News Nation Logo
Banner

आज ही के दिन 57 साल पहले शुरू हुआ था वनडे क्रिकेट, इसी फॉर्मेट ने तेंदुलकर को बनाया भगवान

पहला वनडे मैच आज की तरह 50 ओवरों का नहीं बल्कि 65 ओवरों का था जिसमें लंकाशर के पीटर मार्नर शतक जड़ने वाले पहले बल्लेबाज बने थे.

Bhasha | Edited By : Sunil Chaurasia | Updated on: 01 May 2020, 02:11:52 PM
sachin tendulkar

सचिन तेंदुलकर (Photo Credit: espncricinfo)

नई दिल्ली:  

मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर आज से ठीक 57 साल पहले सीमित ओवरों की क्रिकेट का आगाज हुआ था जिसमें बाद में भारतीय बल्लेबाजों विशेषकर सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली ने अपनी विशेष छाप छोड़ी. क्रिकेट से नये दर्शकों को जोड़ने की कवायद में इंग्लैंड ने इस नये प्रारूप की शुरुआत की थी जिसका पहला मैच लंकाशर और लीस्टरशर के बीच एक मई 1963 को खेला गया था. यह मैच बारिश से प्रभावित रहा और दूसरे दिन (रिजर्व डे) इसका परिणाम निकल पाया था. यह मैच आज की तरह 50 ओवरों का नहीं बल्कि 65 ओवरों का था जिसमें लंकाशर के पीटर मार्नर शतक जड़ने वाले पहले बल्लेबाज बने थे.

ये भी पढ़ें- IPL इतिहास के 5 सबसे घटिया गेंदबाज, 4 भारतीय शामिल.. पानी की तरह बहाए थे रन

ब्रायन स्टैथम (28 रन देकर दो विकेट) की शानदार गेंदबाजी से लंकाशर ने 101 रन से जीत दर्ज की थी. क्रिकेट के इस नये प्रारूप को लिस्ट ए और इसके अंतरराष्ट्रीय स्वरूप को एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय (वनडे) नाम मिला. कुछ ने इसे फटाफट क्रिकेट कहा तो आलोचकों ने ‘पाजामा क्रिकेट’ कहकर इसकी आलोचना की. बाद में क्रिकेट में इससे भी छोटा प्रारूप टी20 जुड़ा. लिस्ट ए क्रिकेट ने इसके बाद लंबा रास्ता तय किया. इसकी बदौलत क्रिकेट में भी विश्व कप का आयोजन हो पाया जबकि कुछ क्रिकेटरों को अपना खास पराक्रम दिखाने का मौका मिला.

ये भी पढ़ें- खेल मंत्री ने कहा, ओलंपिक में ज्यादा पदक चाहिए तो तैराकी पर ध्यान लगाने की जरूरत

सीमित ओवरों की क्रिकेट की बदौलत ही तेंदुलकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 100 शतक पूरा कर पाये. तेंदुलकर ने वनडे में 49 शतकों की मदद से 18426 रन बनाये हैं. वह लिस्ट ए में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में ग्राहम गूच (22211) और ग्रीम हिक (22059) के बाद तीसरे नंबर पर हैं. तेंदुलकर ने लिस्ट ए में 21999 रन बनाये हैं जिसमें 60 शतक शामिल हैं जो कि विश्व रिकार्ड है. शतकों के मामले में तेंदुलकर के रिकार्ड को कोहली तोड़ सकते हैं जिनके नाम पर 47 शतक दर्ज हैं. कोहली ने अभी तक लिस्ट ए में 282 मैच खेलकर 13309 रन बनाये हैं. हिक ने सर्वाधिक 651 जबकि गूच ने 613 मैच खेले हैं. कुल 14 खिलाड़ियों ने 500 या इससे अधिक लिस्ट ए मैच खेले हैं जिनमें तेंदुलकर (551) भी शामिल हैं.

ये भी पढ़ें- कोरोना महामारी के कारण इंग्लैंड क्रिकेट का ‘हंड्रेड’ टूर्नामेंट एक साल के लिये टला

रोहित शर्मा ने वनडे में भले ही सर्वोच्च स्कोर बनाया लेकिन लिस्ट ए में यह रिकार्ड इंग्लैंड के एलिस्टेयर ब्राउन के नाम पर है जिन्होंने 2002 में सर्रे की तरफ से ग्लोमोर्गन के खिलाफ ओवल में 268 रन बनाये थे. रोहित का श्रीलंका के खिलाफ कोलकाता में बनाया गया 264 रन का स्कोर इस सूची में दूसरे स्थान पर है. लिस्ट ए में सर्वाधिक विकेट पाकिस्तान के वसीम अकरम (881) के नाम पर दर्ज हैं लेकिन एक मैच में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन का रिकार्ड एक भारतीय शाहबाज नदीम के नाम पर है. उन्होंने 2018-19 के सत्र में झारखंड की तरफ से राजस्थान के खिलाफ दस रन देकर आठ विकेट लिये थे.

ये भी पढ़ें- केन विलियम्सन और सुजी बेट्स चुने गए न्यूजीलैंड के सर्वश्रेष्ठ वनडे क्रिकेटर, रॉस टेलर को टी20 अवॉर्ड

नदीम ने एक अन्य भारतीय राहुल सिंघवी (15 रन देकर आठ विकेट, दिल्ली बनाम हिमाचल प्रदेश, ऊना 1997-98)) का रिकार्ड तोड़ा था. अनिल कुंबले (514) वैसे लिस्ट ए में सर्वाधिक विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाज हैं. एक अन्य पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने इस प्रारूप में सर्वाधिक स्टंप (141) का विश्व रिकार्ड बनाया है. विकेटकीपर के रूप में सर्वाधिक शिकार हालांकि इंग्लैंड के स्टीव रोड्स (661) के नाम दर्ज हैं. लिस्ट ए में अभी तक कोई टीम 500 रन नहीं बना पायी है. सर्वोच्च स्कोर का रिकार्ड सर्रे के नाम पर है जिसने 2007 में ग्लूस्टरशर के खिलाफ ओवल में 496 रन बनाये थे.

First Published : 01 May 2020, 02:11:52 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.