News Nation Logo

कप्तानी छोड़ने के बाद पहली बार मीडिया के सामने आए धोनी, कहा- विराट कोहली की टीम इतिहास रचेगी

धोनी ने कहा कि वह कभी अपने बाल नहीं बढ़ाएंगे। धोनी ने अपने कप्तानी करियर पर कहा कि उनके लिए यह सफर काफी उतार-चढ़ाव वाला रहा।

News Nation Bureau | Edited By : Vineet Kumar | Updated on: 13 Jan 2017, 04:33:17 PM
फाइल फोटो

नई दिल्ली:  

वनडे और टी20 की कप्तानी छोड़ने के बाद अब अपने पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि वह कप्तानी छोड़ने के सही समय का इंतजार कर रहे थे। साथ ही धोनी ने कहा कि वह चाहते थे कि पहले विराट कोहली टेस्ट में बतौर कप्तान खुद को ढाल लें।

धोनी ने कहा कि मौजूदा टीम में तीनों फॉर्मेट में सफलता हासिल करने की पूरी क्षमता है और कोहली के साथ उनके बहुत अच्छे संबंध हैं। धोनी ने कोहली की कप्तानी की भी प्रशंसा की और कहा कि वह जरूरत पड़ने पर अपना सुझाव मैदान पर देते रहेंगे। धोनी ने भरोसा जताया कि कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया उनसे भी बेहतर प्रदर्शन करेगी और ज्यादा मैच जीतने में कामयाब होगी।

धोनी इंग्लैंड के खिलाफ 15 जनवरी से शुरू हो रहे तीन वनडे मैचों की वनडे सीरीज से पहले मीडिया से बात कर रहे थे। पत्रकारों ने उनसे कोहली के रिश्ते से लेकर, भविष्य में बाल बढ़ाने और टीम इंडिया में उनके रोल पर कई सवाल किए।

धोनी ने कहा कि वह कभी अपने बाल नहीं बढ़ाएंगे। धोनी ने अपने कप्तानी करियर पर कहा कि उनके लिए यह सफर काफी उतार-चढ़ाव वाला रहा। बकौल धोनी, जब मैंने शुरुआत की थी तो टीम में कई सीनियर खिलाड़ी थे और हमें यह सुनिश्चित करना था टीम में बदलाव स्मूथ हो।

कोहली से हमेशा रहे करीबी रिश्ते

धोनी कहा- 'कोहली और हमारे बीच का रिश्ता बहुत करीब का रहा है। वह जब टीम में नहीं थे तो भी वह कभी चिंतित नहीं हुए लेकिन जब भी उन्हें मौका मिला है वह टीम में अपना योगदान देने चाहते हैं। अब मेरा रोल यह होगा कि मैं कोहली को टीम में सहयोग दूं। एक विकेटकीपर के तौर पर मैं गेम पर नजर रखूंगा और अपनी राय देता रहूंगा। विराट कोहली की टीम इंडियन क्रिकेट में नया इतिहास रचेगी।'

यह भी पढ़ें: कोहली का खुलासा, 'धोनी ने मुझे कई बार टीम इंडिया से बाहर होने से बचाया'

साथ ही धोनी ने कोहली की तारीफ करते हुए कहा, 'विराट में खुद को इम्प्रोवाइज करने की जो आदत है, वो उन्हें काफी अलग बनाती है।' 

जहां टीम बल्लेबाजी के लिए बोलेगी, करूंगा

धोनी ने कहा कि वह पहले क्रम में नीचे बल्लेबाजी करना चाहते थे क्योंकि उन्हें लगता था कि वह वहां बेहतर योगदान कर सकते हैं। हालांकि, टीम जहां चाहेगी वह वहां बैटिंग करने को तैयार हैं।

धोनी ने कहा, 'क्रिकेट में काफी कुछ बदल गया है। पहले मैंने नीचे बैटिंग की। फिर मैं ऊपर बैटिंग करने लगा। फिर ऊपर जब बैट्समैन अच्छा करने लगे तो लोअर ऑर्डर में अच्छे फिनिशर की जरूरत थी। इसलिए टीम की जरूरत के हिसाब से मैंने बैटिंग ऑर्डर तय करना शुरू कर दिया।'

First Published : 13 Jan 2017, 03:25:00 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.