News Nation Logo
Banner

IND vs AUS: स्लेजिंग पर बोले विराट कोहली, बिना विवाद के खेलने पर ज्यादा खुश

कोहली ने टीम की रवानगी से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘मुझे लगता कि यह (छींटाकशी नहीं की नीति) निजी मामला है लेकिन जब मैदान पर बहस में शामिल होने या जिसे लोग झगड़ा नाम दे देते हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Vineet Kumar1 | Updated on: 15 Nov 2018, 09:17:06 PM
भारतीय कप्तान विराट कोहली (ANI)

नई दिल्ली:  

ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को छींटाकशी नहीं करने की नसीहत से भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) को भी अच्छा महसूस हो रहा है और उन्हें खुशी है कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी सीरीज में एक दूसरे पर फब्तियां कसने के कारण होने वाले विवाद नहीं होंगे. पूर्व के क्रिकेटरों की किसी भी कीमत पर जीत दर्ज करने की नीति को बढ़ावा नहीं दिया जा रहा है. कोहली और सीनियर पेसर इशांत शर्मा (Ishant Sharma) का मानना है कि यह पूरी तरह से ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों पर निर्भर करता है कि वे किस तरह खेलना चाहते हैं. उन्होंने आश्वासन दिया कि उनके खिलाड़ी छींटाकशी के मामले में अपनी तरफ से पहल नहीं करेंगे.

कोहली ने टीम की रवानगी से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘मुझे लगता कि यह (छींटाकशी नहीं की नीति) निजी मामला है लेकिन जब मैदान पर बहस में शामिल होने या जिसे लोग झगड़ा नाम दे देते हैं, उसकी बात है तो मुझे इस तरह की किसी कहासुनी के बिना खेलना अच्छा लगेगा.’

और पढ़ें: IND vs AUS: टी-20 में ऑस्ट्रेलियाई कंगारूओं पर भारी रही है विराट सेना, देखें आंकड़े 

कोहली की एक समय उनके आक्रामक व्यवहार के कारण आलोचना झेलनी पड़ती थी लेकिन उन्होंने कहा कि वह अपने करियर के उस दौर से निकल चुके हैं और एक व्यक्ति के रूप में अधिक परिपक्व हो गए हैं.

उन्होंने कहा, ‘मैं खुद की स्थिति से खुश हूं. मुझे निजी तौर पर अब इस बारे में सोचने की जरूरत नहीं है. मेरे कहने का मतलब है कि मुझे अपनी क्षमताओं पर पूरा भरोसा है. मैं बिना किसी प्रेरणा के खेल सकता हूं. अपने करियर के शुरुआती वर्षों के दौरान मुझे जो अहसास होता था, वे बेहद अपरिपक्व चीजें थी.’

और पढ़ें: ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी IPL 2019 बीच में छोड़ चले जाएंगे अपने देश, जाने क्यों

इशांत ने कहा कि अगर ऑस्ट्रेलियाई पहले की तरह छींटाकशी करते हैं तो उन्हें दिक्कत नहीं होगी. उन्होंने कहा, ‘देखते हैं कि ऑस्ट्रेलियाई क्या करते हैं. वहां पहुंचने के बाद ही पता चलेगा. आप उनसे मित्रवत व्यवहार की उम्मीद नहीं कर सकते. आपको वहां कड़ी परिस्थितियां मिलती हैं. जब आप अपने देश के लिए खेल रहे हो तो कोई भी आपको आसानी से रन या विकेट नहीं देता है. यह कड़ा खेल है और आपको भी किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार रहना होगा.’

First Published : 15 Nov 2018, 09:10:20 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.