News Nation Logo

राजस्‍थान में क्रिकेट की पिच पर सियासी संग्राम, चार अक्‍टूबर को होगी वोटिंग

राजस्थान क्रिकेट संघ (RCA) चुनाव की तस्वीर सोमवार देर रात आखिरकार साफ हो ही गई. दिन भर सुनवाई के बाद चुनाव अधिकारी आरआर रश्मि ने देर रात वोटर लिस्ट जारी की.

लाल सिंह फौजदार | Edited By : Pankaj Mishra | Updated on: 01 Oct 2019, 10:07:44 AM
प्रतीकात्‍मक फोटो

जयपुर:  

राजस्थान क्रिकेट संघ (RCA) चुनाव की तस्वीर सोमवार देर रात आखिरकार साफ हो ही गई. दिन भर सुनवाई के बाद चुनाव अधिकारी आरआर रश्मि ने देर रात वोटर लिस्ट जारी की. इस वोटर लिस्ट में जहां मुख्यमंत्री के बेटे और जोधपुर से सांसद का चुनाव लड़ चुके वैभव गहलोत के लिए आरसीए अध्यक्ष बनने का रास्ता साफ हो गया है, वहीं पूर्व नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी का पत्ता कट चुका है. 

यह भी पढ़ें ः लाइव क्रिकेट में पाकिस्‍तान ने खुद कराई बेइज्‍जती, मैच रोकना पड़ा और खिलाड़ी करते रहे इंतजार

अब कल यानी मंगलवार से नामांकन भरने का काम शुरू होगा. बुधवार दोपहर तक नामांकन भरे जा सकेंगे. इसके बाद चुनाव के लिए वोटिंग चार अक्टूबर को होगी.
वोटर लिस्ट में नांदू गुट या पूर्व में ललित मोदी गुट के तीन जिलों अलवर, नागौर और श्रीगंगानगर जिलों को अयोग्य ठहराया दिया गया है. इन जिला संघों में दोनों गुट में से किसी को भी मान्यता नहीं दी गई है. ऐसे में अध्यक्ष पद के लिए दावेदारी जता चुके पूर्व नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी का पत्ता भी कट गया है, क्योंकि वे नागौर जिला क्रिकेट संघ से प्रतिनिधित्व कर रहे थे. वहीं राजसमंद जिला क्रिकेट संघ से कोषाध्यक्ष के रूप में वैभव गहलोत प्रतिनिधित्व कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें ः इस बल्‍लेबाज ने भारतीय कप्‍तान विराट कोहली को छोड़ा पीछे, टीम को भी जिताया

एक महीने से आरसीए चुनाव को लेकर जो गर्माहट का दौर चला रहा है, अभी बरकरार है. पहले दो चुनाव अधिकारियों का बदलना और अब तीसरे चुनाव अधिकारी द्वारा आपत्तियों के साथ ही वोटर लिस्ट पर आपत्तियों की शांतिपूर्ण तरीके से सुनवाई के बाद कयास लगाए जा रहे थे कि आरसीए के चुनाव 4 अक्टूबर को संपन्न हो जाएंगे. जो अब सही साबित होते हुए दिख रहे हैं. हालांकि इससे पहले दोनों पक्षों की ओर से आरोप प्रत्‍यारोप का दौर खूब चला.

यह भी पढ़ें ः वीवीएस लक्ष्मण बोले, मुझे भी पारी की शुरुआत करने के लिए भेजा गया था, लेकिन

कवायदों के बाद अब आने वाले तीन दिन आरसीए पर राजनीति की दृष्टि से काफी भारी नजर आ रहे हैं. आरसीए का चुनावी ऊंट किस करवट बैठेगा यह तो वक्त ही बताएगा, लेकिन उससे पहले जो आरोप और प्रत्यारोप का दौर शुरू हुआ है. यह कहां जाकर रुकेगा इस पर भी अब सबकी नजरें टिकी हुई हैं.

First Published : 01 Oct 2019, 10:07:44 AM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.