News Nation Logo

देश विरोधी ताकतों को सचिन तेंदुलकर, शिखर धवन और आरपी सिंंह ने दिया जवाब

दुनियाभर के देशों में भारत की छवि खराब करने का प्रयास किया जा रहा है. अब इसे लेकर देश एकजुट हो गया है. अब भारतीय क्रिकेट टीम के स्‍टार क्रिकेटर शिखर धवन ने भी इस बारे में टि्वट कर अपनी बात रखी है.

Sports Desk | Edited By : Pankaj Mishra | Updated on: 03 Feb 2021, 08:15:01 PM
shikhar dhawan cricbuzz

shikhar dhawan (Photo Credit: cricbuzz )

नई दिल्‍ली :

दुनियाभर के देशों में भारत की छवि खराब करने का प्रयास किया जा रहा है. अब इसे लेकर देश एकजुट हो गया है. अब भारतीय क्रिकेट टीम के स्‍टार क्रिकेटर शिखर धवन ने भी इस बारे में टि्वट कर अपनी बात रखी है. शिखर धवन ने अपने टि्वट में कहा है कि हमारे महान देश को समाधान तक पहुंचाना अभी बहुत महत्‍वपूर्ण है. उन्‍होंने लिखा कि आइए एक साथ खड़े हों और एक बेहतर उज्‍ज्‍वल भविष्‍य की दिशा में आगे बढ़ें. शिखर धवन शायद पहले ऐसे क्रिकेटर या खिलाड़ी हैं, जिन्‍होंने इस पूरे मामले पर आपनी बात खुलकर सामने रखी है.

उधर सचिन तेंदुलकर ने भी अब से कुछ देर पहले ट्विट किया है, सचिन तेंदुलकर ने लिखा है कि भारत की संप्रभता से समझौता नहीं किया जा सकता. देश की बाहर की ताकतें दर्शक हो सकते हैं, लेकिन भागीदार कतई नहीं. मास्‍टर ब्‍लास्‍टर सचिन तेंदुलकर ने आगे लिखा है कि भारतीय नागरिक भारत के बारे में जानते हैं. हम एक राष्‍ट्र के तौर पर एकजुट रहें. 
टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज आरपी सिंह ने लिखा है कि भारत में हमेशा सभी विचारों की एक महान परंपरा है. उन्‍होंने कहा कि हम एक दूसरे से सहमत और असहमत हो सकते हैं, लेकन हमारे आंतरिक मामले में हस्‍तक्षेप करना और कमेंट करना हम कतई पसंद नहीं करते. क्‍योंकि हम शायद ही कभी ऐसा करते हों. इससे पहले प्रज्ञान ओझा ने कहा था कि मेरा देश हमारे किसानों पर गर्व करता है और जानता है कि वो कितने अहम हैं. मुझे यकीन है कि इसे जल्द ही सुलझा लिया जाएगा. हमें हमारे अंदरूनी मामलों में किसी बाहरी शख्स के दखल की जरूरत नहीं है.

इससे पहले केंद्र सरकार की ओर से पास किए गए तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ अब अंतरराष्ट्रीय सेलेब्रिटीज भी उतर आई हैं. अमेरिकी पॉप स्टार रिहाना सहित कई सेलेब्रिटीज के किसान आंदोलन के पक्ष में ट्वीट किए हैं. इस पर विदेश मंत्रालय ने पूरे मामले को बड़ी गंभीरता से लिया है. विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा है कि इस मामले में कुछ भी बोलने से पहले तथ्यों की जांच की जानी चाहिए. मोदी सरकार की ओर से पास किए गए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान दिल्‍ली की सीमाओं पर पिछले करीब ढाई महीने से आंदोलन कर रहे हैं. उनकी मांग है कि सरकार इन कानूनों को वापस ले. कुछ विपक्षी दल भी किसानों के समर्थन में उतर चुके हैं. 

वहीं, अब उनके इस आंदोलन को अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर भी समर्थन मिलने लगा है. जिसका मुंहतोड़ जवाब भारतीयों की ओर से दिया जा रहा है. इस मामले पर विदेश मंत्रालय ने बुधवार को एक बयान जारी करके कहा है, 'सनसनीखेज सोशल मीडिया हैशटैग और कमेंट्स से लुभाने का तरीका, खासकर जब मशहूर हस्तियों और अन्य लोगों द्वारा किया गया हो तो यह न तो सटीक है और न ही जिम्मेदाराना है. विदेश मंत्रालय का यह जवाब तक आया है जब पॉप सिंगर रिहाना, क्‍लाइमेट एक्टिविस्‍ट ग्रेटा थनबर्ग और अमेरिकी उपराष्‍ट्रपति कमला हैरिस की रिश्‍तेदार मीना हैरिस ने किसान आंदोलन को लेकर ट्वीट किए हैं.

First Published : 03 Feb 2021, 08:03:31 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.