News Nation Logo
Banner

शाहिद अफरीदी ने स्पॉट फिक्सिंग को लेकर किया एक और खुलासा, BCCI ने उठाए सवाल

शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) ने अपनी आत्मकथा में कहा है कि साल 2010 में हुए स्पॉट फिक्सिंग कांड से पहले उन्होंने अपने टीम साथी सलमान बट्ट, मोहम्मद आमिर और मोहम्मद आसिफ की गलत कामों से टीम प्रबंधन को अवगत कराया था.

News Nation Bureau | Edited By : Vineet Kumar1 | Updated on: 05 May 2019, 06:01:29 PM
अफरीदी ने स्पॉट फिक्सिंग को लेकर किया एक और खुलासा, BCCI ने उठाए सवाल

नई दिल्ली:

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई (BCCI)) के कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी ने 2010 में हुए स्पॉट फिक्सिंग (Spot Fixing) के बारे में पता होने के बावजूद आईसीसी (ICC) की भ्रष्टाचार रोधी इकाई (एसीयू) को इसकी सूचना नहीं देने को लेकर पाकिस्तान (Pakistan) के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) को आड़े हाथों लिया है. पाकिस्तान (Pakistan) के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) अपनी आत्मकथा 'गेम चेंजर (Game Changer)' में हर रोज एक नए खुलासे कर रहे हैं. शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) ने अपनी आत्मकथा में कहा है कि साल 2010 में हुए स्पॉट फिक्सिंग (Spot Fixing) कांड से पहले उन्होंने अपने टीम साथी सलमान बट्ट, मोहम्मद आमिर और मोहम्मद आसिफ की गलत कामों से टीम प्रबंधन को अवगत कराया था. 

चौधरी ने ट्विटर पर लिखा, 'वास्तव में, जब उन्हें इस बारे में एक बार पता चल गया तो उन्हें तुरंत आईसीसी (ICC) की भ्रष्टचार रोधी ईकाई को इसकी सूचना देनी चाहिए थी. एसीयू कैसे उनकी इस सूचना से निपटते, यह देखना बड़ा दिलचस्प होता.'

और पढ़ें: आईपीएल के बाद शुरू होगी यह लीग, इतने में बिके सचिन के बेटे अर्जुन तेंदुलकर

आईसीसी (ICC) की नियम के अनुसार, 'प्रतिभागियों को बिना किसी देरी के सभी संपर्को, भ्रष्टाचार से संबंधित सूचनाएं, भ्रष्टाचार में शामिल होने के लिए निमंत्रण देने जैसी सभी तरह की गतिविधियों की जानकारी एसीयू को देना चाहिए.'

शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) ने कहा कि उन्होंने जब इस मामले को टीम प्रबंधन के साथ उठाया तो फिर इसका हर्जाना उन्हें टेस्ट कप्तानी छोड़कर उठाना पड़ा. ईएसपीएन क्रिकइंफो ने शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) की आत्मकथा का एक अंश प्रकाशित किया है.

इसमें उनका कहना है कि वह एजेंट मजहर माजीद, जो इस इस कांड के सबसे साजिशकर्ता और खिलाड़ियों के बीच हुए संदिग्ध बातचीत से अवगत थे. उन्होंने कहा कि ये बातचीत 2010 के श्रीलंका दौरे पर एशिया कप के दौरान हुआ था.

और पढ़ें: IPL 12: आईपीएल में बैंगलोर की जबरदस्त दुर्गति होने के बाद भी खुश हैं कप्तान विराट कोहली, दिया अजीबो-गरीब बयान 

शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) ने लिखा, 'मैंने रैकेट में शामिल मूल सबूतों को पकड़ लिया था, जो फोन संदेश के रूप में स्पॉट फिक्सिंग (Spot Fixing) विवाद में शामिल खिलाड़ियों खिलाफ था. जब मैं उस सबूत को टीम प्रबंधन के पास ले गया और फिर इसके बाद आगे जो कुछ हुआ उसे देखकर पाकिस्तान (Pakistan) की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम को चलाने वालों पर ज्यादा विश्वास नहीं होता.'

शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) ने कहा, 'श्रीलंका दौरे से पहले, माजीद और उनका परिवार चैंपियनशिप के दौरान टीम में शामिल हुए थे. माजिद के बेटे ने अपने पिता के मोबाइल फोन को पानी में गिरा दिया और फिर फोन ने काम करना बंद करना दिया था.'

पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) ने आगे कहा कि उन्होंने पाकिस्तान (Pakistan) टीम के अधिकारियों को इस बारे में सतर्क करने की कोशिश की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई.

और पढ़ें: शाहिद अफरीदी के बयान पर अब गौतम गंभीर का पलटवार, कहा- मुफ्त में कराएंगे दिमाग का इलाज 

शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) ने कहा, 'जब मुझे वे संदेश श्रीलंका में मिले तो फिर मैंने उस संदेश को टीम के कोच वकार यूनुस को दिखाया. दुर्भाग्य से, उन्होंने इस मामले को आगे नहीं बढ़ाया. वकार और मैंने सोचा कि यह कुछ ऐसा है जिससे कुछ ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा.'

शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) ने कहा, 'यह कुछ ऐसा था कि जितना बुरा दिख रहा था, उतना था नहीं. यह सिर्फ खिलाड़ियों और माजीद के बीच की एक घिनौनी बातचीत थी. ये मैसेज ज्यादा हानिकारक नहीं थे लेकिन यह कुछ ऐसा था जिसे कि दुनिया बाद में पता लगा ही लेती.'

First Published : 05 May 2019, 06:01:29 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

LiveScore Live Scores & Results

वीडियो

×