News Nation Logo

मैच फिक्सिंग पर BCCI ने कहा, ऐसी चीजों पर जीरो टॉलेरेंस पॉलिसी है, जांच में ICC की मदद करेंगे

News Nation Bureau | Edited By : Saketanand Gyan | Updated on: 27 May 2018, 10:30:15 PM
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (फाइल फोटो)

highlights

  • पिछले साल भारत-श्रीलंका टेस्ट मैच के दौरान पिच से छेड़छाड़ का स्टिंग सामने आया
  • रांची में हुए भारत-ऑस्ट्रेलिया टेस्ट मैच में स्पॉट फिक्सिंग का मामला भी स्टिंग में
  • बीसीसीआई ने मैच फिक्सिंग की जांच में आईसीसी को पूरा सहयोग करने का वादा किया है

मुंबई:  

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने भारत-श्रीलंका टेस्ट मैच के दौरान मैच फिक्सिंग की रिपोर्ट पर कहा है कि वह इन मामलों में जीरो टोलेरेंस की नीति अपनाता है।

बीसीसीआई ने मैच फिक्सिंग की जांच में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को पूरा सहयोग करने का वादा किया है।

अलजजीरा टीवी ने भारत-श्रीलंका और भारत-ऑस्ट्रेलिया टेस्ट मैच के दौरान मैच फिक्सिंग को लेकर एक स्टिंग जारी किया है।

बीसीसीआई ने एक बयान में कहा, 'खेल की छवि को किसी प्रकार से धूमिल करने के प्रति बीसीसीआई की जीरो टोलरेंस पॉलिसी है। बीसीसीआई की एंटी करप्शन यूनिट आईसीसी की एंटी करप्शन यूनिट के साथ टीवी चैनल के कथित दावों पर काम कर रही है।'

अलजजीरा टीवी के दावे के अनुसार, मुंबई के एक कथित मैच फिक्सर और पूर्व प्रथम श्रेणी क्रिकेटर रॉबिन मॉरिस ने पिछले साल गाले में भारत और श्रीलंका के बीच टेस्ट मैच के दौरान पिच से छेड़छाड़ के लिए ग्राउंड्समैन को घूस देने के बात को स्वीकारा है।

इस स्टिंग ऑपरेशन पर आईसीसी के एंटी करप्शन यूनिट के जीएम एलेक्स मार्शल ने कहा, 'हमने सीमित जानकारी के आधार पर एंटी करप्शन सदस्यों के साथ मामले की जांच शुरू कर दी है।'

भारत और श्रीलंका के बीच पिछले साल 26-29 जुलाई के बीच गाले इंटरनेशनल स्टेडियम में हुए पहले टेस्ट मैच सवालों के घेरे में आ गया है।

स्टिंग के दावे के मुताबिक, 'गाले स्टेडियम के असिस्टेंट मैनेजर और ग्राउंड्समैन थरंगा इंडिका ने कहा कि वह बैट्समैन या बॉलर के मुताबिक पिच को तैयार कर सकता है। अगर आप स्पिन बॉलिंग, पेस बॉलिंग या बैटिंग के लिए पिच चाहते हैं तो यह तैयार किया जा सकता है।'

इसके अलावा एक और स्टिंग ऑपरेशन में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मार्च 2017 में रांची में खेले गए टेस्ट मैच में स्पॉट फिक्सिंग का दावा किया किया है।

इसमें स्टिंग के मुताबिक, एक ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ने एक तय समय तक धीमी गति से बल्लेबाजी कर मैच फिक्सिंग की थी जिसे भारत में कानून अपराध माना जाता है।

स्टिंग में भारत का रहने वाला अनील मुव्वर दो बल्लेबाजों का नाम ले रहा है। दोनों खिलाड़ियों के नाम को हालांकि वीडियो में काटा गया है। चैनल ने कहा है कि जिन दो खिलाड़ियों के नाम इसमें आए हैं उन्होंने जबाव देने से मना कर दिया है।

टीवी चैनल ने कहा है कि मुनव्वर ने उस टेस्ट में जिस रनगति से रन बनने की बात कही थी वो सही साबित हुई है। चैनल के मुताबिक बल्लेबाज से धीमी रन गति से रन बनाने के कहा गया था।

और पढ़ें: चैम्पियंस लीग: रियल मेड्रिड ने खिताबी हैट्रिक लगाई, फाइनल में लिवरपूल को हराया

First Published : 27 May 2018, 09:07:00 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.