News Nation Logo
29 अक्टूबर से पीएम मोदी का इटली दौरा जेल में डालने वाला आज जेल में जाने से डरने लगा: नवाब मलिक जो फर्जीवाड़ा किया गया है, वो खुल खुलकर सामने आने लगा है: नवाब मलिक पंजाब में AAP की सरकार बनी, तो प्रदेश में किसी किसान को नहीं करने देंगे खुदकुशी: अरविंद केजरीवाल शाहरुख खान की 'मन्नत' पूरी, आर्यन को बेल; अब मन्नत में मनेगी दीपावली आर्यन खान समेत तीनों आरोपियों के विदेश जाने पर रोक भारत हमेशा से एक शांतिप्रिय देश रहा है और आज भी है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह हमारा देश किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह किसी भी विवाद को अपनी तरफ़ से शुरू करना हमारे मूल्यों के ख़िलाफ़ है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों को वैक्सीन की 108 करोड़ डोज़ उपलब्ध कराई गईं: स्वास्थ्य मंत्रालय कर्नाटकः कोडागू जिले के जवाहर नवोदय विद्यालय में 32 बच्चे कोरोना पॉजिटिव महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वासले हुए कोरोना पॉजिटिव कोरोना अपडेटः पिछले 24 घंटे में देश में 16,156 केस आए, 733 मरीजों की मौत हुई जम्मू-कश्मीरः डोडा में खाई में गिरी मिनी बस, 8 लोगों की मौत आर्य़न खान ड्रग्स केस में गवाह किरण गोसावी पुणे से गिरफ्तार पेट्रोल और डीजल के दामों में 35 पैसे की बढ़ोतरी कैप्टन अमरिंदर सिंह आज फिर मुलाकात करेंगे गृह मंत्री अमित शाह से क्रूज ड्रग्स मामले में आर्यन खान की जमानत पर आज फिर दोपहर में सुनवाई पीएम नरेंद्र मोदी आज आसियान-भारत शिखर वार्ता को करेंगे संबोधित दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पंजाब के दो दिवसीय दौरे पर आज जाएंगे

चीन अब Y-9 से भारत को धमका रहा, कई मायनों में अनूठा है यह विमान

हाल ही में शांगी में अत्याधुनिक ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट वाय-9 के साथ सैन्य अभ्यास किया. इस सैन्य अभ्यास से जुड़े वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं.

Written By : मनोज शर्मा | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 18 Sep 2021, 08:44:54 AM
Y 9

विपरीत परिस्थितियों में भी उड़ान भरने में है सक्षम वाय-9. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • चीन ने अत्याधुनिक वाय-9 विमान के साथ किया था सैन्य अभ्यास
  • अमेरिका के हर्कुलिस का जवाब माना जा रहा है पीएलए का विमान
  • वाय-9 को वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास तैनात करने जा रहा चीन 

नई दिल्ली:

पूर्वी लद्दाख (Ladakh) में बीते साल हिंसक झड़प के बाद भारत-चीन के रिश्तों पर जमी बर्फ कूटनीतिक और सैन्य स्तर की बातचीत से पिघलनी शुरू ही हुई है कि ड्रैगन ने फिर फुफकारना शुरू कर दिया है. लद्दाख के पास वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर वह न सिर्फ आधुनिक हाई-वे का निर्माण कर रहा है, बल्कि उसने भारत (India) को ध्यान में रखते हुए हाल ही में शांगी में अत्याधुनिक ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट वाय-9 के साथ सैन्य अभ्यास किया. इस सैन्य अभ्यास से जुड़े वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. सामरिक विशेषज्ञों के मुताबिक वाय-9 ट्रांसपोर्ट विमान वास्तव में वाय-8 का ही आधुनिक संस्करण है. बताया जा रहा है कि पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के केजे-500 अर्ली वार्निंग एयरक्राफ्ट, वाय-8 एंटी सबमेरीन एयरक्राफ्ट, वाय-8 इलेक्ट्रॉनिक एयरक्राफ्ट समेत वाय-9 भी इस सैन्य अभ्यास में शामिल हुए. गौरतलब है कि इनमें से ही कुछ लड़ाकू विमानों के जरिए बीते दिनों ड्रैगन ने ताइवान की वायुसीमा का अतिक्रमण किया था. चीन वाय-9 को एलएसी के पास ही तैनात करने जा रहा है. इस तरह वह भारतीय सीमा पर अपनी शक्ति का प्रदर्शन कर रहा है. 

वाय-9 ने सैन्य अभ्यास में ही बनाए कई रिकॉर्ड
इस सैन्य अभ्यास में वाय-9 ने शामिल होकर वैश्विक स्तर पर कई रिकॉर्ड भी कायम कर दिए हैं. इनमें सबसे महत्वपूर्ण तो यही है कि वाय-9 सबसे अधिक ऊंचाई पर टैकऑफ औऱ लैंड करने वाला ट्रांसपोर्ट के काम आने वाला लड़ाकू विमान बना. इसके साथ ही वाय-9 ने लगातार 40 घंटे की उड़ान भर 10 हजार किलोमीटर से ज्यादा का सफर तय किया. चीन का वाय-9 ट्रांसपोर्ट विमान चीन की पश्चिमी थिएटर कमांड से जुड़ा है. चीन की यह थिएटर कमांड पहली ऐसी कमांड है, जिसने 2,438 मीटर की ऊंचाई पर बने एयरपोर्ट पर कॉमर्शियल एयरक्राफ्ट उतारा है. यह विमान भी चीन की पीएलए को अपनी सेवाएं देता है. 

यह भी पढ़ेंः तालिबान-चीन-पाक की खैर नहीं, कुछ बड़ा होगा... भारत आ रहे विदेशी राजनयिक

अमेरिका के हर्कुलिस का जवाब है वाय-9
शांगी एयरक्राफ्ट कंपनी ने वाय-9 का निर्माण किया है, जो एक मध्यम रेंज का मध्यम आकार का विमान है, जो युद्ध के दौरान रणनीतिक साज-ओ-सामान भेजने के काम आता है. सामरिक विशेषज्ञ मानते हैं कि चीन ने इस विमान के जरिए अमेरिका की लॉकहीड मार्टिन कंपनी द्वारा तैयार सी-130 हर्कुलिस को जवाब दिया है. शांगी कंपनी ने 2005 में इंटरनेशनल एविएशन एक्सपो में इसका प्रदर्शन किया था. उस वक्त पीएलए में इसे शामिल नहीं किया गया था. चीन का वाय-9 विमान किसी भी मौसम में कैसी भी स्थिति में ऊंचाई पर बने एयरबेस पर उतर सकता है. इसमें वोजिय़ांग एफडब्ल्यूजे-6सू टर्बोप्रॉप इंजन लगा हुआ है, जो इसे विपरीत परिस्थितियों में भी काम करने लायक बनाता है. यह विमान एक बार में 25 टन भार अपने साथ ढो सकता है. सेना के जवानों को लाने-जाने के अलावा यह चिकित्सा सेवाएं देने में भी सक्षम है. इसके जरिए युद्ध की स्थिति में चीन 106 पैराट्रूपर्स को उतार सकता है, जबकि अमेरिकी विमान 132 पैराट्रूपर्स को ले जाने में सक्षम है. 

First Published : 18 Sep 2021, 08:40:37 AM

For all the Latest Specials News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो