News Nation Logo
Banner

दिनेश कार्तिक ने खुद ही मारी पैरों पर कुल्हाड़ी, किस्मत अच्छी थी BCCI ने कर दिया माफ

बीसीसीआई के नोटिस पर दिनेश कार्तिक ने बिना शर्त माफी मांगते हुए जवाब दिया. दिनेश कार्तिक ने अपने जवाब में बताया कि वे ट्रिनबैगो नाइटराइडर्स के कोच ब्रैंडन मैक्कुलम के कहने पर सीपीएल में शामिल हुए थे.

By : Sunil Chaurasia | Updated on: 17 Sep 2019, 06:01:33 PM
फाइल फोटो- दिनेश कार्तिक

फाइल फोटो- दिनेश कार्तिक

नई दिल्ली:

टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक को बिना अनुमति कैरेबियन प्रीमियर लीग (CPL) में शामिल होने के मामले में बीसीसीआई ने उन्हें माफ कर दिया है. बता दें कि दिनेश कार्तिक वेस्टइंडीज में जारी CPL 2019 के एक मैच में ट्रिनबैगो नाइटराइडर्स के ड्रेसिंग रूम में देखा गया था. इस दौरान दिनेश कार्तिक ने ट्रिनबैगो नाइटराइडर्स की जर्सी पहनकर मैच का लुत्फ उठा रहे थे. इसी मामले में बीसीसीआई ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी कर पूछा था, ''आपका केंद्रीय अनुबंध रद्द क्यों नहीं किया जाना चाहिए?''

ये भी पढ़ें- कुत्ते से कटवाया गया संदिग्ध रेपिस्ट का प्राइवेट पार्ट, मॉब लिंचिंग का ये मामला जान कांप जाएगी रूह

बीसीसीआई के नोटिस पर दिनेश कार्तिक ने बिना शर्त माफी मांगते हुए जवाब दिया. दिनेश कार्तिक ने अपने जवाब में बताया कि वे ट्रिनबैगो नाइटराइडर्स के कोच ब्रैंडन मैक्कुलम के कहने पर सीपीएल में शामिल हुए थे. कार्तिक ने बीसीसीआई को दिए गए जवाब में लिखा, ''मैं बीसीसीआई से अनुमति नहीं लेने के लिए बिना शर्त माफी मांगता हूं. मैंने न तो ट्रिनबैगो से संबंधित गतिविधियों में हिस्सा लिया है और न ही उसके लिए कोई भूमिका निभाई.'' इसके साथ ही उन्होंने बीसीसीआई से वादा किया कि भारत लौटने तक वे यहां किसी भी मैच में टीम के ड्रेसिंग रूम में नहीं जाएंगे.

ये भी पढ़ें- पराये मर्द के साथ शादीशुदा महिला ने बनाए शारीरिक संबंध, फिर दोस्त ने भी बनाया हवस का शिकार और एक दिन...

बताते चलें कि कैरेबियन प्रीमियर लीग में हिस्सा लेने वाली टीम ट्रिनबैगो नाइटराइडर्स के मालिक शाहरुख खान हैं और आईपीएल में दिनेश कार्तिक उनकी टीम कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान हैं. इस पूरे मामले में बीसीसीआई के एक अधिकारी ने बताया, ''हमें कुछ फोटोग्राफ्स मिले थे, जिसमें कार्तिक ट्रिनबैगो नाइट राइडर्स टीम के ड्रेसिंग रूम में नजर आ रहे हैं. इसके बाद बीसीसीआई सीईओ राहुल जौहरी ने उन्हें नोटिस जारी करते हुए उनसे पूछा है कि उनका केंद्रीय अनुबंध रद्द क्यों नहीं किया जाना चाहिए?''

First Published : 17 Sep 2019, 06:01:33 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो