News Nation Logo

सरकार ने दल तैयार करने के लिए खजाना खोला, भारत व विदेशों में लगाए शिविर

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 23 Jul 2022, 04:20:01 PM
Govt break

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली:   टोक्यो ओलंपिक विभिन्न विषयों में और राष्ट्रमंडल खेलों और एशियाई खेलों पर ध्यान देने के साथ देशभर में विभिन्न साई राष्ट्रीय उत्कृष्टता केंद्रों (एनसीओई) और विदेशी स्थानों पर भी कई शिविर आयोजित किए हैं।

जिन एथलीटों को भारत के बाहर प्रशिक्षण की जरूरत थी, उन्हें विदेशी स्थानों में रहने की सुविधा दी गई। ओलंपिक खेलों के बाद प्रशिक्षण पर लौटने के बाद से भाला फेंकने वाला नीरज चोपड़ा चुला विस्टा (यूएस), अंताल्या (तुर्की) और फिनलैंड में प्रशिक्षण ले रहे हैं।

ओलंपिक पदक विजेता भारोत्तोलक मीराबाई चानू ने सेंट लुइस (यूएसए) में समय बिताया, विशेषज्ञ कोच डॉ. आरोन हॉर्शिग के साथ प्रशिक्षण। स्टीपलचेजर अविनाश सेबल और अन्य मध्यम दूरी और लंबी दूरी के धावक अंतरराष्ट्रीय कोच स्कॉट सिमंस के साथ अमेरिका में भी कोलोराडो स्प्रिंग्स में प्रशिक्षण ले रहे हैं। साइक्लिंग टीम तीन महीने से स्लोवेनिया और पुर्तगाल में कैंप कर रही है।

एक सरकारी बयान में कहा गया है : 15 खेल विषयों के लिए 111 से अधिक एक्सपोजर ट्रिप स्वीकृत किए गए थे जो राष्ट्रमंडल खेलों का हिस्सा हैं। हॉकी टीमों ने प्रो लीग, विश्व कप (महिला) और एशिया कप (पुरुष) खेला। बैडमिंटन टीमों ने 26 टूर्नामेंट खेले हैं। कुश्ती टीमों ने पांच टूर्नामेंट में भाग लिया है।

टेबल टेनिस खिलाड़ियों को आठ टूर्नामेंटों में प्रतिस्पर्धा करने के लिए समर्थन दिया गया है। तैराकों श्रीहरि नटराज और साजन प्रकाश को चार स्पर्धाओं में प्रतिस्पर्धा करने के लिए समर्थन दिया गया था। जूडो टीमों ने यूरोप में प्रतिस्पर्धा की।

शिविर पर खर्च की गई राशि का विवरण देते हुए बयान में प्रशिक्षण शिविरों की अवधि और खर्च किए गए धन के बारे में ये विवरण प्रस्तुत किए गए : एथलेटिक्स : 259 दिन, 7.84 करोड़ रुपये, कुश्ती : 157 दिन, 5.27 करोड़ रुपये, बॉक्सिंग : 216 दिन, 4 करोड़ रुपये, भारोत्तोलन : 1.92 करोड़ रुपये, हॉकी : 3.15 करोड़ रुपये।

बयान में कहा गया है, एथलीट, जिन्हें भारत के बाहर प्रशिक्षण की जरूरत थी, उन्हें विदेशी स्थानों पर रहने की सुविधा दी गई थी, सरकार द्वारा वहन किए जाने वाले अतिरिक्त खर्चो को सूचीबद्ध करते हुए : भारोत्तोलन उपकरण : 4.68 करोड़ रुपये, जीपीएस और वीडियो विश्लेषण सॉफ्टवेयर सहित हॉकी सहायता : 2.86 करोड़ रुपये, बॉक्सिंग उपकरण : 1.19 करोड़ रुपये, कुश्ती, ताकत और कंडीशनिंग उपकरण : 1.18 करोड़ रुपये।

बयान में कहा गया है, केंद्रीय बजट में खेलों के लिए आवंटन राशि भी बढ़ा दी गई है। 2021-2022 में 2757.02 करोड़ रुपये थे, जिसे 2022-23 के लिए बढ़ाकर 3,062.60 करोड़ रुपये कर दिया गया है। यह 305.58 करोड़ रुपये की वृद्धि है।

ऐसा लगता है कि सरकार ने एथलीटों की तैयारी के लिए खजाना खोल दिया है और अब खिलाड़ियों को बर्मिघम में 28 जुलाई से शुरू होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों से शुरुआत करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्पर्धाओं में बहुत सारे पदक हासिल करने होंगे और फिर एशियाड और ओलिंपिक में आगे बढ़ेंगे।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 23 Jul 2022, 04:20:01 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.