ODI क्रिकेट में 2 नई गेंद के इस्तेमाल पर मिचेल स्टार्क ने खड़े किए सवाल, सचिन 5 साल पहले उठा चुके हैं ये मुद्दा

Two Balls In ODI Cricket : मिचेल स्टार्क ने वनडे की एक पारी में 2 गेंदों के इस्तेमाल पर सवाल खड़े किए हैं. इससे पहले महान सचिन तेंदुलकर ने 5 साल पहले ये मुद्दा उठा चुके हैं.

Sports Desk | Edited By : Roshni Singh | Updated on: 13 Nov 2023, 07:12:51 PM
Mitchell Starc

ODI क्रिकेट में 2 नई गेंद के इस्तेमाल पर मिचेल स्टार्क ने उठाए सवाल (Photo Credit: Social Media)

नई दिल्ली:  

Mitchell Starc On Two Balls In ODI Cricket : वनडे क्रिकेट में दो नई गेंदों का इस्तेमाल होना एक बार फिर सुर्खियों में आ गया है. लंबे वक्त से दोनों पारी में नई गेंदों का इस्तेमाल होता है. बता दें कि आईसीसी ने इस नियम की शुरुआत अक्टूबर, 2011 में की थी. वहीं अब इस दो गेंद के इस्तेमाल पर ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क ने इसपर सवाल खड़े किए हैं. बता दें कि इससे 5 साल पहले सचिन तेंदुलकर दो गेंद को लेकर सवाल उठा चुके हैं. 

क्रिकबज के मुताबिक मिचेल स्टार्क ने कहा, 'मुझे लगता है कि दो नहीं बल्कि सिर्फ एक गेंद होनी चाहिए. गेंद ज्यादा लंबे वक्त तक हार्ड रहती है. जैसा कि यहां हमने देखा है कि ग्राउंड छोटे हैं और विकेट फ्लैट हैं. अगर वर्ल्ड क्रिकेट के विकेट में सबसे ज्यादा किसा चीज को पसंद किया गया है और मुझे लगता है कि अगर आप उस पुराने फुटेज को देखें तो वो एक गेंद से बॉलिंग करते थे, तो उसमें रिवर्स स्विंग बहुत ज्यादा दिखाई देती है.'

हालांकि स्टार्क ने अपने करियर में सिर्फ दो ही ऐसे वनडे मैच खेले हैं जब दोनों पारी में एक ही गेंद का इस्तेमाल होता था. स्टार्क ने वनडे डेब्यू अक्टूबर, 2010 में किया था. इसके बाद यह नियम 2011 में अक्टूबर में लागू किया गया था. स्टार्क ऑस्ट्रेलिया के लिए अबतक 119 वनडे खेल लिए हैं, जिसमें 117 वनडे मैच उन्होंने दो नई गेंदों के साथ खेला है. 

यह भी पढ़ें: भारत बनाम न्यूजीलैंड सेमीफाइनल मैच में होंगे ये अंपायर, नाम देखकर खुश हो जाएंगे आप...

स्टार्क ने आगे कहा, 'भले इसमें बदलाव हो या न हो या शायद जब मैं सन्यास ले लूं, तब हो लेकिन हां, रिवर्स स्विंग तलाशने में ज्यादा वक्त लगता है. ऐसा नहीं है कि रिवर्स स्विंग पूरी तरह खत्म हो गई है. कुछ मैदान हैं जो रिवर्स स्विंग में मदद करते हैं. मुझे लगता है कि पारी की शुरुआत में दो गेंदों की वजह से गेंद स्विंग नहीं होती है. शुरुआत में स्विंग होती है और जब तक परिस्थिति अनुकूल न हो. बहुत ज्यादा देर के लिए स्विंग नहीं होती है. अगर कुछ भी हो तो वो आखीर में बल्लेबाजों के लिए अच्छा रहता है.'

यह भी पढ़ें: Pakistan Team : पाकिस्तान टीम में शुरू हुआ बवाल, इस दिग्गज ने दे दिया इस्तीफा

स्टार्क ने आगे कहा, 'इसलिए एक गेंद के साथ रिवर्स का चांस ज्यादा होता है. हमने टूर्नामेंट के दौरान कई मैदानों पर ओस देखी, जो रिवर्स स्विंग को मुश्किल करती है. लेकिन मेरे विचार में, वनडे क्रिकेट में एक गेंद होनी चाहिए.'

2 नई गेंद को लेकर सचिन तेंदुलकर का पुराना ट्वीट

First Published : 13 Nov 2023, 07:05:59 PM