News Nation Logo

तिरुपति उपचुनाव Krishna Vs Christ, आंध्र हिंदुत्व की नई प्रयोगशाला

भारतीय जनता पार्टी आंध्र प्रदेश में भी श्रीराम का मुद्दा उछाल सूबे को हिंदुत्व की नई प्रयोगशाला बतौर ले रही है. वहां तिरुपति सीट पर उपचनाव होने हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 08 Jan 2021, 12:53:22 PM
Tirupati

बीजेपी तिरुपित उपचुनाव को लेगी हिंदुत्व के लिटमस टेस्ट बतौर. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

हैदराबाद में नगर निगम चुनाव जीतने और बंगाल में सॉफ्ट हिंदुत्व कार्ड चलकर राजनीतिक बिसात पर आक्रामक बनकर उभरी भारतीय जनता पार्टी आंध्र प्रदेश में भी श्रीराम का मुद्दा उछाल सूबे को हिंदुत्व की नई प्रयोगशाला बतौर ले रही है. वहां तिरुपति सीट पर उपचनाव होने हैं. इस बीच राज्य के अलग-अलग शहरों में प्राचीन और नए मंदिरों को खंडित किया गया है. इसे मुद्दा बनाकर बीजेपी राजनीतिक बिसात पर अपने मोहरे आगे बढ़ा रही है. बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव और आंध्र प्रदेश के प्रभारी सुनील देवधर तो तिरुपति लोकसभा सीट पर उपचुनाव को सीधे-सीधे कृष्ण बनाम क्राइस्ट का नारा दे चुके हैं. 

'टीडीपी और नाईएसआरसीपी हिंदू विरोधी पार्टी'
सुनील देवधर ने हाल ही में आंध्र प्रदेश में 400 साल पुरानी भगवान राम की मूर्ति खंडित करने की घटना के बाद राज्य सरकार पर तीखा हमला बोला. उन्होंने कहा कि आंध्र प्रदेश में लगातार जिस तरह हिंदू मंदिरों पर हमले हो रहे हैं, उससे 16वीं शताब्दी के क्रूर सेंट जेवियर की याद ताजा हो आई है जिसने गोवा में मंदिर ध्वस्त किए और जबरन धर्मांतरण कराया. इससे पहले देवधर ने राज्य प्रायोजित धर्मांतरण की कोशिश का आरोप लगाया था. उल्लेखनीय यह है कि टीडीपी और वाईएसआरसीपी दोनों हिंदू विरोधी पार्टी हैं.

'भ्रष्टाचार-माफियाराज...बीजेपी उठा रही सभी मुद्दे 
इस सवाल पर सुनील देवधर ने कहा कि हम सभी मसले उठा रहे हैं. हम लगातार राज्य की आर्थिक बदहाली, भ्रष्टाचार, माफियाराज का मुद्दा उठा रहे हैं. राज्य के पास इनकम का कोई साधन नहीं है, भ्रष्टाचार, माफियाओं और अव्यवस्था की वजह से इंडस्ट्री भाग रही हैं. उस पर सीएम जगन तुष्टिकरण के लिए तोहफे बांट रहे हैं. सड़कों की हालत खस्ता है, शेषाचलम पहाड़ी जो दुनिया की इकलौती जगह है जहां रक्त चंदन मिलता है, वहां माफिया संपदा लूट रहे हैं, स्मगलिंग हो रही है. इसी तरह मंदिरों पर हमले हो रहे हैं तो हम यह मुद्दे क्यों ना उठाएं.

बीजेपी ने किया है जनसेना से गठबंधन
बीजेपी नेता खुलेआम कह रहे हैं कि हिंदुत्व बीजेपी की आत्मा है. विकास और हिंदुत्व एक ही सिक्के के दो पहलू हैं. तुष्टिकरण की राजनीति के लिए बहुसंख्यकों की भावनाओं को चोट पहुंचाने की सोची समझी साजिश हो रही है. सुनीव देवधर साफ कर चुके हैं कि बीजेपी तिरुपति का लोकसभा उपचुनाव भी इसी मुद्दे् पर लड़ेंगी. यह चुनाव क्राइस्ट बनाम कृष्ण का होगा. राज्य के माध्यम से धर्मांतरण की साजिश को बीजेपी सफल नहीं होने देंगी सूबे में बीजेपी ने जनसेना से गठबंधन किया है. गौरतलब है कि तिरुपति सीट से वाईएसआरसीपी सांसद की कोरोना से मौत होने के बाद यहां उपचुनाव होने हैं.

First Published : 08 Jan 2021, 12:53:22 PM

For all the Latest Specials News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.