News Nation Logo
Banner

बालाकोट एयरस्ट्राइक : जब पाकिस्तान में घुस भारत के फाइटर जेट ने बरसाए थे बम, सिहर उठा था 'आतंकिस्तान'

देश आज बालाकोट एयरस्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ मना जा रहा है. बालाकोट एयरस्ट्राइक का नाम सुनते ही अब भी पाकिस्तान कांप उठता है. इस एयरस्ट्राइक वाले दिन यानी 26 फरवरी का दिन भारत (India) के लिए गर्व करने वाला दिन है.

By : Dalchand Kumar | Updated on: 26 Feb 2021, 10:50:11 AM
Balakot Airstrike

...जब PAK में घुस भारत ने गिराए थे बम, सिहर उठा था 'आतंकिस्तान' (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • देश आज बालाकोट एयरस्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ
  • भारत ने लिया था पुलवामा आतंकी हमले का बदला
  • पाकिस्तान में घुसकर तबाह किए थे आतंकी ठिकाने

नई दिल्ली:

देश आज बालाकोट एयरस्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ मना जा रहा है. बालाकोट एयरस्ट्राइक का नाम सुनते ही अब भी पाकिस्तान कांप उठता है. इस एयरस्ट्राइक वाले दिन यानी 26 फरवरी का दिन भारत (India) के लिए गर्व करने वाला दिन है. पुलवामा हमले के दर्द पर 'बालाकोट एयरस्ट्राइक' के रूप में मरहम लगाई गई थी. पुलवामा के ठीक 12 दिन भारत ने हमले का जवाब पाकिस्तान को दिया था. पाकिस्तान के अंदर घुसकर भारत ने वार किया था और बालाकोट एयरस्ट्राइक के जरिए पाकिस्तानी आतंकियों को उनके अंजाम तक पहुंचाया था. एयरस्ट्राइक में भारतीय वायुसेना ने खैबर पख्तूनवा के आतंकी लॉन्चिंग पैड्स को ध्वस्त कर दिया था और पाकिस्तान समेत उन सभी देशों को भी अपने इरादे बता दिए कि जो भी भारत से टकराएगा, उसे घर में घुसकर मारेगा.

14 फरवरी 2019 को हुआ था पुलवामा हमला

14 फरवरी 2019 को एक घटना से देश हिल गया था. कायर पाकिस्तान (Pakistan) की शह पर आतंकवादियों ने 2 साल पहले फरवरी के महीने जम्मू कश्मीर के पुलवामा (Pulwama) में देश के वीर सबूतों पर हमला किया था. दरअसल 14 फरवरी 2019 को आतंकियों ने देश के सुरक्षाकर्मियों पर हमला किया था. पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी ने विस्फोटकों से लदे वाहन को सीआरपीएफ जवानों की बस से टक्कर मार दी थी. इस टक्कर के बाद जोरदार धमाका हुआ था और बस से जा रहे सीआरपीएफ के जवानों के क्षत विक्षत शरीर जमीन पर बिखर गए थे. हमले में 40 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे. कई अन्य गंभीर रूप से घायल हुए थे. 

12 दिन बाद ही भारत ने लिया बदला

पुलवामा में शहीद हुए वीर सबूतों का दर्द दिल में था और नम होते देशवासियों के चेहरे सामने थे. पुलवामा हमले का दर्द आज भी देशवासियों को है. पुलवामा के बाद कुछ बड़ा होने की आशंका तो पहले से ही थी और पाकिस्तान भी आंखें फाड़ के भारत की हर गतिविधि पर नजरें रखे था. पाकिस्तान को हमले का डर भी पहले से ही थी. 26 फरवरी 2019 को रात के करीब 3.00 बजे थे, जब भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान से बदला लेने का वक्त चुना. पुलवामा में हुए आतंकी हमले का बदला लेने के लिए भारत वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट (Balakot) में एयरस्ट्राइक की थी.

आधी रात मिराज 2000 विमान घुसे थे पाकिस्तान में

वायुसेना के 12 मिराज 2000 फाइटर जेट लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) को पार करके रात को 3 बजे पाकिस्तान की सीमा में दाखिल हुए थे और चंद मिनटों में बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों को जमींदोज कर दिया था. भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान को भनक भी नहीं लगने दी और इस कार्रवाई को पलभर में अंजाम दिया. सरकारी दावे के मुताबिक, वायुसेना के फाइटर जेट्स ने आतंकी ठिकानों पर करीब 1000 किलो के बम गिराए थे, जिसमें तकरीबन 300 आतंकी मारे गए थे. पाकिस्तान के बालाकोट में वायुसेना ने हमला किया था, इसलिए इसे 'बालाकोट एयर स्ट्राइक' के नाम से जाना गया.

बन गए थे युद्धस्तर के हालात भारत-पाकिस्तान के बीच

बालाकोट में एयरस्ट्राइक के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध जैसे हालात हो गए थे. दोनों ओर तनातनी बढ़ी हुई थी. बालाकोट एयरस्ट्राइक के अगले दिन भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाने की कोशिश की थी, लेकिन उसकी कोशिश विफल कर दी गई. पाकिस्तान ने अमेरिका से खरीदे गए एफ-16 विमानों को भेजा था. जिसका सामना मिग-21 से हुआ. भारत ने पाकिस्तानी विमानों को खदेड़ दिया, लेकिन इस दौरान भारत का मिग-21 जेट क्रैश हो गया था. प्लेन क्रैश होने की वजह से भारतीय वायुसेना के पायलट अभिनंदन वर्धमान पाकिस्तान की सीमा पर गिर गए थे, जिसे वह अपनी जीत बताने लग गया.

अभिनंदन ने ही मार गिराया था पाकिस्तानी फाइटर जेट

इस घटना के बाद भारतीय पायलट अभिनंदन वर्धमान का नाम सुर्खियों में रहा. अभिनंदन ने ही पाकिस्तान के एक एफ-16 लड़ाकू विमान को मार गिराया था. पाकिस्तानी सेना द्वारा हिरासत में लिए गए वर्धमान से काफी पूछताछ की गई थी. बिगड़ते हालात के बीच अपने जांबाज पायलट को पाकिस्तान से लाने के लिए भारत ने उस पर इतना दबाव बना दिया कि बाद में एक मार्च को पाकिस्तान ने खुद वर्धमान को भारत को सौंप दिया था.

एयर स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ पर रक्षा मंत्री ने कही ये बात

बालाकोट एयर स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भारतीय वायुसेना के साहस और परिश्रम को सलाम किया है. रक्षा मंत्री ने कहा, 'बालाकोट की सफलता ने आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई करने की भारत की दृढ़ इच्छाशक्ति को दिखाया है.' वहीं देश के गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि 2019 में  आज के दिन भारतीय वायुसेना ने पुलवामा हमले का जवाब देकर आतंकवाद के खिलाफ न्यू इंडिया की नीतियों को स्पष्ट किया था.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 26 Feb 2021, 10:50:11 AM

For all the Latest Specials News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.