News Nation Logo

रविंद्र जडेजा बोले, रातों की नींद हराम थी, फिर साल 2018 ने सब कुछ बदल दिया

भारतीय आलराउंडर रवींद्र जडेजा ने कहा है कि 2018 में मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ पांचवें टेस्ट ने उनके लिए सबकुछ बदल कर रख दिया. उन्होंने कहा उस टेस्ट में किए गए प्रदर्शन से उन्हें काफी आत्मविश्वास मिला क्योंकि उन दिनों वह अपने करियर में संघर्ष कर रहे थे

IANS | Updated on: 30 May 2021, 02:46:25 PM
ravindra jadeja says 5th Test in England in 2018 changed everything for me

ravindra jadeja says 5th Test in England in 2018 changed everything fo (Photo Credit: ians)

नई दिल्ली :

भारतीय आलराउंडर रवींद्र जडेजा ने कहा है कि 2018 में मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ पांचवें टेस्ट ने उनके लिए सबकुछ बदल कर रख दिया. उन्होंने कहा उस टेस्ट में किए गए प्रदर्शन से उन्हें काफी आत्मविश्वास मिला क्योंकि उन दिनों वह अपने करियर में संघर्ष कर रहे थे. वे भारतीय टीम में तीनों फॉर्मेट में जगह बनाने के लिए जूझ रहे थे. 2018 में ओवल में पांचवें टेस्ट के दौरान भारतीय टीम इंग्लैंड की ओर से पहली पारी में बनाए गए 332 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रही थी और एक समय तक उसने 160 रन तक अपने छह विकेट गंवा दिए थे. उसके बाद रवींद्र जडेजा आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करने के लिए उतरे थे. उन्होंने 156 गेंदों पर 86 रनों की नाबाद पारी खेलकर भारत को संकट से बाहर निकाला.

यह भी पढ़ें : IPL 2021 New Schedule : BCCI ने क्यों नहीं किया पूरे शेड्यूल का ऐलान, जानिए कारण 

अब रवींद्र जडेजा ने इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए कहा है कि उस टेस्ट ने मेरे लिए सब कुछ बदल दिया. पूरा खेल. मेरा प्रदर्शन, मेरा आत्मविश्वास, सब कुछ. जब आप सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आक्रमण के खिलाफ अंग्रेजी परिस्थितियों में स्कोर करते हैं, तो यह आपके आत्मविश्वास को बहुत प्रभावित करता है. यह आपको महसूस कराता है कि आपकी तकनीक दुनिया में कहीं भी स्कोर करने के लिए काफी अच्छी है. बाद में हार्दिक पांड्या चोटिल हो गए और मैंने वनडे में वापसी की. तब से मेरा खेल अच्छा चल रहा है. रवींद्र जडेजा आलराउंडर ने भारतीय टीम से बाहर रहने के दिनों को याद करते हुए कहा कि ईमानदारी से कहूं तो वो डेढ़ साल रातों की नींद हराम कर दिया था. उस दौर में मुझे याद है कि मैं सुबह 4-5 बजे तक उठ जाता था. मैं सोच रहा था कि क्या करूं, मैं वापसी कैसे करूं? मैं सो नहीं सका. मैं लेटा रहता था, लेकिन जगा ही रहता.

यह भी पढ़ें : कीर्तिमानों के पहाड़ पर बैठे सचिन तेंदुलकर को दो काम न कर पाने का मलाल, जानिए क्या 

रवींद्र्र जडेजा ने आगे कहा कि मैं टेस्ट टीम में था, लेकिन खेल नहीं रहा था. मैं वनडे नहीं खेल रहा था. मैं घरेलू क्रिकेट भी नहीं खेल रहा था, क्योंकि मैं भारतीय टीम के साथ यात्रा कर रहा था. मुझे खुद को साबित करने का कोई मौका नहीं मिल रहा था. मैं सोचता रहता था कि मैं कैसे वापसी करूंगा. रवींद्र जडेजा ने भारत के लिए अब 51 टेस्ट, 168 वनडे और 50 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं. 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 30 May 2021, 02:46:25 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Ravindra Jadeja