News Nation Logo

BCCI ने जारी की SOP, खिलाड़ियों को इन बातों का करना होगा पालन, साइन भी जरूरी

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने क्रिकेट की बहाली के लिए राज्य संघों के लिए रविवार को कोरोनावायरस के कारण लागू की जाने वाली मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी किया.

IANS | Updated on: 03 Aug 2020, 07:50:09 AM
bcci

bcci (Photo Credit: gettyimages)

New Delhi:

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) (BCCI) ने क्रिकेट की बहाली के लिए राज्य संघों के लिए रविवार को कोरोनावायरस (CoronaVirus) के कारण लागू की जाने वाली मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) (SOP) जारी किया. ऐसे में जबकि ये एसओपी राज्य क्रिकेट संघों को क्रिकेट गतिविधियों को फिर से शुरू करने में मदद करेगा, लेकिन ट्रेनिंग शुरू करने से पहले खिलाड़ियों को सहमति फॉर्म पर हस्ताक्षर करना होगा. बीसीसीआई (BCCI) की ओर से जारी 100 पन्नों की एसओपी में बीसीसीआई ने ट्रेनिंग के लिए लौटते समय कई नियमों को जारी किया है, महामारी को देखते हुए अभ्यास सुविधाओं की तैयारी, जिम प्रोटोकॉल, फिजियोथेरेपी और चिकित्सा प्रोटोकॉल के साथ-साथ प्रोटोकॉल पर नजर रखने के साथ प्रशिक्षण को लेकर भी एसओपी जारी किया है.

यह भी पढ़ें ः IPL 2020 : आईपीएल टीमें कब रवाना होंगी UAE, BCCI ने जारी किए सख्‍त निर्देश

इसमें सहमति फॉर्म भी है, जहां खिलाड़ियों को पता होना चाहिए कि फिर से प्रशिक्षण शुरू करने से जुड़ा जोखिम है और खिलाड़ी को जगह-जगह प्रोटोकॉल और एसोसिएशन द्वारा बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में बताया गया है. खिलाड़ी को यह भी मानना होगा कि एसोसिएशन आवश्यक सावधानी बरतने के बावजूद जोखिम के पूर्ण उन्मूलन की गारंटी नहीं दे सकता है और प्रशिक्षण को फिर से शुरू करने की इच्छा खिलाड़ियों पर निर्भर है. कोरोनोवायरस महामारी के संबंध में स्थिति पर पूरी तरह से नजर रखने के साथ, बीसीसीआई ने क्रिकेट को फिर से शुरू करने के संबंध में राज्य संघों के साथ अपने विचार साझा किए हैं.

यह भी पढ़ें ः IPL 2020 Update : चीनी कंपनी VIVO के साथ ही रहेगी BCCI, पहली बार इस काम के लिए मिली पूरी छूट

बीसीसीआई की ओर से जारी एसओपी के अनुसार, भारत में क्रिकेट खेल के लिए शासी निकाय के रूप में बीसीसीआई यह सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार है कि खिलाड़ियों, स्टाफ और सभी हितधारकों की स्वास्थ्य और सुरक्षा की रक्षा के लिए उपयुक्त प्रोटोकॉल रखे जाएं. कोविड-19, एक संक्रामक रोग है, जो मुख्य रूप से फेफड़ों को प्रभावित करता है, व्यक्तियों के स्वास्थ्य के लिए एक गंभीर खतरा पैदा करता है, जो 17.5 मिलियन से अधिक संक्रमणों और एक अगस्त 2020 तक 0.6 मिलियन से अधिक मौतों के साथ दुनिया भर के लगभग सभी देशों में इसके प्रसार है. एसओपी के अनुसार, ऐसा कहा जाता है कि भारत में क्रिकेट एक धर्म है और इस बात का उत्साह है कि देश में क्रिकेट की कमान किसी भी अन्य खेल या आयोजन से कहीं अधिक है. इसके अलावा, यह पुरुषों और महिलाओं दोनों श्रेणी में, 38 राज्य टीमों में खिलाड़ियों और कर्मचारियों को जबरदस्त राजस्व उत्पन्न करने में मदद करता है.

यह भी पढ़ें ः IPL 2020 : पूरे 53 दिन का होगा आईपीएल, 10 नवंबर को फाइनल, पहली बार होगा ये काम

एसओपी के अनुसार, हालांकि, बीसीसीआई एसएआरएस कोव-2 की उच्च संक्रामक दर के बारे में चिंतित है और सभी खिलाड़ियों, कर्मचारियों और हितधारकों के स्वास्थ्य और सुरक्षा के हित में है. बीसीसीआई निवारक उपायों पर समझौता नहीं करना चाहेगा. बीसीसीआई ने कहा, सभी बीसीसीआई संबद्ध राज्य क्रिकेट संघ इन दिशानिर्देशों का पालन करेंगे और कोविड-19 संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए आवश्यक अतिरिक्त उपाय कर सकते हैं. किसी भी तरह क्रिकेट गतिविधि को शुरू करने से पहले स्थानीय प्रशासन और स्वास्थ्य अधिकारियों से भी अवश्य अनुमति ली जानी चाहिए. खिलाड़ियों, कर्मचारियों और हितधारकों की स्वास्थ्य और सुरक्षा संबंधित राज्य क्रिकेट संघों की जिम्मेदारी होगी.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 03 Aug 2020, 07:47:22 AM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.