News Nation Logo
Banner

अफगानिस्तान से कंट्रोल हो रहा था दिल्ली में पकड़ा गया IS आतंकी

गिरफ्तार आतंकी को इस्लामिक स्टेट द्वारा खुरासान प्रांत के कमांडरों द्वारा अफगानिस्तान से ऑपरेट किया जा रहा था और वह भारत (India) में आतंकी वारदातों की योजना बना रहा था.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 22 Aug 2020, 01:39:03 PM
ISIS Operative Afghanistan

पूछताथ के लिए लौधी कॉलोनी स्पेशल सेल ऑफिस लाया गया IS आतंकी. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) के धौलाकुआं इलाके में मुठभेड़ (Encounter) के बाद पकड़े गए इस्लामिक स्टेट आतंकी (ISIS) ने कई बड़े खुलासे किए हैं. शुरुआती जांच में पता चला है कि आतंकी को इस्लामिक स्टेट के कमांडर्स अफगानिस्तान (Afghanistan) से कंट्रोल कर रहे थे. गिरफ्तार आतंकी को इस्लामिक स्टेट द्वारा खुरासान प्रांत के कमांडरों द्वारा अफगानिस्तान से ऑपरेट किया जा रहा था और वह भारत (India) में आतंकी वारदातों की योजना बना रहा था. वह कश्मीर की आईएस संस्थाओं के संपर्क में भी था. उसे जांच के लिए अपने मूल स्थान, बलरामपुर यूपी (Uttar Pradesh) ले जाया जा रहा है.

यह भी पढ़ेंः आतंकी अबू यूसुफ के निशाने पर था दिल्ली का बड़ा नेता, कई बड़े खुलासे

अफगानिस्तान के खुरासान मॉड्यूल के संपर्क में था
पकड़े गए आतंकी ने शुरुआती पूछताछ में बताया है कि वह आईएसआईएस ऑपरेटिव इस्लामिक स्टेट के साथ खुरासान प्रांत (आईएसकेपी) के संचालकों के साथ साइबरस्पेस के जरिये भी संपर्क में था. सूत्रों के मुताबिक आतंकी भारत में बड़े हमले की फिराक में था और इंटरनेट कॉल या साइबर स्पेस के जरिए अफगानिस्तान में बैठे अपने आकाओं से बात किया करता था. उसके अन्य साथी भी भारत में अलग अलग जगहों पर हमले में उनके साथ जुड़े हुए थे. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अबू यूसुफ के दोस्त को भी जल्द ही गिरफ्तार किया जा सकता है.

यह भी पढ़ेंः पंजाब न्यूज़ भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर BSF ने 5 घुसपैठिए ढेर किए 

एक महीने में करने थे आतंकी हमले
बता दें कि दिल्ली पुलिस ने जब आतंकी को गिरफ्तार करने की कोशिश की उस वक्त वह एक बाइक पर सवार था. सूत्रों के मुताबिक, इस आतंकी के पास 15 किलो विस्फोटक था. हालांकि पुलिस का कहना है कि उसके पास से प्रेशर कुकर से बना आईईडी बरामद हुआ है, जिसके वजन की फिलहाल जानकारी नहीं मिली है. आतंकी ने बताया है कि वह जगह जगह पर रेकी कर किसी बड़े हमले की योजना तैयार कर रहा था. जानकारी के मुताबिक राम मंदिर भूमि पूजन के बाद एक महीने के भीतर आतंकी हमला करने की थी योजना थी. राम मंदिर, सीएए उपद्रव में उपद्रवियों से वसूली, संपत्तियों की कुर्की के नए क़ानून और यूपी एनकाउंटर में मारे गए अपराधियों का बदला लेने की तैयारी थी. बता दें कि यूपी सरकार आज ही विधानसभा में उपद्रवियों के ख़िलाफ़ वसूली और संपत्ति कुर्की का विधेयक लेकर आई है.

यह भी पढ़ेंः बॉलीवुड SSR Case Live : CBI की एक टीम कूपर अस्पताल पहुंची, डॉक्टरों से होगी पूछताछ

जैश के भी तीन आतंकी घुसे
गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही खुफिया इकाइयों ने दिल्ली पुलिस सहित तमाम सुरक्षा एजेंसियों को आईएसआईएस और जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों द्वारा हमले की फिराक में जुटे होने की सूचना दी थी. जैश के तीन आतंकियों के तो पाकिस्तान से देश में प्रवेश करने की जानकारी भी दी थी. खुफिया इनपुट में यहां तक कहा गया था कि ये दिल्ली में बड़े आतंकी हमले की वारदात को अंजाम देने की फिराक में हैं. इनके निशाने पर राजधानी दिल्ली के वीआईपी, राजधानी के भीड़भाड़ वाले बाजार और ऐसे महत्वपूर्ण स्थल, जहां ज्यादातर समय भीड़ जुटी रहती है. खुफिया सूचना के मुताबिक ये तीनों आतंकी जम्मू कश्मीर के सियालकोट सेक्टर के रास्ते से भारत में घुसे हैं. इनका प्लान त्योहारी सीजन में दिल्ली में बड़े आतंकी हमले को अंजाम देना है.

यह भी पढ़ेंः बॉलीवुड नया खुलासा- पोस्टमॉर्टम के बाद सुशांत के सीने पर हाथ रखकर रिया बोलीं 'सॉरी बाबू'

जैश प्रमुख के करीबी आतंकियों से लिंक
खुफिया इनपुट में भारत में घुसे जैश-ए-मोहम्मद के इन तीन आतंकियों के नाम गुलजान, जुमान खान और शकील अहमद बताए गए हैं. ये तीनों ही जैश के प्रमुख मुफ्ती अब्दुल रऊफ असगर के बेहद करीबी बताए जा रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तानी खुफिया इकाई आईएसआई के इशारे पर जैश-ए-मोहम्मद भारत में बड़े आतंकी हमले का प्लान बना रहा है. भारत के अंदर घुसपैठ करने वाले इन आतंकियों के पास अफगानिस्तान से जुड़े पहचान के दस्तावेज हो सकते हैं. बताया जा रहा है कि ये बस, कार और टैक्सी से जम्मू-कश्मीर होते हुए दिल्ली में घुस सकते हैं. आतंकियों के घुसपैठ करने के अलर्ट के बाद दिल्ली में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है.

First Published : 22 Aug 2020, 01:39:03 PM

For all the Latest Specials News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो