News Nation Logo

अनुच्‍छेद 370 हटने के बाद से जम्‍मू-कश्‍मीर की क्रिकेट टीम लापता

जम्‍मू कश्‍मीर में अनुच्‍छेद 370 के हटने के बाद से हल्‍का तनाव बना हुआ है. पुलिस प्रशासन की ओर से लगातार इस पर नियंत्रण के प्रयास किए जा रहे हैं, काफी हद तक इसमें सफलता मिल भी रही है.

By : Pankaj Mishra | Updated on: 20 Aug 2019, 10:38:13 AM
परवेज रसूल का फाइल फोटो

परवेज रसूल का फाइल फोटो

नई दिल्‍ली:

जम्‍मू कश्‍मीर में अनुच्‍छेद 370 के हटने के बाद से हल्‍का तनाव बना हुआ है. पुलिस प्रशासन की ओर से लगातार इस पर नियंत्रण के प्रयास किए जा रहे हैं, काफी हद तक इसमें सफलता मिल भी रही है. इस बीच सूचना आ रही है कि अनुच्‍छेद 370 के हटने के बाद से जम्‍मू कश्‍मीर की पूरी क्रिकेट टीम लापता हो गई हैं, वहीं बल्‍लेबाज परवेज रसूल का भी कोई पता नहीं लग पा रहा है. इस घटनाक्रम के बाद जम्‍मू कश्‍मीर की टीम पर विज्‍जी ट्रॉफी से बाहर होने का खतरा मंडराने लगा है. यह प्रतियोगिता विशाखापत्‍तनम में होगी. 

यह भी पढ़ें ः Video: ट्रायल में फिसड्डी साबित हुए मध्य प्रदेश के रामेश्वर गुर्जर, खेल मंत्री ने ट्वीट कर कही ये बड़ी बात

जम्‍मू कश्‍मीर में इस वक्‍त संचार सेवाएं बंद हैं. हालांकि कुछ जगहों पर मोबाइल और इंटरनेट की सेवा बहाल कर दी गई है, इससे लोग एक दूसरे से संपर्क कर रहे हैं. वहीं दूसरी ओर सूचना आ रही है कि जम्‍मू कश्‍मीर क्रिकेट टीम का कोई पता नहीं है. यहां तक की जम्‍मू कश्‍मीर क्रिकेट एसोसिएशन (JKCA) का भी खिलाड़ियों से संपर्क टूट गया है. जम्‍मू कश्‍मीर क्रिकेट एसोसिएशन के सीईओ शाह बुखारी ने बताया कि उन्‍हें खिलाड़ियों से संपर्क करने में दिक्‍कत पेश आ रही है. संचार सेवा बाधित होने के चलते बात नहीं हो पा रही है. टीम के कप्‍तान परवेज रसूल की भी कोई जानकारी नहीं मिल पा रही है. इस पूरे प्रकरण से टीम के विज्‍जी ट्रॉफी खेलने की संभावना भी कम होती जा रही है. बुखारी ने कहा कि संपर्क न हो पाने के चलते यह परेशानी आ रही है.

यह भी पढ़ें ः एक ही तस्‍वीर में देखिए सचिन का बचपन से लेकर संन्‍यास लेने तक का सफर

बुखारी का कहना है कि खिलाड़ियों के फोन नंबर के अलावा उनके घर का पता भी उनके पास है, लेकिन वे उनके घर किसी को नहीं भेज सकते. धारा 370 हटने के बाद से जम्‍मू कश्‍मीर में हालात कुछ खराब हुए हैं, अगर किसी को खिलाड़ियों के घर भेजा जाता है तो पता नहीं वहां का माहौल कैसा है, ऐसे में वे कोई खतरा मोल लेना नहीं चाहते. विज्‍जी ट्रॉफी टूर्नामेंट बीसीसीआई का नहीं, बल्‍कि स्‍थानीय है, इसलिए टीम अगर इसमें हिस्‍सा नहीं भी लेगी तो कोई दिक्‍कत की बात नहीं है.

First Published : 20 Aug 2019, 10:38:13 AM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×