News Nation Logo
Banner

भुवनेश्वर की चोट ने खोली पोल-पट्टी, बुमराह-पांड्या ने एनसीए जाने से किया मना

भुवनेश्वर कुमार की चोट ने एक बार फिर 'भानुमती के पिटारे' को खोल दिया है. अब ऐसी खबरें हैं कि हार्दिक पांड्या और जसप्रीत बुमराह ने भी रीहैब के लिए एनसीए जाने से मना कर दिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 14 Dec 2019, 07:33:22 PM
बुमराह-पांज्या ने एनसीए जाने से किया इंकार.

बुमराह-पांज्या ने एनसीए जाने से किया इंकार. (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

highlights

  • राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में काम कर रहे विशेषज्ञों की योग्यता पर सवाल.
  • एनसीए की टीम भुवनेश्वर कुमार की चोट को समझ पाने में असफल रही.
  • हार्दिक पांड्या और जसप्रीत बुमराह का रीहैब के लिए एनसीए जाने से इंकार.

New Delhi:

भुवनेश्वर कुमार की चोट ने एक बार फिर 'भानुमती के पिटारे' को खोल दिया है. इस चोट ने राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में काम कर रहे विशेषज्ञों की योग्यता पर सवाल खड़े कर दिए हैं, क्योंकि उन्होंने भुवनेश्वर को क्लीन चिट दे दी थी. अब ऐसी खबरें हैं कि हार्दिक पांड्या और जसप्रीत बुमराह ने भी रीहैब के लिए एनसीए जाने से मना कर दिया है. प्रोटोकॉल के मुताबिक अनुबंधित खिलाड़ियों को रीहैब के लिए एनसीए जाना पड़ता है, लेकिन पांड्या और बुमराह ने साफ कर दिया है कि वह बेंगलुरू नहीं जाएंगे.

यह भी पढ़ेंः फारुक अब्दुल्ला की हिरासत तीन महीने के लिए और बढ़ाई गई

एनसीए जाने से साफ इंकार
अधिकारी ने कहा, 'पांड्या और बुमराह दोनों ने टीम मैनेजमेंट से साफ कह दिया है कि वह रीहैब के लिए अकादमी नहीं जाएंगे और इसलिए योगेश परमार पांड्या पर नजर बनाए हुए हैं, जबकि नितिन पटेल ने बुमराह पर कड़ी नजर रखी है. हां, यह लोग अनुबंधित खिलाड़ी हैं और उन्हें एनसीए में होना चाहिए था, लेकिन जोखिम ज्यादा है और खिलाड़ी चोटों को लेकर गंभीर हैं. इसलिए एक समय के बाद आपको खिलाड़ियों को आजादी देनी होती है कि वह अपने हित को लेकर फैसले ले सकें.'

यह भी पढ़ेंः बड़ी खबर: जनता पर महंगाई की एक और मार, मदर डेयरी ने बढ़ाये दूध के दाम

भुवनेश्वर की चोट समझने में असफल रहा एनसीए
भुवनेश्वर को हार्निया की शिकायत है. यह गेंदबाज विश्व कप के बाद से एनसीए से अंदर-बाहर होते रहे हैं क्योंकि उनकी कोशिश 100 फीसदी फिट होने की है. ऐसे में एनसीए की टीम उनकी चोट को समझ पाने में असफल रही है और राष्ट्रीय टीम से दो मैच खेलने के बाद ही एक बार फिर वह चोटिल हो गए हैं. अधिकारी ने कहा, 'वह तीन महीने तक एनसीए में थे और बेंगलुरू में उनके कितने टेस्ट हुए, इसमें जाने के बजाए मैं यह कह सकता हूं कि उनकी सभी तरह से जांच कर ली गई थी, लेकिन उनका हार्निया ठीक नहीं हुआ, जैसे ही मुंबई में दोबारा उनकी जांच की गई यह सामने आ गया.'

यह भी पढ़ेंः राहुल गांधी की हुंकार को शिवसेना की ललकार, संजय राउत बोले सावरकर पूरे देश का वरदान

रिद्धिमान साहा का भी उदाहरण सामने
उन्होंने कहा, 'ऐसा पहली बार नहीं है कि खिलाड़ी को एनसीए में इस तरह की परेशानी हुई हो. रिद्धिमान साहा का भी एक उदाहरण हमारे सामने है और अब वह न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज में नहीं खेल पाएंगे, हम सब जानते हैं कि वह टीम में क्या लेकर आते हैं. उनके पास स्विंग और सीम है. वह सर्जरी कराएंगे और आईपीएल के समय तक वापसी करेंगे.' उन्होंने कहा, 'अच्छी बात यह है कि भुवनेश्वर ने टीम प्रबंधन को जल्दी बता दिया कि उन्हें परेशानी हो रही है और नितिन तथा सपोर्ट स्टाफ ने भी उस पर तुरंत प्रतिक्रिया दी. हमने प्रोटोकॉल का पालन किया था और उन्हें तभी टीम में लाया गया था जब उन्हें फिट घोषित कर दिया गया था.'

First Published : 14 Dec 2019, 07:33:22 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.