या परिणाम निकलेंगे. जब मुझे इस बारे में पता चला तो मुझे विश्वास नहीं था कि आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री भी इन तीनों खिलाड़ियों को लेकर अपनी कड़ी प्रतिक्रिया देंगे. मैं केवल यही सोच रहा था कि हे ईश्वर कि मैं कैसे ज्यादा शोर शराबा किए बिना खिलाड़ी के पास से उसे (सैंडपेपर) बाहर करवा सकूं.

यह भी पढ़ें : लॉकडाउन के बीच पाकिस्तान में खिलाड़ियों का होगा ऑनलाइन फिटनेस टेस्ट, जानें कैसे

गेंद से छेड़छाड़ आईसीसी आचार संहिता के तहत लेवल दो अपराध की श्रेणी में आता था, लेकिन इस घटना के बाद इसे लेवल तीन श्रेणी में रख दिया गया, जिसके लिए छह टेस्ट या 12 वनडे तक का प्रतिबंध लग सकता है. गाउल्ड ने कहा कि उन्होंने टीवी पर जो कुछ देखा उससे उन्हें अपनी आंखों पर विश्वास नहीं हुआ, लेकिन कहा कि यह खेल विशेषकर आस्ट्रेलियाई क्रिकेट के लिए अच्छा हुआ. उन्होंने कहा, जब डायरेक्टर ने कहा, वह अपनी पतलून के आगे वाले हिस्से में कुछ रख रहा है तो मैं सतर्क हो गया क्योंकि वह अच्छी बात नहीं थी. निश्चित तौर पर जो कुछ भी हुआ वह क्रिकेट विशेषकर आस्ट्रेलियाई क्रिकेट की बेहतरी के लिए अच्छा हुआ.

यह भी पढ़ें : महेंद्र सिंह धोनी या विराट कोहली नहीं बल्कि ये हैं भारत के सबसे धनी क्रिकेटर, हैरान रह जाएंगे आप

गाउल्ड ने कहा कि उनके पास अब भी वह गेंद है जो न्यूलैंड्स टेस्ट में उपयोग की गई थी. उन्होंने कहा, अगर आप गेंद को देखोगे तो आपको यह पूरा प्रकरण गलत लगेगा क्योंकि गेंद पर सैंडपेपर का उपयोग नहीं किया गया था.

First Published : 09 Apr 2020, 03:41:21 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Steve Smith David Warner