News Nation Logo
Banner

... तो सचिन तेंदुलकर नहीं बना पाते पहला दोहरा शतक, जानिए किसने कही ये बात

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले भारत के मास्‍टर ब्‍लास्‍टर सचिन तेंदुलकर ने 24 फरवरी 2010 को वन डे क्रिकेट में एक नया अध्‍याय लिखने का काम किया. यह वह दिन था, जब सचिन तेंदुलकर ने वन डे क्रिकेट के इतिहास में पहली बार दोहरा शतक जड़ा हो.

Sports Desk | Edited By : Pankaj Mishra | Updated on: 17 May 2020, 07:13:08 AM
sachin tendulkar

सचिन तेंदुलकर Sachin Tendulkar (Photo Credit: फाइल फोटो)

New Delhi:

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले भारत के मास्‍टर ब्‍लास्‍टर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने 24 फरवरी 2010 को वन डे क्रिकेट में एक नया अध्‍याय लिखने का काम किया. यह वह दिन था, जब सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने वन डे क्रिकेट के इतिहास में पहली बार दोहरा शतक (First double century in ODIs) जड़ा हो. इस शतक को लगाए दस साल हो गए हैं, लेकिन अभी तक किसी ने भी इस पर सवाल नहीं उठाया था, लेकिन अब दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज डेल स्‍टेन (Dale Steyn) ने बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है. डेल स्‍टेन ने यहां तक कह दिया कि अगर अंपायर सही निर्णय देते तो शायद सचिन का दोहरा शतक पूरा नहीं होता. डेल स्‍टेन ने कहा है कि उन्‍होंने सचिन तेंदुलकर को उस वक्‍त एलबीडब्‍ल्‍यू आउट कर दिया था, जब सचिन 190 रन पर थे. लेकिन अंपायर ने आउट नहीं दिया.

यह भी पढ़ें ः VIDEO : सचिन तेंदुलकर ने युवराज सिंह को दिया चैलेंज, युवी बोले- मर गए

क्रिकेट के इतिहास में करीब चार दशक बाद वन डे में पहला दोहरा शतक लगा था. यह दोहरा शतक किसी और ने नहीं, बल्‍कि सचिन तेंदुलकर ने लगाया था. इससे पहले कभी वन डे क्रिकेट में दोहरा शतक नहीं लगा था. सचिन तेंदुलकर ने 24 फरवरी 2010 को पहला दोहरा शतक लगाया गया था. यह दोहरा शतक मध्‍यप्रदेश के ग्‍वालियर में कैप्‍टन रूपसिंह स्‍टेडियम (Roop Singh Stadium Gwalior) में लगा था. सचिन तेंदुलकर के पहली बार 200 रन बनाने के बाद दुनियाभर के कई खिलाड़ी वन डे में दोहरा शतक लगा चुके हैं.

यह भी पढ़ें ः क्रिस गेल ने साथी क्रिकेटर रामनरेश सरवन से मांगी माफी, यहां जानिए पूरा मामला

रोहित शर्मा एकमात्र ऐसे बल्‍लेबाज हैं, जिन्‍होंने वन डे में तीन बार दोहरा शतक जड़ा है. वन डे इंटरनेशनल में सबसे ज्‍यादा बड़ा स्‍कोर बनाने का रिकार्ड आज भी रोहित शर्मा के ही नाम है. रोहित शर्मा ने साल 2014 में श्रीलंका के खिलाफ 264 रन की पारी खेली थी. इसके बाद दूसरे नंबर पर मार्टिन गुप्‍टिल का नाम आता है, जिन्‍होंने 237 रन की पारी वेस्‍टइंडीज के खिलाफ खेली थी. इसके बाद तीसरे नंबर पर वीरेंद्र सहवाग हैं, वीरू ने साल 2011 में वेस्‍टइंडीज के खिलाफ 219 रन बना दिए थे. इसके बाद वेस्‍टइंडीज के क्रिस गेल ने 215, पाकिस्‍तान के फखर जमा ने 210 रन बनाए हैं. इसके बाद फिर रोहित शर्मा का ही नंबर आता है, जिन्‍होंने साल 2013 में 209 और 2017 में 208 रन की पारी खेली थी. सचिन तेंदुलकर ने 200 रन की नाबाद पारी खेलकर इस रास्‍ते को खोला था, जिस पर अब तक कई बल्‍लेबाज चल चुके हैं.

यह भी पढ़ें ः इंग्लैंड के जेम्‍स एंडरसन ने बताया खाली स्‍टेडियम में होगा मैच तो कैसा होगा

हालांकि अब दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज डेल स्टेन ने दावा किया है कि अंपायर इयान गूड ने 2010 में भारतीय दर्शकों की प्रतिक्रिया के डर से उस समय सचिन तेंदुलकर को जान बूझकर आउट नहीं दिया था, जब वह वनडे क्रिकेट में ऐतिहासिक दोहरे शतक की ओर थे. डेल स्टेन ने कहा कि उस समय सचिन दोहरे शतक से दस रन पीछे थे, जब उन्होंने उसे एलबीडब्‍ल्‍यू आउट कर दिया था, लेकिन मैदानी अंपायर गूड ने ऊंगली नहीं उठाई. उन्होंने इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन के साथ पॉडकास्ट में कहा, सचिन तेंदुलकर ने ग्वालियर में हमारे खिलाफ वनडे क्रिकेट में पहला दोहरा शतक बनाया था. मुझे याद है कि वह 190 के आसपास था तब मैने उसे आउट कर दिया था. इयान गूड अंपायर थे और उन्होंने उसे नाटआउट दिया था. उन्होंने कहा, मैने उनसे पूछा कि आउट क्यों नहीं दिया तो उनका इशारा यह था कि आसपास देखो, उसे आउट दे दिया तो होटल वापस नहीं जा सकूंगा.

(इनपुट भाषा)

First Published : 17 May 2020, 07:13:08 AM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.